News Nation Logo

सांसदों ने खोल दी पूरी पोल, फिर भी भारत की धमक मानने को तैयार नहीं पाकिस्तान

सादिक की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता जाहिद हफीज चौधरी ने कहा है कि विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई को लेकर पाकिस्तान पर कोई दबाव नहीं था.

By : Dalchand Kumar | Updated on: 30 Oct 2020, 09:24:35 AM
Pakistan PM Imran Khan

...तो अब भी भारत की धमक मानने को तैयार नहीं है पाकिस्तान (Photo Credit: फ़ाइल फोटो)

highlights

  • शीर्ष नेता की बातों पर पाकिस्तान की सफाई
  •  'अभिनंदन की रिहाई के लिए नहीं था कोई दबाव'
  • शांति के लिए यह​निर्णय लिया था- पाकिस्तान

इस्लामाबाद:

भारत का खौफ पाकिस्तान को कितना है यह तो अब वहां की आवाम ही नहीं, पूरी दुनिया ने देख लिया है और जान भी लिया है कि भारत से टकराएंगे तो दुनिया ही मिट जाएंगे. पाकिस्तान अब भारत का खौफ से कांप उठता है, दहल उठता है. भारत के नाम से पाकिस्तानी सेना प्रमुख के पैर हिलने लग जाते हैं, विदेश मंत्री कांपने लग जाते हैं. इमरान खान तो डर के मारे बाहर नहीं निकलते हैं. यह एक सच है और सच को अपनी जबां से पाकिस्तानी की असेंबली में उसी के सांसद बयां कर रहे हैं. इमरान के झूठ से पर्दा उठ चुका है, पाकिस्तान दुनिया में नंगा हो चुका है, मगर इसके बावजूद भी भारत की धमक मानने को पाकिस्तान तैयार नहीं है.

यह भी पढ़ें: इस्लामिक आतंक की चपेट में फ्रांस, चर्च का हमलावर कुरान लिए था

पाकिस्तानी की असेंबली में इमरान और उसके नुमांइदों की पोल खुली, जिसे सबने देखा. असेंबली में विपक्ष के एक शीर्ष नेता ने दुनिया को बताया कि कैसे भारत के खौफ से पाकिस्तान कांपने लगा और क्यों उसने भारतीय पायलट अभिनंदन को रिहा कर दिया. दो दिन पहले ही इस्लामाबाद में नेशनल असेंबली के पूर्व अध्यक्ष अयाज सादिक ने कहा था कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने देश पर भारत के हमले के डर से उच्चस्तरीय बैठक में पायलट को रिहा किये जाने का अनुरोध किया था. सादिक ने कहा था, 'पैर कांप रहे थे, माथे पर पसीना था और विदेश मंत्री (कुरैशी) ने हमसे कहा, अल्लाह के लिये उन्हें (अभिनंदन) अब वापस जाने दो, क्योंकि भारत रात 9 बजे पाकिस्तान पर हमला करने वाला है.'

पूर्व स्पीकर अयाज सादिक ने पाकिस्तान की असेंबली में इमरान सरकार की पूरी पोल खोल दी और वहां की सरकार को उस दिन के तनाव को याद दिलाया. मगर ये पाकिस्तान की सरकार है, जो सच को मानती नहीं और झूठ बोलने से बाज आती नहीं. पाकिस्तान का विदेश मंत्रालय अब अपने ही देश के शीर्ष नेताओं की बातों को झुठला रहा है. पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की रिहाई के लिए देश पर कोई दबाव नहीं था.

यह भी पढ़ें: 'आत्मनिर्भर भारत' में एक और कामयाबी, सेना ने तैयार किया अपना मोबाइल मैसेजिंग एप

सादिक की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता जाहिद हफीज चौधरी ने कहा है कि विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई को लेकर पाकिस्तान पर कोई दबाव नहीं था. प्रवक्ता ने अपने साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'पाकिस्तान सरकार ने यह ​निर्णय शांति के मद्देनजर लिया था और अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इस फैसले का स्वागत किया था.'

मालूम हो कि पाकिस्तान की सेना ने 37 साल के भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान को 27 फरवरी 2019 पकड़ लिया था. पाकिस्तान के फाइटर जेट को खदेड़ने के दौरान अभिनंदन का मिग-21 जेट विमान क्रैश हो गया था. हालांकि अभिनंदन बच गए, लेकिन वह पीओके में जाकर गिरे थे. यहां पाकिस्तानी सेना ने उन्हें पकड़ लिया था. जिसके बाद भारत ने पाकिस्तान पर इतना दबाव बना दिया कि आखिर में पाकिस्तान को भारतीय पायलट को छोड़ना ही पड़ा.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 30 Oct 2020, 09:24:35 AM

For all the Latest Specials News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.