News Nation Logo
Banner

Poha सिर्फ नाश्ता नहीं... Health के लिए है जादू का पिटारा, समझें

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 09 Oct 2022, 12:50:35 PM
Poha

पोहा सिर्फ ब्रेकफास्ट का विकल्प नहीं, बल्कि है स्वास्थ्यवर्धक डिश. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • पोहा को महज ब्रेकफास्ट का एक विकल्प मत समझिए
  • इसमें सेहत के लिहाज से छिपे हुए हैं कई अद्भुत गुण
  • वजन कम करने से लेकर शुगर, अनीमिया तक में लाभप्रद

नई दिल्ली:  

भारतीय व्यंजनों में पोहा बेहद लोकप्रिय डिश है, जो सामान्यतः ब्रेकफास्ट (Breakfast) के तौर पर लगभग समग्र भारत देश में खाया जाता है. पेट के लिए हल्का रहते हुए भी तमाम पोषक तत्वों और फाइबर (Fibre) से भरपूर पोहा स्वाद भी बेहतरीन देता है. यदि आप वजन कम करना चाहते हैं या तुरत-फुरत सुबह का नाश्ता बनाकर खाना चाहते हैं, तो पोहे से बेहतर विकल्प और कोई नहीं सूझता. पकाने में आसान पोहा (Poha) में प्रोटीन, फाइबर और शरीर के लिए जरूरी तमाम मैक्रो पोषक तत्व होते हैं. ऐसे में दिन की शुरुआत के लिए इससे बेहतर और कुछ नहीं.  समग्र देश की मांओं के लिए भी पोहा सुबह का सर्वश्रेष्ठ नाश्ता है, जो आसानी से बन जाता है. फिर भी दिन भर के लिहाज से शरीर को भरपूर ऊर्जा और प्रोटीन (Protein) की अच्छी-खासी मात्रा देता है. 

ब्लड प्रेशर रखता है नियंत्रित
फाइबर की अत्यधिक मात्रा होने से पोहा डायबिटीज से परेशान लोगों के लिए पोषण से भरपूर बेहतरीन विकल्प है. इसमें मौजूद फाइबर वास्तव में धीरे-धीरे लगातार रक्त वाहिकाओं में सीमित मात्रा में शुगर रिलीज करते हैं. ऐसे में ब्लड प्रेशर अचानक से बढ़ने नहीं पाता.

यह भी पढ़ेंः गुजरात का मोढेरा बनेगा देश का पहला सौर ऊर्जा संचालित गांव, जानें खूबियां

दिन भर रखता है ऊर्जावान
पोषक तत्वों के लिहाज से पोहा का अद्भुत संयोजन है, जो कार्बोहाइड्रेट का बेहद बढ़िया स्रोत है. पोहा में 76.9 फीसदी कार्बोहाइड्रेट और 23 प्रतिशत वसा पाई जाती है. इसके बावजूद पोहा शरीर में वसा को जमा नहीं होने देता और संबंधित शख्स को लंबे समय तक भूख का अहसास नहीं होने देता. साथ ही दिन भर की व्यस्तता से जूझने के लिए जरूरी ऊर्जा भी देता है. 

पोहा एक अच्छा प्रोबायोटिक
पोहा प्रोबायोटिक है, जो आंत के स्वास्थ्य के लिए बढ़िया खाद्य पदार्थ है. यह पहले धान को उबाल कर, फिर धूप में सुखाकर फर्मेंटेशन से पहले पीट-पीट कर चपटा बनाया जाता है. 

पचने में कहीं आसान
पोहा बेहद हल्का खाद्य पदार्थ है, जो सूजन या अपच का कारण नहीं बनता. यही वजह है कि पोहा पचने में आसान साबित होता है और इसे सुबह के नाश्ते के साथ-साथ शाम को भी खाया जा सकता है. 

यह भी पढ़ेंः  Nobel Peace Prize आखिर गांधी जी कभी क्यों नहीं मिला... बड़ा सवाल

पोहा में कैलोरी होती हैं कम
पोहा में कम कैलोरी की मात्रा इसे डाइट पर रहने वालों के लिए भी स्वास्थ्यवर्धक विकल्प बतौर प्रस्तुत करते हैं. स्वादिष्ट पोहा पोषक तत्वों से भरपूर होते हुए वजन कम करने का सही विकल्प है. एक कटोरा पोहा अपने में सिर्फ 250 कैलोरी ही समेटे होता है. 

आयरन और विटामिन बी का अच्छा स्रोत
पोहा में आयरन और विटामिन बी भरपूर होता है. यदि आप इसे अक्सर खाते हैं, तो शरीर में आयरन की कमी कभी नहीं होगी. यही नहीं, पोहा का सेवन एनीमिया से लड़ने में भी मददगार है. 

First Published : 09 Oct 2022, 12:48:58 PM

For all the Latest Specials News, Explainer News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.