News Nation Logo

इस बार बारिश में पटना को डूबने से बचाने नालों की उड़ाही का काम तेज, CM ने अधिकारियों को दिए यह निर्देश

बिहार में कुछ ही दिनों में मानसून पहुंचने की खबर के बीच बरसात में राजधानी पटना को इस बार डूबने से बचाने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 14 Jun 2020, 08:25:36 AM
rain

इस बार बारिश में पटना को डूबने से बचाने नालों की उड़ाही का काम तेज (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:

बिहार (Bihar) में कुछ ही दिनों में मानसून पहुंचने की खबर के बीच बरसात में राजधानी पटना को इस बार डूबने से बचाने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है. बैठकों का दौर भी जा रही है. शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई, जिसमें मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि वे बाढ़ की चुनौती से निपटने के लिए भी तैयार रहें और इस बीच कोविड-19 (Covid-19) को फैलने से रेाकने के लिए किए जा रहे उपायों पर भी ध्यान दें. नीतीश ने अधिकारियों ने कहा कि वे बाढ़ के कारण विस्थापित होने वाले लोगों के लिए ऐसी व्यवस्था करें कि उन्हें ऐसे शिविरों में भेजा जा सके जहां भौतिक दूरी के नियमों के साथ किसी तरह का समझौता नहीं करना पड़े.

यह भी पढ़ें: भाजपा के रहते कोई ताकत आरक्षण नहीं छीन सकती, सुशील मोदी ने दिया बड़ा बयान

उधर, बरसात में पटना के जलजमाव को रोकने के लिए पटना नगर निगम भी लगातार प्रयासरत हैं. इसको लेकर मुख्य सचिव तक लगातार समीक्षा कर रहे हैं और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे हैं. हाल के दिनों में अधिकारियों ने आश्वस्त भी किया है कि काफी हद तक जलनिकासी की व्यवस्था कर ली गई है और जहां नहीं की जा सकी है, वहां अभी काम जारी है. शहरी आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड (बुडको) और पटना नगर निगम लगातार जलजमाव की समस्या को कम करने के लिए काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: नेपाली सेना ने हिरासत में लिए भारतीय को रिहा किया, देश लौटे लगन यादव ने लगाए गंभीर आरोप

बता दें कि पिछले वर्ष बारिश के मौसम में राजधानी पटना के कई इलाके 20 से ज्यादा दिनों तक पानी में डूबे रहे थे और लोग घरों में कैद रहे थे. नगर विकास एवं आवास विभग के एक अधिकारी बताते हैं कि शहर के अधिकांश नालों की उड़ाही की जा रही है तथा सप हाउसों को दुरुस्त कर दिया गया है और अतिक्रमण भी हटाया जा रहा है. बड़े नालों की दोबारा उड़ाही की जा रही है. कई जगहों पर गाद या अतिक्रमण की समस्या के कारण बड़े नालों की दोबारा उड़ाही की जा रही है. शहर के सभी बड़े 39 पंप हाउसों के मरम्मत कार्य को पूरा कर लिया गया है.

यह भी पढ़ें: बिहार चुनाव पर कोविड-19 की काली छाया के बीच सोशल मीडिया को अपने हक में भुनाने का प्रयास करेगी JDU

उल्लेखनीय है कि मुख्य सचिव दीपक कुमार ने शुक्रवार को शहर में जलनिकासी की तैयारियों को लेकर नगर विकास एवं आवास विभाग के साथ समीक्षा बैठक की थी और अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि इस बार पटना में जलजमाव की स्थिति नहीं हो, इसे सुनिश्चित किया जाए. बैठक में कहा गया है कि जहां भी नाले का संपर्क नहीं है या संपर्क में दिक्कत हो रही है, वहां कच्चे नाले बनवाने का काम 10 दिनों के अंदर पूरा कर लिया जाए. 

यह वीडियो देखें: 

First Published : 14 Jun 2020, 08:18:35 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो