News Nation Logo

इंग्‍लैंड से हारने के बाद विराट कोहली चले गए थे डिप्रेशन में, खुद किया खुलासा 

टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली आज की तारीख में भले खुश और मस्‍ती करते हुए नजर आते हों, लेकिन एक वक्‍त ऐसा भी था, जब वे डिप्रेशन यानी अवसाद से गुजर चुके हैं.

IANS/News Nation Bureau | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 20 Feb 2021, 08:26:23 AM
Virat Kohli

virat kohli (Photo Credit: IANS)

नई दिल्‍ली :

टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली आज की तारीख में भले खुश और मस्‍ती करते हुए नजर आते हों, लेकिन एक वक्‍त ऐसा भी था, जब वे डिप्रेशन यानी अवसाद से गुजर चुके हैं. इस बात का खुलासा खुद विराट कोहली ने ही एक इंटरव्‍यू के दौरान किया था. उन्‍होंने इस मामले पर खुलकर बात की है. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली का कहना है कि वह क्रिकेट में मानसिक स्वास्थ्य पर और भी जागरुकता बढ़ते देखना चाहते हैं. कप्‍तान विराट कोहली ने कहा कि वह 2014 में इंग्लैंड में भारत की टेस्ट सीरीज के बाद वह डिप्ररेशन से गुजरे थे और जो खिलाड़ी इस दौर से गुजरते हैं उन्हें विशेषज्ञ की जरूरत होती है. विराट कोहली ने क्रिकेट कमेंटेटर मार्क निकोलस से चर्चा में कहा कि निजी तौर पर कहूं तो यह ऐसा होता है कि आप बहुत से लोगों के बीच भी खुद को अकेला महसूस करते हैं. मैं यह नहीं कहूंगा कि मेरे पास बात करने के लिए लोग नहीं थे, लेकिन कोई ऐसा विशेषज्ञ नहीं था जो यह समझ सके कि मैं किस स्थिति से गुजर रहा हूं. मेरे ख्याल से यह बहुत बड़ा फैक्टर है. मैं इसमें कुछ परिवर्तन देखना चाहूंगा.

यह भी पढ़ें : IPL 2021 Auction के बाद सभी टीमों के खिलाड़ियों की पूरी लिस्‍ट यहां देखें 

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि खिलाड़ी अक्सर खराब फॉर्म से गुजरने के बाद बाहर हो जाते हैं, लेकिन यह खराब मानसिक स्वास्थ्य से पीड़ित लोगों के लिए समाधान नहीं है. विराट कोहली ने कहा कि कई लोगों को लंबे समय तक इससे जूझना पड़ता है. कई बार एक महीने या पूरे क्रिकेट सत्र तक यह चलता है. कई लोग इससे नहीं उभर पाते हैं. उन्होंने कहा कि उस वक्त उस इंसान की स्थिति काफी गंभीर होती है और मेरा मानना है कि ऐसे में विशेषज्ञ की मदद जरुरत होती है. अगर ऐसा नहीं होता है तो लोगों को इससे अपने हिसाब से लड़ना होता है.

यह भी पढ़ें : IPL 2021 Auction : हरभजन सिंह और केदार जाधव बेस प्राइज दो करोड़ में बिके

विराट कोहली ने कहा कि जब आप देखते हैं कि आप स्कोर नहीं कर पा रहे तो यह अच्छा नहीं होता. मेरे ख्याल से सभी बल्लेबाजों को किसी समय ऐसा लगता होगा कि सबकुछ उनके हाथ में नहीं है. इंग्लैंड दौरे को लेकर उन्होंने कहा कि जब आप खराब समय से गुजरते हैं तो आपको नहीं पता चलता कि आप इससे कैसे निकलेंगे. मुझे उस वक्त ऐसा लग रहा था कि मैं दुनिया का सबसे अकेला इंसान हूं. भारतीय टीम इस वक्‍त इंग्‍लैंड के साथ चार वन डे मैचों की सीरीज खेल रही है. जिसके दो मैच खत्‍म हो चुके हैं और सीरीज इस वक्‍त बराबरी पर है. अभी सीरीज के दो मैच बाकी है, जो ये मैच जीतेगा, सीरीज उसी के नाम होगी. वहीं इस सीरीज की जीत से तय होगा कि आईसीसी विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल में कौन सी टीम पहुंचेगी, जिसका मुकाबला न्‍यूजीलैंड से होगा. 

First Published : 20 Feb 2021, 08:26:23 AM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो