News Nation Logo
Banner

वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की हार पर रो पड़े थे भुवनेश्वर कुमार

भारत ने क्रिकेट में दो वर्ल्ड कप जीते हैं एक कपिल देव की कप्तानी में साल 1983 में और दूसरी एम एस धोनी की कप्तानी में 2011 में भारत ने अपनी ही जमीन पर खिताब जीता. हालांकि पहला खिताब जीतने के बाद टीम इंडिया को 28 साल का लंबा इंतजार करना पड़ा था.

News Nation Bureau | Edited By : Ankit Pramod | Updated on: 05 Feb 2021, 01:38:52 PM
bhuvneshwar kumar

भुवनेश्वर कुमार (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  1. भुवनेश्वर का वर्ल्ड कप कनेक्शन
  2. क्यों रो पड़े थे भुवनेश्वर कुमार
  3. साल 1999 वर्ल्ड में भारतीय टीम न्यूजीलैंड से हारी थी

नई दिल्ली :

भारत ने क्रिकेट में दो वर्ल्ड कप जीते हैं एक कपिल देव की कप्तानी में साल 1983 में और दूसरी एम एस धोनी की कप्तानी में 2011 में भारत ने अपनी ही जमीन पर खिताब जीता. हालांकि पहला खिताब जीतने के बाद टीम इंडिया को 28 साल का लंबा इंतजार करना पड़ा था. साल 1999 के वर्ल्ड कप आपको याद होगा जब अजहरुद्दीन की कप्तानी में टीम इंडिया को इंग्लैंड में हो रहे 1999 के वर्ल्ड कप में हार का सामान करना पड़ा था. आपको जानकार हैरानी होगी कि उस वक्त टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भारत की हार से उदास हो गए थे और रो पड़े थे. 

यह भी पढ़ें : इरफान पठान ने पत्‍नी के साथ खिंचवाई फोटो, लेकिन नहीं दिखा चेहरा और फिर...

भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार चोट के कारण इन दिनों टीम से बाहर चल रहे हैं. भुवनेश्वर मैदान से बाहर होने के कारण क्रिकेट को काफी मिस कर रहे हैं. भुवी क्रिकेट को कितना पसंद करते हैं इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इंग्लैंड में 1999 में खेले गए विश्व कप में भारत को जब न्यूजीलैंड से हार मिली थी तो वह काफी रोने लग गए थे.

यह भी पढ़ें : चेन्नई टेस्ट : इंग्‍लैंड के कप्‍तान ने पूरा किया ये शतक, भारत में ही किया था डेब्‍यू 

शुक्रवार भुवनेश्वर ने कहा मुझे अब भी याद है कि मैं 1999 में भारत और न्यूजीलैंड के बीच विश्व कप मैच देख रहा था. मैं अपनी बहन के साथ यह मैच देख रहा था और जब हम हार गए, मैं बहुत रोया था. मैं उस पल को कभी नहीं भूल सकता, तभी मुझे महसूस हुआ कि मुझमें इस खेल के प्रति कितना उत्साह और जोश है. भुवनेश्वर को गली क्रिकेट खेलते हुए क्रिकेट के प्रति जुनून बढ़ाया हालांकि तब उन्हें पता नहीं था कि उनके अंदर तेज गेंदबाज बनने की क्षमता है. उन्होंने उस वाक्य को याद करते हुए एक अच्छे मेंटर के होने का महत्व बताया, जिन्होंने उन्हें सही राह दिखाई.

ये भी पढ़ें: जसप्रीत बुमराह भारत में खेल रहे हैं पहला टेस्‍ट, श्रीनाथ का रिकॉर्ड तोड़ा 

भुवनेश्वर को पिछले साल दो अक्टूबर को आईपीएल-2020 में चेन्नई सुपर के खिलाफ खेले गए मैच में जांघ में चेन्नई की पारी के 19वें ओवर के दौरान चोट लगी थी और वह केवल एक ही गेंद फेंकने के बाद मैदान से बाहर चले गए थे. भुवनेश्वर इसके बाद बेंगलुरु के राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में अपनी चोट से उबर रहे थे और वह रिहेबिलिटेशन पूरा कर रहे थे

(Ians के साथ)

First Published : 05 Feb 2021, 01:36:47 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.