News Nation Logo
Banner

राजद के संपर्क में हैं JDU के 17 विधायक, थामना चाहते हैं लालटेन, RJD नेता श्याम रजक का दावा

बिहार में बीजेपी के साथ सरकार चला रही जदयू पार्टी के नेताओं को उस दर्द की टीस तकलीफ दे रही है. तो विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल उनके जले पर नमक छिड़कने का काम रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 30 Dec 2020, 07:33:17 AM
RJD leader Shyam Rajak

श्याम रजक (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:

बिहार से कोसों दूर अरुणाचल प्रदेश में जनता दल (यूनाइटेड) के 6 विधायकों के बीजेपी में शामिल पर वहां की सियासी तपिश से बिहार की राजनीति गर्म है. इन विधायकों के बीजेपी में जाने का दर्द जदयू के नेताओं को कम नहीं हो रही है. बिहार में बीजेपी के साथ सरकार चला रही जदयू पार्टी के नेताओं को उस दर्द की टीस तकलीफ दे रही है. तो विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल उनके जले पर नमक छिड़कने का काम रही है. अरुणाचल के घटनाक्रम के बाद से बीजेपी और जदयू में सब कुछ ठीक नहीं है और ऐसे में राजद के नेता श्याम रजक ने दोनों ही दलों को टेंशन देते हुए बड़ा बयान दिया है.

यह भी पढ़ें: बिहार : नीतीश कुमार ने आरसीपी सिंह को अध्यक्ष बनाकर खेला नया सियासी दांव! 

राजद नेता और पूर्व मंत्री श्याम रजक ने बिहार की नीतीश सरकार के गिरने का दावा किया है. उन्होंने कहा है कि जदयू के 17 विधायक राजद के संपर्क में हैं. श्याम रजक ने कहा है कि जदयू में जल्द ही बड़ी टूट हो सकती है. जदयू के विधायकों को इतनी जल्दबाजी है कि उन्हें तारीख और समय की कोई चिंता नहीं है. पूर्व मंत्री ने यह भी कहा है कि अगर जदयू विधायक राजद में आते हैं, तो उनको बहुत फायदा होगा.

राजद नेता ने बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए कहा, 'जो (बीजेपी) खुद जदयू को तोड़ने को तैयार हैं तो ऐसे में दूसरे दलों को तोड़ने की जरूरत ही नहीं. उन्होंने जदयू पर हमला बोलते हुए कहा कि जो शक्तिहीन व्यक्ति है, वह किसी दूसरे को कैसे समर्थन दे सकता है, शक्तिहीन से इस तरह की अपेक्षा नहीं की जा सकती है. उन्होंने कहा कि जदयू 71 सीटों से घटकर 43 सीटों पर आ गई है.

यह भी पढ़ें: नीतीश के मुख्यमंत्री बनने पर सुशील कुमार मोदी का बड़ा बयान, अरुणाचल मामलों पर सफाई

उल्लेखनीय है कि बीजेपी-जदयू के बीच की लड़ाई में राजद आग में घी डालने का काम कर रही है. यहां तक की राजद की ओर से खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बड़ा ऑफर दिया गया. राजद के वरिष्ठ नेता उदय नारायण चौधरी ने कहा था कि अगर नीतीश कुमार एनडीए को छोड़ते हैं और तेजस्वी को बिहार का सीएम बनाते हैं तो 2024 में विपक्ष उनको पीएम उम्मीदवार के रूप में प्रोजेक्ट करने की कोशिश करेगा. बहरहाल, बीजेपी और जदयू के बीच बढ़ती खाई राजद के लिए अच्छे संकेत के रूप में दिखाई दे रही है. सत्तारूढ़ एनडीए में घमासान का फायदा राजद को होना तय है.

First Published : 30 Dec 2020, 07:33:17 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.