News Nation Logo

अंतरिक्ष में खुलने जा रहा है होटल, जानिए कौन-कौन सी सुविधाएं मिलेंगी

ऑर्बिटल असेंबली कॉर्पोरेशन (ओएसी) ने इस परियोजना के बारे में कहा कि लगभग 400 लोगों को समायोजित करने के लिए डिजाइन किए गए इस 'स्पेस होटल' का निर्माण 2025 में शुरू होने वाला है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 04 Mar 2021, 11:07:06 AM
अंतरिक्ष में खुलने जा रहा है होटल, जानिए कौन-कौन सी सुविधाएं मिलेंगी

अंतरिक्ष में खुलने जा रहा है होटल, जानिए कौन-कौन सी सुविधाएं मिलेंगी (Photo Credit: Twitter Orbital Assembly Corporation)

highlights

  • ऑर्बिटल असेंबली कॉर्पोरेशन ने बनाई दुनिया का पहला स्पेस होटल बनाने की योजना 
  • कंपनी के मुताबिक इस स्पेस होटल का निर्माण 2025 में शुरू होने जा रहा है
  • थीम्ड रेस्तरां, लाउंज, मूवी थिएटर, कॉन्सर्ट वेन्यू, बार आदि सुविधाएं होंगी

सैन फ्रांसिस्को :

आप अगर अंतरिक्ष (Space) प्रेमी हैं, तो यह खबर आपके लिए एक 'गुड न्यूज' हो सकती है, क्योंकि अमेरिका स्थित अंतरिक्ष निर्माण कंपनी ऑर्बिटल असेंबली कॉर्पोरेशन (Orbital Assembly Corporation-OAC) इस दशक में दुनिया का पहला स्पेस होटल (World First Space Hotel) बनाने की योजना बना रहा है. कंपनी ने इस परियोजना के बारे में कहा कि लगभग 400 लोगों को समायोजित करने के लिए डिजाइन किए गए इस 'स्पेस होटल' का निर्माण 2025 में शुरू होने वाला है. स्पेस डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, इस 'स्पेस होटल' में थीम्ड रेस्तरां, लाउंज, मूवी थिएटर, कॉन्सर्ट वेन्यू से लेकर बार, लाइब्रेरी, जिम और हेल्थ स्पा की भी सुविधाएं रहेंगी. इस स्पेस स्टेशन को 'वॉयेजर स्टेशन' नाम दिया गया है. इसे कृत्रिम गुरुत्वाकर्षण के साथ संचालित करने का अनुमान है.

यह भी पढ़ें: NASA ने नए मंगल रोवर में इस्तेमाल की 1998 की Apple आईमैक चिप

रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी अब निजी निवेशकों को 0.25 डॉलर प्रति शेयर के हिसाब से कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने के लिए आमंत्रित कर रही है. इस स्पेस होटल में 20 मीटर लंबा और 12 मीटर चौड़ा 24 हैबिटेशन मॉड्यूल होंगे. कंपनी की योजना इस स्पेस होटल को 2027 तक पृथ्वी की लो-ऑर्बिट में बनाने की है. यह एक घूमने वाला स्पेस स्टेशन होगा, जिसके रोटेशन की गति बढ़ाया या कम किया जा सकता है.

माइक्रोसॉफ्ट ने चीन के साइबर हमले के खिलाफ ग्राहकों को चेताया

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने ग्राहकों को एक नए सोफिस्केटेड नेशन-स्टेट साइबर हमले के खिलाफ आगाह किया है, जिसका मूल चीन में है और मुख्य रूप से दिगग्ज टेक कंपनी के 'एक्सचेंज सर्वर' सॉफ्टवेयर को निशाना बना रहा है। इसे 'हाफनियम' कहा जा रहा है, यह चीन से संचालित होता है और एक्सफिलट्रेटिंग की सूचना के लिए अमेरिका में एनजीओ, संक्रामक रोग शोधकर्ताओं, कानून फर्मों, उच्च शिक्षा संस्थानों, रक्षा ठेकेदारों, पॉलिसी थिंक टैंकों पर हमला कर रहा है. माइक्रोसॉफ्ट के कॉर्पोरेट वाइस प्रेसीडेंट (कस्टमर सिक्योरिटी, ट्रस्ट) टॉम बर्ट ने कहा, "जबकि हाफनियम चीन से है, यह मुख्य रूप से अमेरिका में लीज्ड वर्चुअल प्राइवेट सर्वर (वीपीएस) से अपने ऑपरेशन का संचालन करता है.

यह भी पढ़ें: चीन दुनिया का पहला रेडार कार्बन डाइऑक्साइड उपग्रह लॉन्च करेगा

एक्सचेंज सर्वर चलाने वाले ग्राहकों की सुरक्षा के लिए कंपनी ने सुरक्षा अपडेट जारी किए हैं, और सभी एक्सचेंज सर्वर ग्राहकों को इन अपडेट को तुरंत लागू करने के लिए प्रोत्साहित करती है. पिछले 12 महीनों में यह आठवीं बार है जब माइक्रोसॉफ्ट ने सार्वजनिक रूप से सिविल सोसाइटी के लिए महत्वपूर्ण संस्थानों को निशाना बनाने वाले नेशन-स्टेट ग्रुप्स का खुलासा किया है. बर्ट ने कहा कि हमने जो अन्य गतिविधि का खुलासा किया है, उसमें कोविड-19 से लड़ने वाले स्वास्थ्य संगठनों, राजनीतिक अभियानों और 2020 के चुनावों में शामिल अन्य, और प्रमुख नीति निर्धारक सम्मेलनों में शामिल होने वाले हाईप्रोफाइल लोगों को निशाना बनाए जाने के बारे में है. (इनपुट आईएएनएस)

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 04 Mar 2021, 11:05:38 AM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.