News Nation Logo

INDvsENG : दो तरह की मिट्टी से तैयार की गई है मोटेरा नरेंद्र मोदी स्‍टेडियम की पिच 

भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी दो टेस्ट और उसके बाद टी 20 सीरीज की मेजबानी कर रही मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम का फिर से निर्माण यहां दो अलग-अलग प्रकार की मिट्टी के साथ पिच तैयार करने के भारतीय क्रिकेट में एक नया चलन है.

IANS | Updated on: 01 Mar 2021, 10:25:14 AM
Motera Stadium Ahmedabad

Motera Stadium Ahmedabad (Photo Credit: IANS)

अहमदाबाद :

भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी दो टेस्ट और उसके बाद टी 20 सीरीज की मेजबानी कर रही मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम का फिर से निर्माण यहां दो अलग-अलग प्रकार की मिट्टी के साथ पिच तैयार करने के भारतीय क्रिकेट में एक नया चलन है. ग्राउंड में छह लालमिट्टी की पिचें और पांच कालीमिट्टी की पिचें हैं. तीसरे टेस्ट के लिए उपयोग की जाने वाली पिच एक लालमिट्टी की पिच थी और इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं थी कि पहले दिन से ही यहां स्पिनरों को मदद मिलने लगी थी. भारतीय टीम और गुजरात के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल की भी इसमें भूमिका है. पार्थिव पटेल जब 2017 में दलीप ट्रॉफी के लिए पहली बार लखनऊ के एकाना क्रिकेट स्टेडियम पहुंचे थे, तो वहां स्ट्रिप्स के मिश्रण ने उन्हें सुखद आश्चर्य दिया.

यह भी पढ़ें : IPL 2021 : बीसीसीआई से मंत्री ने कहा, हैदराबाद में भी हों आईपीएल के मैच 

आम तौर पर, ग्राउंड में एक ही तरह की मिट्टी होती हैं, लेकिन एकाना में, छह तरह की लालमिट्टी की पिचें और पांच तरह की कालीमिट्टी के ग्राउंड थे. दलीप ट्रॉफी के समापन के बाद पटेल वापस अहमदाबाद पहुंचे. उस समय मोटेरा में स्टेडियम का पुनर्निर्माण चल रहा था और उन्होंने उस विचार को स्थानीय अधिकारियों के साथ साझा किया. गुजरात क्रिकेट संघ ने तब बीसीसीआई के पिच और ग्राउंड्स कमेटी के प्रमुख दलजीत सिंह से संपर्क किया और छह लाल मिट्टी और पांच कालीमिट्टी की पिचें बनाने का विचार रखा. इंदौर और बड़ौदा के मैदान ने भी इसी तरह के पैटर्न का पालन किया है, हालांकि पिचों की संख्या अलग है.

यह भी पढ़ें : IPL 2021 : PBKS, RR और SRH को हो सकता है नुकसान, जानिए कैसे 

दलजीत ने आईएएनएस से कहा कि पार्थिव एकाना पिच प्रारूप से प्रभावित थे और उन्होंने मुझे अहमदाबाद से बुलाया और मुझे मोटेरा में पिचों की तैयारी में सहायता करने के लिए कहा. यही वजह है कि मैंने एकाना और फिर मोटेरा में दो अलग-अलग मिट्टी की पिचों पर जोर दिया, क्योंकि यह राज्य की टीमों को दक्षिण में या अन्य जगहों पर यात्रा करने में मदद करता है, ताकि वे शर्तो को पूरा सकें. उन्होंने कहा कि इसके अलावा, अगर आप देखें, तो महेंद्र सिंह धोनी ने भी एक बार कहा था कि भारत में लालमिट्टी का इस्तेमाल किया जाना चाहिए. अब बहुत सारे वेन्यू मिक्स की कोशिश कर रहे हैं. प्रारंभ में, जीसीए केवल एक मिट्टी की पिचों की सीमित संख्या के लिए योजना बना रहा था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 01 Mar 2021, 10:25:14 AM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो