News Nation Logo

बिहार चुनाव में ताल ठोकेंगे बाहुबली रीतालाल यादव, जेल से छूटते ही किया ये ऐलान

रीतलाल यादव 4 सितंबर 2010 को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. जिसके बाद से रीतलाल यादव बेऊर जेल में बंद थे. वह बीच में 15 दिनों के लिए बेटी की शादी में शामिल होने के लिए हाईकोर्ट ने पेरोल पर छोड़ा था.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 30 Aug 2020, 09:09:49 AM
RITALAL YADAV

रीतालाल यादव (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:

बिहार में चुनावी सुबगुहाट के बीच नेताओं ने अपनी दावेदारी तेज कर दी है. करीब 10 साल तक जेल में रहने के बाद एमएलसी रीतलाल यादव शनिवार को बेऊर जेल से जमानत पर छूटे. जेल से बाहर आते ही अपराधिक पृष्ठभूमि वाले रीतलाल यादव ने बिहार विधानसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर कर दी. उन्होंने कहा कि वह दानापुर विधानसभा क्षेत्र से बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे. दरअसल, पटना हाईकोर्ट ने पिछले दिनों ईडी के चल रहे मनी लांड्रिंग मामले में तय सजा अधिक दिनों तक न्यायिक हिरासत के तहत जेल में रहने पर आरोपित रीतलाल यादव को जमानत पर रिहा किया है. पटना के एमपीएमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश सत्येन्द्र पाडेय ने जेल में बंद रीतलाल यादव को जमानत पर छोड़ने का आदेश जारी किया.

यह भी पढ़ें : कांग्रेस आलाकमान के खिलाफ कपिल सिब्बल के तेवर तीखे, उठाए सवाल

मनी लांड्रिंग का केस में थे अंदर
एमएलसी रीतलाल यादव 10 साल से लगातार जेल गोदावरी खंड में बंद थे. रीतालाल पर कई गंभीर आपराधिक मामले कोर्ट में चल रहे हैं. साथ ही कई मामले में अभियोजन पक्ष आरोप साबित नहीं कर सका. कोर्ट में लंबित कई आपराधिक मामलों में वह जमानत पर हैं. ईडी ने साल 2012 में रीतलाल यादव पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया था. यह एमपीएमएल के विशेष कोर्ट में लंबित चल रहा है. कोरोना संक्रमण के चलते कोर्ट में न्यायिक कार्य पिछले 5 महीने से बंद है, जिससे केस की सुनवाई बंद है. इस मामले में तय सजा सात साल से अधिक दिनों से आरोपित रीतलाल यादव न्यायिक हिरासत में थे.

यह भी पढ़ें : Unlock-4 : स्कूल जा सकेंगे क्लास 9-12 के छात्र, हालांकि पैरेंट्स राजी नहीं

2010 से जेल में थे रीतलाल यादव

रीतलाल यादव 4 सितंबर 2010 को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. जिसके बाद से रीतलाल यादव बेऊर जेल में बंद थे. वह बीच में 15 दिनों के लिए बेटी की शादी में शामिल होने के लिए हाईकोर्ट ने पेरोल पर छोड़ा था. बेटी की शादी हो जाने के बाद 10 फरवरी को रीतलाल यादव ने कोर्ट में सरेंडर किया था. रीतलाल यादव पर बीजेपी नेता सत्यनारायण सिन्हा हत्याकांड में भी आरोपी हैं. रीतलाल यादव जेल से दानापुर विधानसभा का चुनाव भी लड़े थे. बाद में वह आरजेडी (RJD) के एमएलसी बने.

यह भी पढ़ें : बिहार में अगले 6 महीनों के अंदर लगेंगे 50 और एयरफाइबर एंटिना : रविशंकर

रिहाई के बाद की हनुमान मंदिर में पूजा
आरजेडी के एमएलसी रीतलाल यादव के वक्त रिहाई के वक्त कई गाड़ियों लेकर उनके साथ समर्थक आये थे. जेल से बाहर आकर सबसे पहले रीतलाल यादव राजवंशी नगर स्थित हनुमान मंदिर पहुंचे, फिर पूजा-अर्चना करने के बाद खगौल के कोथावां स्थित घर पहुंचे. जहां अपने परिवार से मुलाकात की.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 30 Aug 2020, 09:09:49 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.