News Nation Logo
Banner

CM नीतीश कुमार बोले- फोन टैपिंग मामले की जांच हो, क्योंकि...

जनता दरबार में सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने सोमवार को अलग-अलग विषय पर प्रतिक्रिया दी. मुख्यमंत्री ने कहा कि फोन टैपिंग मामले (telephone tapping case) की जांच होनी चाहिए. संसद के अंदर क्या हो रहा है ये तो जानकारी नहीं है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 02 Aug 2021, 05:00:29 PM
cm nitish kumar

सीएम नीतीश कुमार (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

जनता दरबार में सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने सोमवार को अलग-अलग विषय पर प्रतिक्रिया दी. मुख्यमंत्री ने कहा कि फोन टैपिंग मामले (telephone tapping case) की जांच होनी चाहिए. संसद के अंदर क्या हो रहा है ये तो जानकारी नहीं है, सरकार ने जवाब दिया तो है. पूरे मामले को देख लेना चाहिए. सीएम नीतीश ने पीएम मेटेरियल वाले सवाल को टाल दिया. उन्होंने कहा कि मेरे विषय में ये सब कहने की जरूरत नहीं है, मुझे कोई अपेक्षा या आकांक्षा नहीं है. ओम प्रकाश चौटाला से मुलाकात पर नीतीश कुमार ने कहा कि कोई राजनीतिक मुलाकात नहीं है, पुराना निजी संबंध रहा है. हमलोग समाजवादी विचारधारा के लोग हैं. जातीय जनगणना पर हमलोग आज ही खत लिखेंगे.

यह भी पढ़ें : अमेरिका के खिलाफ कुछ ऐतिहासिक करने का मौका : गैसोल

उन्होंने आगे कहा कि सभी दलों से बात चल रही है. बीजेपी को भी खबर किया गया है. सभी लोग मिलकर जाएं तो अच्छा है. जातीय जनगणना सभी के हित में है, किसी जाति को खराब नहीं लगेगा. प्रधानमंत्री से मिलकर हमलोग बात रखेंगे, लेकिन निर्णय तो केंद्र सरकार को लेना है.

यह भी पढ़ें : कोविड के बाद देश को नोरोवायरस से खतरा, स्कूलों के खुलने से बढ़ सकते हैं मामले

PM-मैटेरियल की बात पर नीतीश कुमार बयान, इसमें मेरी दिलचस्पी नहीं

आपको बता दें कि जनता दल यूनाइटेड यानी जेडीयू के राष्ट्रीय संगठन में हुए फेरबदल के बाद पार्टी में मतभेद और नाराजगी की चर्चाओं पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ( Bihar CM Nitish Kumar ) ने रविवार को विराम लगा दिया. जेडीयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद बिहार लौटे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सफाई देते हुए कहा था कि पार्टी में कोई मतभेद नहीं है. सर्वसम्मति से ललन सिंह को पार्टी का अध्यक्ष बनाया गया है. सीएम नीतीश कुमार ने यभी कहा कि उपेंद्र कुशवाहा की भी कोई नाराज़गी नहीं है. आपको बता दें कि उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार को पीएम मेटेरियल कहा था जिसे नीतीश कुमार ने नकार दिया,कहा इन सब में मेरी दिलचस्पी नहीं है.

हालांकि इस दौरान नीतीश कुमार जातीय जनगणना की वकालत करना नहीं भूले. उन्होंने क​हा कि बिहार विधानसभा में ये सर्वसम्मति से पास किया गया था और ये होना चाहिये. ये सभी की इच्छा है. विपक्ष के लोग भी मुझसे दो दिन पहले बिहार विधानसभा में मिले थे. कल हम इस पर एक खत प्रधानमंत्री को लिखेंगे, उनसे वक़्त मांगेंगे.  आपको बता दें कि जनता दल यूनाइटेड यानी JDU के संगठन में बड़े उलटफेर के बाद पार्टी नेता उपेंद्र कुशवाहा ( Upendra Kushwaha ) के बयान ने बिहार की राजनीति में हलचल मचा दी है. उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार ( Nitish Kumar ) को प्रधानमंत्री पद का मैटेरियल ( PM-material ) बताया है. दरअसल, उपेंद्र रविवार को बिहार के अलग-अलग जिलों का दौरा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने एक स्थानीय वेबसाइट के साथ बातचीत में कहा कि लोगों ने आज नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi ) को पीएम बनाया और वह अच्छा काम कर रहे हैं. लेकिन देश में कुछ ऐसे भी हैं जो पीएम बनने की क्षमता रखते हैं. इनमें नीतीश कुमार हैं. उन्हें PM-material कहा जाना चाहिए हालांकि यह पीएम मोदी को चुनौती देने के बारे में नहीं है.

 

First Published : 02 Aug 2021, 04:40:56 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.