News Nation Logo

Quinoa:ऐसे ही नहीं कहा जाता इसे सुपरफूड, डायबिटीज और ब्लड शुगर के लिए है रामबाण

Written By : विजय शंकर | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 04 Oct 2022, 06:38:41 PM
Quinoa

Quinoa (Photo Credit: File)

दिल्ली:  

Quinoa Superfood: यदि आप चावल और अन्य सामान्य रूप से खाए जाने वाले अनाज की जगह क्विनोआ का इस्तेमाल करें तो क्या होगा? एक हालिया अध्ययन से पता चलता है कि यह भोजन के बाद ब्लड शुगर (Blood Sugar) के स्तर को कम रखने में मदद करता है और संभवतः प्री-डायबिटिक रोगियों में मधुमेह (diabetes) बढ़ने से रोक सकता है. 65 वर्ष से अधिक आयु के 9 प्री-डायबिटिक रोगियों के एक छोटे से अध्ययन, जिन्होंने चार सप्ताह के लिए नियमित आहार और एक ही समय अवधि के लिए क्विनोआ आहार का पालन किया, में देखा गया कि जब उन्होंने क्विनोआ (Quinoa) आहार शुरू किया तो ब्लड शुगर (Blood Sugar) के स्तर में स्पाइक्स कम हो गए. हालांकि कैलोरी की खपत में ज्यादा बदलाव नहीं आया, लेकिन क्विनोआ आहार उपभोक्ताओं ने कम कार्बोहाइड्रेट का सेवन किया. उनका वजन, बॉडी मास इंडेक्स और कमर की परिधि भी इस अवधि के दौरान कम हो गई. 

प्रोटीन और फाइबर का अच्छा स्रोत है Quinoa

Quinoa वास्तव में एक प्रकार का खाद्य बीज है लेकिन इसे एक साबुत अनाज माना जाता है. हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के एक लेख के अनुसार, इसे प्लांट प्रोटीन और फाइबर का एक अच्छा स्रोत माना जाता है.  एक कप पके हुए क्विनोआ में लगभग 8 ग्राम प्रोटीन और 5 ग्राम फाइबर होता है. फोर्टिस सी-डॉक सेंटर फॉर डायबिटीज के चेयरमैन डॉ. अनूप मिश्रा ने कहा कि क्विनोआ मधुमेह (प्री-डायबिटीज) के जोखिम वाले लोगों और पहले से ही मधुमेह वाले लोगों के लिए एक स्वस्थ विकल्प है. उन्होंने कहा कि यह प्रोटीन और फाइबर की उच्च सामग्री है जो शर्करा के स्तर को नियंत्रण में रखने में मदद करता है.

ये भी पढ़ें : Coronavirus: भारत में 3300 से ज्यादा केस, सक्रिय मामले 37 हजार के पार

क्विनोआ का इस्तेमाल करने वाले लोगों में मृत्यु दर का जोखिम कम

शोधकर्ता यह भी कहते हैं कि क्विनोआ में फेनोलिक यौगिक प्रमुख एंजाइमों को रोक सकते हैं जो भोजन के बाद Blood sugar को कम करने में मदद कर सकते हैं." उन्होंने आगे कहा कि जर्नल न्यूट्रिएंट्स में प्रकाशित अध्ययन एक छोटा था और परिणामों को स्थापित करने के लिए लंबे अध्ययन की आवश्यकता थी. क्निोआ न केवल ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रण करता है बल्कि हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के पिछले अध्ययनों से यह भी पता चला है कि साबुत अनाज क्विनोआ (Quinoa) अकाल मृत्यु के जोखिम को कम कर सकता है. अध्ययन में पाया गया कि जो लोग 70 ग्राम प्रति दिन साबुत अनाज का सेवन करते हैं, उनकी तुलना में कम या कोई साबुत अनाज नहीं खाने वालों में कुल मृत्यु दर का 22 प्रतिशत कम जोखिम था. उनके हृदय रोग से मरने का जोखिम भी 23 प्रतिशत कम और कैंसर का 20 प्रतिशत कम था. 

क्विनोआ (Quinoa) कैसे बनाएं?

-क्विनोआ चावल की तरह ही पानी में उबाल कर पकाया जाता है. स्वाद के लिए मसाले और अन्य चीजों को मिलाया जा सकता है.
-दूध या पानी में पकाए गए क्विनोआ का उपयोग नाश्ते के अनाज के रूप में किया जा सकता है, जिसके ऊपर फल और मेवे डाले जाते हैं. 
-पके हुए क्विनोआ को सलाद में शामिल किया जा सकता है. 
-आप पॉप-कॉर्न की तरह ही क्विनोआ को भी पॉप कर सकते हैं. 

First Published : 04 Oct 2022, 05:05:39 PM

For all the Latest Specials News, Explainer News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.