News Nation Logo
Banner

INDvAUS : दूसरे दिन के स्टार रविचंद्रन अश्विन ने मैच के बाद कही ये बड़ी बात 

टीम इंडिया ने चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया पर 62 रनों की बढ़त ले ली है. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने पहली पारी में  244 रन बनाए थे.

By : Pankaj Mishra | Updated on: 18 Dec 2020, 10:02:42 PM
ravichandran ashwin

ravichandran ashwin (Photo Credit: ians)

नई दिल्ली :

टीम इंडिया ने चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया पर 62 रनों की बढ़त ले ली है. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने पहली पारी में  244 रन बनाए थे. इसके बाद गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया और आस्ट्रेलिया को पहली पारी 192 रनों पर ही समेट दी. टीम इंडिया ने दूसरी पारी में 53 रनों की बढ़त के साथ कदम रखा. दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने अपनी दूसरी पारी में एक विकेट खोकर नौ रन बनाकर बढ़त को मजबूत कर लिया. भारत ने पृथ्वी शॉ का विकेट खोया, जिन्हें पैट कमिंस ने चार रन के निजी स्कोर पर बोल्ड कर दिया. मयंक अग्रवाल पांच रन बनाकर विकेट पर खड़े हैं. उनके साथ नाबाद लौटने वाले नाइटवॉचमैन जसप्रीत बुमराह ने 11 गेंदों का सामना करने के बावजूद खाता नहीं खोला है.

यह भी पढ़ें : INDvAUS : कप्तान टिम पेन ने की भारतीय गेंदबाजों की तारीफ, जानिए ऑस्ट्रेलिया की मुश्किल 

इस बीच भारतीय गेंदबाजों ने जो प्रदर्शन किया, उसमें सबसे बड़ी भूमिका रविचंद्रन अश्विन की रही. ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन हमेशा अपने साथी खिलाड़ियों से सीखने को तैयार रहते हैं लेकिन सफलता के लिए फार्मूला ढूंढने का उनका अपना तरीका है क्योंकि वह मानते हैं कि विकेट चटकाने के कई तरीके होते हैं. अश्विन ने 55 रन देकर चार विकेट हासिल किए जिसमें स्टीव स्मिथ का अहम विकेट भी शामिल था. जिससे भारत को यहां शुरूआती दिन-रात्रि टेस्ट के दूसरे दिन बढ़त हासिल करने में मदद मिली लेकिन वह इसे विदेशों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आंकने को तैयार नहीं हैं. तो क्या जब वह आस्ट्रेलिया में गेंदबाजी करते हैं तो नाथन लियोन की गेंदबाजी से और जब वह इंग्लैंड में खेल रहे होते हैं तो मोईन अली की गेंदबाजी से मदद लेते हैं? उन्होंने सवाल करते हुए कहा, कभी कभार तुलनायें और जिस तरीके से हम चीजों को देखते हैं, काफी गलत होती हैं. क्या हम बल्लेबाज को जाकर स्टीव स्मिथ की बल्लेबाजी को देखने को कहते हैं कि जब भी हम आस्ट्रेलिया का दौरा करें तो हमेशा इसका दोहराव करें? कोई भी ऐसा एलिस्टर कुक या जो रूट के साथ नहीं करता. 

यह भी पढ़ें : न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान को पांच विकेट से पीटा, जैकब डफी और  टिम सिफर्ट चमके

अश्विन ने मैच के बाद कहा कि मुझे लगता है कि हम सभी वाकिफ हैं कि हर कोई चीजें अलग अलग तरीके से करता है. निश्चित रूप से आप सीख सकते हो. इसमें कोई रोक-टोक नहीं है. आप हमेशा लोगों से सीख सकते हो कि वे अपना काम किस तरीके से करते हैं. अश्विन ने कहा कि जब स्पिनर विदेशों में खेलता है तो इन दो चीजों को देखना चाहिए कि कितने रन बचाये और कितने विकेट लिये. उन्होंने कहा, मैंने हमेशा इस चीज का ध्यान रखा है, विशेषकर जब आप विदेशों में खेलते हो कि चीजें आपके हक में होनी चाहिए क्योंकि आप दो काम कर रहे हो और वो भी परिस्थितियों के खिलाफ कर रहे हो. उन्होंने कहा, जहां तक मेरा संबंध है तो मैं देखता हूं कि मैं सीख सकूं और इसके लिये प्रयास करता रहता हूं कि मैं यह कर सकूं. लोग इसे किस तरह से लेते हैं, यह उन पर निर्भर करता है. अश्विन ने कहा कि उनका विदेशों में हमेशा अच्छा प्रदर्शन रहा है, उन्होंने कहा, अगर आप पिछले दो वर्षों को देखो और अगर लोग उन दो खराब मैचों या खराब स्थितियों पर जोर नहीं दें तो पिछले 18 महीने में विदेशों में मेरा प्रदर्शन ठीक ठाक रहा है. 

(input Bhasha)

 

First Published : 18 Dec 2020, 09:21:20 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.