News Nation Logo

भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान विराट कोहली के निशाने पर ICC की पहली ट्रॉफी 

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली इस वक्त भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान हैं. करीब 32 साल के हो चुके विराट कोहली ने भारत के लिए अब तक 60 टेस्ट मैचों में कप्तानी की है.

Sports Desk | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 05 Jun 2021, 10:36:54 AM
virat kohli test

virat kohli test (Photo Credit: ians)

highlights

  • भारत के लिए 60 टेस्ट मैचों में कप्तानी कर चुके हैं विराट कोहली
  • विराट कोहली अब तक 36 टेस्ट मैचों में दिला चुके हैं जीत
  • अभी तक कोहली के पास बतौर कप्तान कोई आईसीसी ट्रॉफी नहीं 

नई दिल्ली :

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली इस वक्त भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान हैं. करीब 32 साल के हो चुके विराट कोहली ने भारत के लिए अब तक 60 टेस्ट मैचों में कप्तानी की है, जिसमें भारत ने 36 जीते हैं. उनसे आगे कोई नहीं है. लेकिन विराट कोहली के पास अभी तक एक भी आईसीसी की ट्रॉफी नहीं है. यही उनकी आलोचना का सबसे बड़ा कारण भी बनता है. अब इस बार कप्तान विराट कोहली के निशाने पर पहली आईसीसी की ट्रॉफी होगी. आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच 18 जून से इंग्लैंड के साउथम्पटन में होगा, जिसमें भारत का मुकाबला न्यूजीलैंड से होने वाला है. टीम इंडिया इंग्लैंड पहुंच चुकी है और अब क्वारंटीन का वक्त पूरा कर रही है. 

यह भी पढ़ें : WTC Final : इंग्लैंड में अभ्यास की कमी पर क्या बोले कप्तान विराट कोहली, जानिए 

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान के रूप में इंग्लैंड का तीसरा दौरा शुरू कर दिया है. वह आधुनिक क्रिकेट में चार बेस्ट बल्लेबाजों में से एक हैं, जिनका 2014 में इंग्लैंड का पहला दौरा काफी खराब रहा था और स्विंग गेंदबाजी के सामने वह लड़खड़ाते नजर आए थे. विराट कोहली ने 2014 के इंग्लैंड दौरे पर 13.4 की औसत से 10 पारियों में केवल 134 रन बनाए थे. चार साल बाद वह एक सफल बल्लेबाज के रूप में लौटे और द्विपक्षीय सीरीज में उन्होंने 59.3 की औसत से 10 पारियों में 593 रन बनाए थे.  विराट कोहली ने इंग्लैंड रवाना होने से पहले जब भारतीय मीडिया के साथ बातचीत की तो कहा कि सबसे पहले मैं चार साल बड़ा हूं. यही एक अंतर है. लेकिन इसके अलावा मुझे नहीं लगता कि मानसिकता बिल्कुल बदली है. मानसिकता हमेशा वहां जाने और अपनी टीम के लिए प्रदर्शन करने की थी. मुझे 2018 में नेतृत्व करने का मौका मिला था और बाहर से जिस तरह की स्वीकृति मिली थी, उसके विपरीत, हम समझते हैं कि हमने वहां किस तरह का क्रिकेट खेला.

यह भी पढ़ें : PM Modi ने लिया 'फ्लाइंग सिख' Milkha Singh का हाल, जल्द ठीक होने की कामना की

विराट कोहली ने कहा कि हालांकि भारत 2018 की सीरीज 1-4 से हार गया था, लेकिन वे कभी मुकाबले से बाहर नहीं हुए. उन्होंने कहा कि लॉर्डस में टेस्ट को छोड़कर हम कभी मुकाबले से बाहर नहीं हुए. इसलिए, मैं इसे केवल टीम में अपनी स्थिति के विकास के रूप में देखता हूं. 2018 हमारे लिए वास्तव में वहां जाने और घर से दूर प्रदर्शन करने की शुरुआत थी. हमने किया ऑस्ट्रेलिया (2018-19 सीरीज जीत) से काफी पहले. कोच रवि शास्त्री ने कहा कि कोहली 2014 के दौरे के बाद से बेहतर हुए हैं और उन्होंने अनुभव में हासिल किया है. रवि शास्त्री ने मीडिया से कहा कि 2014 के कोहली और अब स्लिमर और फिटर हैं. वह टीम के कप्तान और भारत के सबसे सफल कप्तान हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 05 Jun 2021, 10:28:27 AM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.