News Nation Logo

BREAKING

बिहार में चोरी छुपे 3 लाख प्रवासी मजदूर पहुंचे, मोबाइल कंपनियों की रिपोर्ट से उड़ी सरकार की नींद

कोरोना काल के दौर में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से प्रवासी मजदूरों के घर वापसी का सिलसिला जारी है. इस बीच बिहार (Bihar) में प्रवासी मजदूरों को लेकर नया खुलासा हुआ है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Ns | Updated on: 22 May 2020, 12:52:37 PM
Labour

बिहार में चोरी छुपे पहुंचे 3 लाख प्रवासी मजदूर, उड़ी सरकार की नींद (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:

कोरोना काल के दौर में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से प्रवासी मजदूरों के घर वापसी का सिलसिला जारी है. इस बीच बिहार (Bihar) में प्रवासी मजदूरों को लेकर नया खुलासा हुआ है. भारत के विभिन्न राज्यों से बिहार के 15 जिलों में चोरी छुपे करीब 3 लाख प्रवासी मजदूर (Migrant Worker) पहुंचे हैं. ये प्रवासी देश के 7 राज्यों से पहुंचे हैं. देश की 3 बड़ी मोबाइल कंपनियों ने राज्य सरकार को जो रिपोर्ट सौंपी है, उसके आधार पर 3 लाख प्रवासी चोरी छिपे बिहार पहुंच चुके हैं और अब इन्होंने सरकार की नींद उड़ा दी है.

यह भी पढ़ें: UP के CM योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी, वाट्सएप पर भेजा गया मैसेज

15 जिलों में चोरी छुपे पहुंचे 3 लाख प्रवासी (मोबाइल डाटा से खुलासा)

पटना- 20000
मुजफ्फरपुर- 26745
पूर्वी चंपारण- 25284
पश्चिम चंपारण- 12935
मधुबनी- 26745
समस्तीपुर- 20054
सीतामढी- 11681
वैशाली- 18848
शिवहर- 2082
दरभंगा- 23454
सहरसा- 40000
सुपौल- 20000
मुंगेर- 10000
बेगूसराय- 5000
अरवल- 5000

यह भी पढ़ें: प्रशांत किशोर चले कांग्रेस की ओर, मध्य प्रदेश उपचुनाव की जिम्मेदारी संभालेंगे

इस पर बिहार के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने News Nation से बातचीत में कहा कि हम सभी प्रवासियों पर नजर रख रहे हैं. सभी जिलों के जिलाधिकारी और एसपी को सड़क पर प्रवासियों पर नजर रखने के लिए कहा गया है. साथ ही बिना पंजीकरण के गांवों में प्रवेश न करने के लिए कहा गया है.

उधर, बिहार में प्रवासी मजदूरों की पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग कराई जाएगी. इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं. मुख्यमंत्री ने गुरुवार को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे कार्यो की मुख्य सचिव एवं अन्य वरीय अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों को पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर ही सभी प्रवासी मजदूरों की डोर टू डोर विस्तृत स्क्रीनिंग कराए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि इससे कोरोना से संबंधित कोई लक्षण हो तो तुरंत उसकी पहचान हो सकेगी.

यह वीडियो देखें: 

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 22 May 2020, 12:52:37 PM