News Nation Logo
Banner

पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का चुनाव लड़ने का फैसला अभी बाकी

बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का कहना है कि उनके द्वारा अभी राज्य विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला करना बाकी है और उन्होंने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत का कोई फायदा नहीं उठाया है.

IANS | Updated on: 24 Sep 2020, 11:28:21 AM
Gupteshwar Pandey

पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का चुनाव लड़ने का फैसला अभी बाकी (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:

बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का कहना है कि उनके द्वारा अभी राज्य विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला करना बाकी है और उन्होंने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत का कोई फायदा नहीं उठाया है. बता दें कि पांडेय ने फरवरी 2021 में समाप्त होने वाले उनके कार्यकाल से पांच महीने पहले मंगलवार को सरकारी सेवा से वीआरएस ले लिया था. तब से चर्चा है कि वह जेडीयू से विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं.

यह भी पढ़ें: सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा सीट पर RJD की 2019 के उपचुनाव में हुई थी वापसी, जानें किसके पास थी सीट

पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा, 'मैंने व्यक्तिगत क्षमता पर वीआरएस लिया है और मैं अपने गृह जिले बक्सर सहित राज्य भर से आने वाले लोगों से मिल रहा हूं. मैं सालों से कम्युनिटी पुलिसिंग के माध्यम से उनसे जुड़ा हूं. वे मुझसे चुनाव लड़ने के लिए कह रहे हैं, लेकिन मैंने चुनाव लड़ने या किसी भी राजनीतिक दल में शामिल होने का अब तक कोई निर्णय नहीं लिया है.'

पांडेय ने कहा, 'मैं चतरा जिले (अब झारखंड में) में पुलिस अधीक्षक (एसपी) के रूप में अपनी पहली पोस्टिंग के बाद से कम्यूनिटी पुलिसिंग से जुड़ा हुआ हूं. मैं बिहार और झारखंड में 50 से अधिक मुठभेड़ों में शामिल था. उन मुठभेड़ों के बाद कम्यूनिटी पुलिसिंग का अनुसरण कर बेगुसराय में 1993 और 1994 में अपराध दर न्यूनतम स्तर पर था.'

यह भी पढ़ें: भारत ने किया देश में विकसित Prithvi मिसाइल का सफल परीक्षण

शिवसेना के आरोपों पर उन्होंने कहा, 'सुशांत की रहस्यमय मौत के मामले में पटना में एफआईआर दर्ज करना गैरकानूनी नहीं था. यह सुप्रीम कोर्ट (एससी) में सिद्ध हो चुका है. मैंने सुशांत मामले में सीबीआई से सिफारिश की है, जो मेरी तरफ से आखिरी प्रयास था. मैंने ऐसा सिर्फ इसलिए किया, क्योंकि उनके बूढ़े और लाचार पिता पटना में रहते हैं और वह मुंबई पुलिस की जांच से संतुष्ट नहीं थे.'

उन्होंने आगे कहा, 'मैंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप लगाने के बाद रिया चक्रवर्ती पर टिप्पणी की थी. मैंने ध्यान दिलाया कि वह सुशांत मामले में कथित आपराधिक आरोपों का सामना कर रही हैं. जो पहले से ही आपराधिक आरोपों का सामना कर रहा है, उसे संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति को दोष नहीं देना चाहिए.'

First Published : 24 Sep 2020, 11:13:50 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो