logo-image
लोकसभा चुनाव

गोलीकांड और जहरीली शराब से मौत को लेकर बीजेपी ने सरकार को घेरा, लगाए गंभीर आरोप

वहीं, बिहार में छठ पर्व खत्म होते ही आपराधिक घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया है, जिसमें लखीसराय, वैशाली, मुंगेर, मुजफ्फरपुर, छपरा, गोपालगंज समेत कई जिलों में हत्या, जहरीली शराब से मौत और अन्य आपराधिक घटनाएं सामने आ रही हैं.

Updated on: 21 Nov 2023, 04:36 PM

highlights

  • गोलीकांड और जहरीली शराब से मौत को लेकर बीजेपी ने सरकार को घेरा
  • बिहार सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
  •  कहा-नीतीश कुमार के कंट्रोल से बाहर हो गया है बिहार

Patna:

बिहार की सियासत दिन-ब-दिन गर्म होती नजर आ रही है. वहीं, बिहार में छठ पर्व खत्म होते ही आपराधिक घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया है, जिसमें लखीसराय, वैशाली, मुंगेर, मुजफ्फरपुर, छपरा, गोपालगंज समेत कई जिलों में हत्या, जहरीली शराब से मौत और अन्य आपराधिक घटनाएं सामने आ रही हैं. वहीं, बिहार में खराब कानून व्यवस्था को लेकर बीजेपी ने नीतीश कुमार सरकार पर बड़ा हमला बोला है. बता दें कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने कहा कि, ''जिस तरह से बिहार में छठ पर्व के दौरान आपराधिक घटनाएं सामने आई हैं, उससे साबित हो गया है कि अपराधियों को रोक पाना बिहार सरकार के बस में नहीं है.''

यह भी पढ़ें: Bihar Weather Update Today: छठ व्रतियों को सूर्य देव के दर्शन के लिए करना होगा थोड़ा इंतजार, कोहरे से होगी परेशानी

इस संबंध में पटना में मीडिया से बातचीत के दौरान सम्राट चौधरी ने कहा कि, ''छठ पर्व के चार दिवसीय अनुष्ठान के दौरान आमतौर पर अपराधी और माफिया शांत रहते हैं, लेकिन इस बार छठ के पावन पर्व पर भी माफिया और अपराधी सक्रिय रहे और लखीसराय में एक ब्राह्मण परिवार पर नरसंहार की कोशिश की गई. इस घटना में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई और पुलिस अपराधी को पकड़ने में नाकाम रही. इससे साफ तौर पर बिहार सरकार पर सवाल खड़े होते हैं.'' 

शराब से हुई मौत पर पुलिस पर उठ रहे सवाल

आपको बता दें कि शराब से हुई मौतों को लेकर सम्राट चौधरी ने कहा कि, ''इस दौरान सीतामढ़ी और गोपालगंज में जहरीली शराब से 10 से ज्यादा घर बर्बाद हो गये. वहीं, 10 से ज्यादा लोगों की मौत के बाद पुलिस अब मामले को छिपाने की कोशिश कर रही है.'' साथ ही आगे उन्होंने जोर देते हुए कहा कि, ''जब सरकार में बैठे लोगों को ही कुछ याद नहीं रहेगा तो जनता अपनी पुलिस पर कैसे भरोसा कर पायेगी? हकीकत तो यह है कि हर दिन किसी न किसी जिले में बिहार का कोई बच्चा अनाथ हो रहा है और मां-बहनों की मांगों को नजरअंदाज किया जा रहा है, जिसके लिए नीतीश सरकार जिम्मेवार है, मैं इस सरकार से करबद्ध प्रार्थना करता हूं कि बिहार को बख्श दें.''