News Nation Logo
Banner

क्या सचिन तेंदुलकर के लिए देश से बड़ा हो गया पैसा, Paytm के साथ जुड़ने पर नाराज कैट ने दी ये धमकी

कैट ने सचिन तेंदुलकर की इस मामले में कड़ी आलोचना की और कहा कि उन्हें देश को यह जवाब देना चाहिए कि उनके लिए धन बड़ा है या देश?

IANS | Updated on: 17 Sep 2020, 01:12:54 PM
sachin tendulkar

सचिन तेंदुलकर (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को बड़े चीनी निवेश की कम्पनी पेटीएम फर्स्ट गेम्स के ब्रांड एम्बेसेडर बनने पर आड़े हाथों लेते हुए कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा कि वर्तमान असाधारण परिस्थितियों में जब चीन के साथ भारत का एक तरह से शीत युद्ध चल रहा है, ऐसे में सचिन का किसी भी बड़े चीनी निवेश वाली कम्पनी का ब्रांड एम्बेसेडर बनना साफ तौर पर उनकी ज्यादा से ज्यादा धन कमाने की पिपासा (भूख) को दर्शाता है.

ये भी पढ़ें- IPL में सट्टेबाजी पर नजर रखने के लिए BCCI ने स्पोर्टराडार के साथ किया करार

कैट ने सचिन तेंदुलकर की इस मामले में कड़ी आलोचना की और कहा कि उन्हें देश को यह जवाब देना चाहिए कि उनके लिए धन बड़ा है या देश? वहीं उनके इस फैसले से न केवल देश भर के व्यापारी बल्कि प्रशंसक भी बेहद नाराज है. कैट का कहना है कि साथ ही हमने इस सम्बंध में सचिन तेंदुलकर को पत्र भेजकर अपना फैसला बदलने का आग्रह किया है. हम रविवार तक उनके जवाब का इंतजार करेंगे अन्यथा अगले सप्ताह देश भर में इस मुद्दे पर सचिन के रवैये के खिलाफ प्रदर्शन होंगे.

ये भी पढ़ें- IPL के पहले मैच में धोनी की चेन्नई पर भारी पड़ेगी हिटमैन की मुंबई, जानें क्या बोले गौतम गंभीर

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा, ''एक तरफ देश में एक बड़ी चीनी कम्पनी भारत में जासूसी करती हुई पकड़ी जा रही है, देश में राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री सहित लगभग 10 हजार प्रमुख लोगों पर चीनी कम्पनियां लगातार जासूसी नजर रख रही हैं, जो भारत के प्रति चीन के कुत्सित इरादों को स्पष्ट करता है. वहीं दूसरी ओर सचिन तेंदुलकर जो अपने आपको भारत का बेटा कहते हैं, उन्हें चीन निवेश वाली कम्पनी का ब्रांड अंबेसेडर बनने में कोई शर्म नहीं है. जिस देश के लोगों ने उन्हें सर आंखों पर बिठाया, सम्मान और धन दिया वो सचिन अब देशवासियों के विश्वास का अपमान करते हुए चीनी कम्पनी का ब्रांड ऐम्बैसडर बने हैं."

ये भी पढ़ें- आंद्रे रसेल के तूफानी अंदाज की बराबरी कोई नहीं कर सकता: रिंकू सिंह

खंडेलवाल ने कहा, विज्ञापनों में आने वाली हस्तियां एक प्रकार से हमारे युवाओं के लिए रोल मॉडल हैं. हमारे युवा इन कलाकारों को देखकर उनकी नकल करना चाहते हैं. उनके समान बनना चाहते हैं. इसलिए जो भी व्यक्ति सामाजिक जीवन से जुड़ा है, उसका व्यवहार उच्चतम मापदंड के अनुसार होना जरूरी है और यहां सचिन तेंदुलकर फेल हो गए हैं."

First Published : 17 Sep 2020, 12:51:32 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो