News Nation Logo
Banner

पीएम ने टोक्यो जाने वाले खिलाड़ियों से कहा-उम्मीदों के बोझ में नहीं दबें

पीएम ने टोक्यो जाने वाले खिलाड़ियों से कहा-उम्मीदों के बोझ में नहीं दबें

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 13 Jul 2021, 10:15:01 PM
Dont get

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

मुंबई: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को टोक्यो जाने वाले भारतीय एथलीटों को ज्यादा उम्मीदों के बोझ में नहीं दबने तथा नतीजों की चिंता किए बगैर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए कहा है।

प्रधानमंत्री ने मंगलवार की शाम टोक्यो जाने वाले 126 सदस्यीय भारतीय दल और उनके परिवार वालों के साथ चर्चा की।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने सभी सुविधाएं दी और खिलाड़ियों का समर्थन किया जिससे टोक्यो ओलंपिक के लिए भारत इतना बड़ा दल भेज सका।

मोदी ने कहा, जैसे हमें खेलों में जीत के लिए कड़ी मेहनत को अच्छी रणनीति के साथ जोड़ना होता है, वैसे ही सरकार ने भी किया है। हमने समिति बनाई और एथलीटों को टॉप्स योजना से मदद मिली।

उन्होंने कहा, आप देश के लिए पसीना बहाते हैं और पूरा देश आपके साथ खड़ा है। एथलीटों को ट्रेनिंग मिले इसके लिए हमने पूरी कोशिश की। खेलो इंडिया और फिट इंडिया से चीजें सुधरी जिसका नतीजा यह है कि इस बार ओलंपिक में इतना बड़ा दल जा रहा है।

मोदी ने कहा, कई खेल ऐसे है जिसमें भारत ने पहली बार क्वालीफाई किया है। आप जीतने के लिए अभ्यास करते हैं और हम सभी को इसमें कोई शक नहीं है। मैं आप सभी को देख रहा हूं और विश्वास के साथ कह सकता हूं कि जीतना नए भारत की आदत बन गई है।

प्रधानमंत्री ने कहा, जब आप टोक्यो में तिरंगा लहराएंगे तो पूरी दुनिया आपको देखेगी। आप जीतने का दबाव नहीं लें, बस खुद से इतना कहें कि हमें अपना सर्वश्रेष्ठ देना है। मैं एक बार फिर कहूंगा चियर फॉर इंडिया। मुझे यकीन है कि आप लोग नए आयाम रचेंगे। मैं आप सभी लोगों का धन्यवाद देता हूं और सभी को शुभकामनाएं देता हूं। आपके परिवार को सलाम।

मोदी ने कहा कि वह कोरोना वायरस के कारण नई दिल्ली स्थित अपने आवास पर इन एथलीटों की मेजबानी पहले की तरह नहीं कर पा रहे हैं। लेकिन वह वादा करते हैं कि टोक्यो से वापस आने के बाद वह इन सभी से मिलेंगे।

उन्होंने कहा, सभी एथलीटों और उनके परिजनों से हमने वर्चुअली बात की है लेकिन मुझे अच्छा लगता अगर मैं दिल्ली में आप सब की मेजबानी करता। कोरोना के कारण ऐसा नहीं हो सका।

प्रधानमंत्री ने कहा, कई एथलीट विदेश में ट्रेनिंग कर रहे हैं। जब आप वापस आएंगे तो मैं आपसे वादा करता हूं कि मैं आप सभी से व्यक्तिगत रूप से मिलूंगा। कोरोना ने काफी कुछ बदला है जिसमें ओलंपिक वर्ष और आपकी तैयारियां शामिल हैं।

मोदी ने कहा, टोक्यो में वातावरण अलग है। देश को जानने का मौका मिला है कि आप लोगों ने ऐसे कठिन समय में भी देश के लिए काफी मेहनत की है। मैंने देशवासियों से आपके लिए चियर करने के लिए कहा है।

उन्होंने साथ ही कहा कि टोक्यो जाने वाले खिलाड़ी नए भारत का प्रतिबिंब हैं।

प्रधानमंत्री ने इस दौरान खिलाड़ियों से व्यक्तिगत तौर पर भी चर्चा की जिसमें उन्होंने उनकी प्रगति, ट्रायल्स और उनके परिवार द्वारा संघर्ष के बारे में जाना। उन्होंने सभी एथलीटों को ओलंपिक के लिए अपनी शुभकामनाएं दी।

मोदी ने टेनिस स्टार सानिया मिर्जा से पूछा कि टेनिस खिलाड़ी बनने के लिए क्या करना पड़ता है? इस पर सानिया ने कहा, इसके लिए मेहनत और प्रतिभा चाहिए। परिवार का समर्थन और समर्पण भी महत्वपूर्ण है और भाग्य एक भूमिका निभाता है। लेकिन मेहनत और प्रतिभा का कोई विकल्प नहीं होता।

उन्होंने विनेश फोगाट से पूछा कि क्या एक प्रसिद्ध परिवार का हिस्सा होने का मतलब अतिरिक्त दबाव है। इस पर विनेश ने जवाब दिया, दबाव और उम्मीद है लेकिन मुझे लगता है कि यह महत्वपूर्ण है और हम उम्मीद के कारण अधिक कोशिश करते हैं। हालांकि, कोई दबाव नहीं है, मैं अच्छा प्रदर्शन करूंगी और पदक जीतने की उम्मीद करूंगी।

प्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा से पूछा कि उन्हें टेटे खेलने में वंचित बच्चों की मदद करने का विचार कैसे आया।

मनिका ने बताया कि उन्होंने उनमें प्रतिभा देखी और महसूस किया कि अगर वह उनकी मदद करेंगी तो वे अच्छा कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री ने मौजूदा विश्व चैंपियन और रियो ओलंपिक में बैडमिंटन में रजत पदक जीतने वाली पीवी सिंधु से पूछा कि क्या वह रियो की तरह मोबाइल फोन और आइसक्रीम से दूर रह रही हैं।

सिंधु ने जवाब दिया कि उन्हें अपने आहार का ध्यान रखना है और इसलिए वह ज्यादा आइसक्रीम नहीं खा रही है। मोदी ने इस पर कहा कि जब वह टोक्यो से लौटने के बाद पदक विजेताओं की मेजबानी करेंगे तो उन्हें आइसक्रीम खाने देंगे।

प्रधानमंत्री ने भालाफेंक एथलीट नीरज चोपड़ा, हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह, एथलीट दुती चंद, पांच बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम और निशानेबाज सौरभ चौधरी तथा एलावेनिल वलारीवान से भी चर्चा की।

टोक्यो ओलंपिक का आयोजन इस महीने 23 तारीख से होना है।

-- आईएएनएस

एसकेबी/जेएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 13 Jul 2021, 10:15:01 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.