News Nation Logo
Banner

उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी का जदयू में विलय, हुआ औपचारिक ऐलान

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) का नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल युनाइटेड में विलय हो गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 14 Mar 2021, 01:59:49 PM
Upendra Kushwaha

उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी का जदयू में विलय, हुआ औपचारिक ऐलान (Photo Credit: ANI)

highlights

  • बिहार में RLSP का जदयू में विलय
  • उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी थी RLSP
  • आज विलय का औपचारिक ऐलान 

पटना:

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) की पार्टी राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) का नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल युनाइटेड (JDU) में विलय हो गया है. जिसका आज औपचारिक ऐलान भी कर दिया गया है. उपेंद्र कुशवाहा ने अपनी रालोसपा (RLSP) का जदयू में विलय करने की घोषणा की है. आपको बता दें कि 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में दोनों दल अलग-अलग गठबंधनों के साथ चुनाव मैदान में उतरे थे. लेकिन नई सरकार के गठन के कुछ महीने के बाद अब यह दल एक हो गए हैं. इसी के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) का कुनबा भी और मजबूत हो गया है.

यह भी पढ़ें : इस राज्य में शराब के साथ जब्त गाड़ियों पर सवार होकर पुलिस तस्करों को पकड़ेगी

आरएलएसपी के जदयू में विलय के बाद उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि आज देश और राज्य की परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए धर्मनिरपेक्षता का माहौल बनाये रखने के लिए, जो समाज के पिछड़े लोग हैं उन्हें उनका अधिकार दिलाने के लिए हम लोगों ने निर्णय लिया है. उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में रालोसपा बिहार में काम करेगा. हम लोग जदयू के साथ मिलकर काम करेंगे.

उपेंद्र कुशवाहा ने आगे कहा कि हम लोग दोनों दल के लोग मिलकर बैठेंगे और आगे की रणनीति बनाएंगे. उन्होंने कहा कि बिहार के तमाम लोग, जिन्होंने हमारा साथ दिया है उनका आभार प्रकट करता हूं. सभी से आग्रह है कि साथ मिलकर यहां से इस नए मुहिम में आगे चलें. कुशवाहा ने कहा कि बिहार की जनता ने जो जनादेश दिया, उसमें हम लोगों को साथ में चलने का आदेश है.

यह भी पढ़ें : बिहार में शराब पर सड़क से सदन तक हंगामा, तेजस्वी का सरकार पर बड़ा आरोप 

हालांकि माना जा रहा है कि यह विलय राज्य में अपने वोट बैंक को मजबूत करने के लिए जदयू की योजनाओं का हिस्सा है. फिलहाल बिहार में जदयू के पास केवल 43 विधायक हैं और एनडीए सरकार में जूनियर पार्टनर है. 74 विधायकों के साथ भारतीय जनता पार्टी 2020 के विधानसभा चुनावों में बड़े भाई के रूप में उभरी थी. तो उधर, बिहार चुनावों में आरएलएसपी ने एक अलग गठबंधन के हिस्से के रूप में चुनाव लड़ा था, जिसमें असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन) और मायावती की बहुजन समाज पार्टी शामिल थी. उपेंद्रु कुशवाहा ने खुद को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया, मगर रालोसपा एक भी सीट जीत नहीं पाई.

First Published : 14 Mar 2021, 01:34:18 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.