logo-image
लोकसभा चुनाव

आज थम जाएगा 5वें चरण का चुनाव प्रचार, बिहार की 5 सीटों पर NDA बनाम महागठबंधन

बिहार में लोकसभा चुनाव 2024 के पांचवें चरण का मतदान 20 मई को सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा. बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से पहले, दूसरे, तीसरे और चौथे चरण में कुल 19 लोकसभा क्षेत्रों पर मतदान हो चुका है.

Updated on: 18 May 2024, 12:19 PM

highlights

  • बिहार की इन पांच सीटों पर आज थम जाएगा चुनाव प्रचार
  • बिहार के इन दिग्गजों की किस्मत है दांव पर 
  • 80 प्रत्याशियों में से मैदान में हैं 6 महिला प्रत्याशी 

 

Patna:

Bihar Lok Sabha Elections 2024: बिहार में लोकसभा चुनाव 2024 के पांचवें चरण का मतदान 20 मई को सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा. बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से पहले, दूसरे, तीसरे और चौथे चरण में कुल 19 लोकसभा क्षेत्रों पर मतदान हो चुका है. वहीं अब पांचवे चरण में बिहार के 5 सीटों पर चुनाव होना है. इनमें मधुबनी, सीतामढ़ी, सारण, मुजफ्फरपुर और हाजीपुर लोकसभा सीट शामिल हैं. इन सभी सीटों में से सबसे दिलचस्प सीट चार है, जिस पर नए उम्मीदवार पुराने नेता को टक्कर देते नजर आएंगे.

यह भी पढ़ें: स्वाति मालीवाल मामले पर तेजस्वी को नहीं है कोई जानकारी, दिया ये बयान

चुनावी मैदान में ये हैं दिग्गज नेता 

आपको बता दें कि पांचवें चरण का चुनाव काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि बिहार के मशहूर और दिग्गज नेता चुनाव मैदान में हैं. इस चरण में भारत गठबंधन और एनडीए गठबंधन दोनों की प्रतिष्ठा दांव पर है. इस चरण में लोक जनशक्ति पार्टी 'रामविलास' सुप्रीमो चिराग पासवान की किस्मत पर मुहर लगने वाली है, तो वहीं लालू प्रसाद यादव की लाडली बेटी रोहिणी आचार्य के भाग्य का फैसला भी इसी चरण में होना है. बता दें कि लालू की लाडली बेटी रोहिणी आचार्य को बीजेपी के वरिष्ठ नेता और लगातार तीन बार सांसद रह चुके और लालू प्रसाद यादव को हराने वाले राजीव प्रताप रूढ़ी से टक्कर मिल रही है.

आपको बता दें कि हुकुमदेव नारायण के बेटे अशोक यादव दूसरी बार मधुबनी लोकसभा सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. इस चुनाव के लिए चुनाव प्रचार आज शाम 5 बजे थम जाएगा. वहीं शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए चुनाव आयोग ने पूरी तैयारी कर ली है. इस बार पांचवें चरण में उम्मीदवारों की संख्या पिछले सभी चरणों के चुनाव से कहीं ज्यादा है. पांचों लोकसभा क्षेत्रों में 80 उम्मीदवार मैदान में हैं, जो अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

80 प्रत्याशियों में से मैदान में हैं 6 महिला प्रत्याशी 

आपको बता दें कि इन 80 उम्मीदवारों में से 6 महिला उम्मीदवार हैं, जबकि 74 पुरुष उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें से 35 उम्मीदवार निर्दलीय हैं, जबकि 15 उम्मीदवार बड़ी पार्टियों से मैदान में हैं. जहां सबसे ज्यादा 26 उम्मीदवार मुजफ्फरपुर में मैदान में हैं. वहीं सबसे कम 12 उम्मीदवार मधुबनी में हैं, इसके अलावा सीतामढी, सारण और हाजीपुर में 14 उम्मीदवार हैं.

इन सभी पांच सीटों पर मायावती की बहुजन समाज पार्टी मैदान में है, जबकि एनडीए में बीजेपी के तीन, जेडीयू के एक और लोक जनशक्ति पार्टी के एक उम्मीदवार चिराग पासवान मैदान में हैं. इंडिया गगठबंधन में राजद चार सीटों पर और कांग्रेस एक सीट पर चुनाव लड़ रही है. 30 उम्मीदवार ऐसे हैं जो छोटे दलों और संगठनों से हैं. पांचवें चरण की पांच लोकसभा सीटों में से चार सीटें सामान्य हैं, जबकि एक सीट हाजीपुर आरक्षित सीट है. मुख्य रूप से एनडीए गठबंधन और भारत गठबंधन के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है.

वहीं सभी पांच लोकसभा क्षेत्रों में कुल 95,11,186 मतदाता वोट डालेंगे, जिनमें से 49,99,627 पुरुष मतदाता हैं, जबकि 45,11,258 महिला मतदाता वोट डालेंगे. थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या 309 है, जिसमें 18 से 19 वर्ष के पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं की संख्या 1,26,154 है, जबकि 20 से 29 वर्ष के मतदाताओं की संख्या 19,87,622 है. थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या 309 है, जिसमें 18 से 19 वर्ष के पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं की संख्या 1,26,154 है, जबकि 20 से 29 वर्ष के मतदाताओं की संख्या 19,87,622 है.

सबसे अधिक हाजीपुर में 1967094 मतदाता

आपको बता दें कि बिहार के इन पांच लोकसभा क्षेत्रों में सबसे ज्यादा मतदाता हाजीपुर में हैं जहां 1967094 मतदाता हैं, जबकि सारण में सबसे कम मतदाता हैं जहां 1795010 मतदाता हैं. इसके अलावा सीतामढ़ी में 1947996, मधुबनी में 1934980 और मुजफ्फरपुर में 1866106 मतदाता अपने मत का प्रयोग करेंगे. चुनाव आयोग द्वारा सभी पांच लोकसभा क्षेत्रों में कुल 9436 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें से 8222 मतदान केंद्र ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए हैं, जबकि 1214 मतदान केंद्र शहरी क्षेत्रों में बनाए गए हैं.

इसके अलावा आपको बता दें कि एक दिन में कुल मतदान स्थलों की संख्या 5419 है, जिनमें से 4848 मतदान स्थल ग्रामीण क्षेत्रों में और 571 मतदान स्थल शहरी क्षेत्रों में हैं. चुनाव आयोग ने 4699 मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं, जिसका कंट्रोल रूम पटना चुनाव आयोग कार्यालय में बनाया गया है. इन सभी मतदान केंद्रों के लिए 11323 ईवीएम मशीनें और 12267 वीवी पैड मशीनें इस्तेमाल की जाएंगी.