News Nation Logo

लॉकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था की गाड़ी अब धीरे-धीरे पटरी पर, बोले मोदी

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने बुधवार को कहा कि दो महीने से ज्यादा के लॉकडाउन (Lockdown) के बाद अब अर्थव्यवस्था की गाड़ी धीरे-धीरे पटरी पर आने लगी है.

Bhasha | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 11 Jun 2020, 09:38:23 AM
Sushil Modi

लॉकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था की गाड़ी अब धीरे-धीरे पटरी पर, बोले मोदी (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:  

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने बुधवार को कहा कि दो महीने से ज्यादा के लॉकडाउन (Lockdown) के बाद अब अर्थव्यवस्था की गाड़ी धीरे-धीरे पटरी पर आने लगी है. सुशील ने कहा कि अप्रैल में जहां रोजाना औसतन 135.80 करोड़ रूपये का, मई में दोगुना से ज्यादा 310.63 करोड़ रूपये का तो जून के मात्र 9 दिनों में 427.69 करोड़ रूपये का माल बाहर से बिहार में बिकने के लिए आया. इसी प्रकार कर संग्रह में भी अप्रैल के मुकाबले मई में तीन गुना से ज्यादा की वृद्धि हुई है.

यह भी पढ़ें: बिहार विधानसभा चुनाव: ओवैसी की पार्टी AIMIM ने किया ऐलान, इन 32 सीटों पर लड़ेगी चुनाव

उन्होंने कहा कि अप्रैल में बाहर से 4,074 करोड़ रूपये का माल बिकने के लिए आया जिनमें मुख्य रूप से खाद्य सामग्री, दवा, चिकित्सा उपकरण व उर्वरक आदि थे तो मई में दुगुना से ज्यादा 9,630 करोड़ रूपये का माल आया जिनमें आयरन एंड स्टील, इलेक्ट्रिकल सामान, सीमेंट, कपड़ा और वाहन आदि 6568 करोड़ रूपये के थे. इस सेक्टर को निर्माण कार्य शुरू होने का लाभ मिला. वित्त मंत्रालय का जिम्मा भी संभाल रहे सुशील मोदी ने कहा कि पिछले साल के अप्रैल की तुलना में इस साल अप्रैल में कर संग्रह में 81.61 फीसदी की कमी थी वहीं मई में काफी सुधार के साथ यह कमी मात्र 42.14 प्रतिशत की रही.

यह भी पढ़ें: लालू यादव को जन्मदिन पर विरोधियों का 'तोहफा', पोस्टर्स लगाकर किया लालू परिवार की 73 संपत्तियों को उजागर

उन्होंने कहा कि अप्रैल 2020-21 में वाणिज्य कर, ट्रांसपोर्ट, निबंधन, खनन और भू-राजस्व से जहां 467.61 करोड़ रूपये का कर संग्रह हुआ था वहीं मई में यह करीब तीनगुना बढ़ कर 1317.72 करोड़ रूपये रहा. सुशील ने कहा कि अप्रैल में निबंधन से मात्र 4 करोड़ रूपये तो मई में 60.78 करोड़ रूपये, ट्रांसपोर्ट में 31 करोड़ रूपये तो मई में 60 करोड़ रूपये और वाणिज्य कर में 256.21 करोड़ रूपये की जगह मई में 693.90 करोड़ रूपये का संग्रह हुआ है, जो यह दर्शा रहा है कि अब अर्थव्यवस्था गति पकड़ रही है.

यह वीडियो देखें: 

First Published : 11 Jun 2020, 09:38:23 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.