logo-image
लोकसभा चुनाव

Bihar NDA में खटपट बढ़ी, बीजेपी ने बोचहां पर उतारा प्रत्याशी, VIP भी अड़ी

ब बीजेपी द्वारा उम्मीदवार के नाम की घोषणा के बाद अगर मुकेश सहनी पीछे नहीं हटते हैं, तो एनडीए गठबंधन के दो घटक दलों के बीच में ही मुकाबला होगा. आरजेडी की ओर से उम्मीदवार खड़ा करने के साथ ही यह मुकाबला त्रिकोणीय हो जाएगा.

Updated on: 19 Mar 2022, 09:14 AM

highlights

  • बीजेपी ने बोचहां उपचुनाव के लिए बेबी कुमारी को उतारा
  • वीआईपी पार्टी के मुकेश साहनी ने इस पर जताई नाराजगी
  • अगर आरजेडी ने भी प्रत्याशी उतारा तो मुकाबला होगा त्रिकोणीय

पटना:

मुजफ्फरपुर के बोचहां विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उपचुनाव में भाजपा ने अपनी सहयोगी पार्टी वीआईपी को बड़ा झटका दिया है. बोचहां विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को लेकर सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के घटक दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बेबी कुमारी को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है. इस बीच इस सीट को लेकर एनडीए में शामिल विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) अड़ गई है. भाजपा के प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद वीआईपी ने नाराजगी जाहिर की है. बिहार विधानसभा चुनाव 2015 में बोचहां से बेबी कुमारी निर्दलीय चुनाव लड़ी थीं और विजयी हुई थीं. बाद में वे भाजपा में शामिल हो गई थीं.

मुसाफिर पासवान के निधन से हो रहे उपचुनाव
उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव 2020 में बोचहां सीट वीआईपी के कोटे में चली गई थी, जहां से वीआईपी के टिकट पर मुसाफिर पासवान चुनाव जीते थे. पासवान के निधन के कारण यह सीट रिक्त हो गई और अब यहां उपचुनाव हो रहा है. इधर वीआईपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता देव ज्योति ने कहा कि यह सीट वीआईपी कोटे की है. उन्होंने कहा कि बोचहां सीट पर वीआईपी का हक है. उन्होंने कहा कि वीआईपी का मानना है कि इस सीट पर वीआईपी अपना प्रत्याशी उतारकर दिवंगत पासवान के सपनों को पूरा कर सकेगी. उन्होंने कहा कि वीआईपी यहां से अपना प्रत्याशी उतारेगी, जिससे इस सीट पर जीत दर्ज कर पासवान जी के सपनों को पूरा किया जा सके.

यह भी पढ़ेंः रूस-यूक्रेन युद्ध: अमेरिका की चीन को चेतावनी, बाइडेन बोले- भुगतना होगा

वीआईपी पार्टी ने की नाराजगी जाहिर
उन्होंने कहा कि यह एनडीए का दुर्भाग्य है कि बिना घटक दलों से बात किए सहयोगी दल निर्णय ले लेते हैं. उन्होंने दुख जताते हुए कहा कि विधान परिषद चुनाव के लिए भी ऐसा ही किया गया था, विवश होकर वीआईपी को कई सीटों पर अपना प्रत्याशी घोषित करना पड़ा. जाहिर है कि अब बीजेपी द्वारा उम्मीदवार के नाम की घोषणा के बाद अगर मुकेश सहनी पीछे नहीं हटते हैं, तो एनडीए गठबंधन के दो घटक दलों के बीच में ही मुकाबला होगा. आरजेडी की ओर से उम्मीदवार खड़ा करने के साथ ही यह मुकाबला त्रिकोणीय हो जाएगा. बताते हैं कि मुकेश सहनी ने इस सीटिंग सीट है पर मुसाफिर पासवान के बेटे अमर पासवान के नाम की घोषणा भी कर दी है.