News Nation Logo
Banner

स्पेसएक्स के स्टारशिप रॉकेट ने की सफल लैंडिंग, लेकिन कुछ ही देर में हुआ धमाका

एलन मस्क (Elon Musk) ने इसकी सफल लैंडिंग का जश्न मनाते हुए ट्वीट किया था कि स्टारशिप एसएन10 पहली बार में ही सफलतापूर्वक लैंड हो गया. हालांकि रॉकेट में विस्फोट होने के बाद उन्होंने इस पर दुख जताते हुए इसके लिए ट्वीट कर आरआईपी भी लिखा.

IANS | Updated on: 04 Mar 2021, 12:36:39 PM
SpaceX Starship Rocket

SpaceX Starship Rocket (Photo Credit: Twitter SpaceX)

highlights

  • स्पेसएक्स के मुताबिक, एसएन10 को टेक्सास के बोला चिका से लॉन्च किया गया था
  • 6 मील की ऊंचाई तक भी गया, लेकिन धरती पर उतरने के 10 मिनट बाद धमाका हो गया

सैन फ्रांसिस्को :

एलन मस्क (Elon Musk) की कंपनी स्पेसएक्स (Space X) द्वारा निर्मित अत्याधुनिक और भारी-भरकम रॉकेट स्टारशिप (SpaceX Starship Rocket) ने पहली बार अपनी उड़ान भरी. यह हवा में 6 मील की ऊंचाई तक भी गया, लेकिन धरती पर उतरने के 10 मिनट बाद इसमें जोरदार धमाका हुआ और रॉकेट में आग लग गई. मस्क ने गुरुवार को इसकी सफल लैंडिंग का जश्न मनाते हुए ट्वीट किया था कि स्टारशिप एसएन10 पहली बार में ही सफलतापूर्वक लैंड हो गया. हालांकि रॉकेट में विस्फोट होने के बाद उन्होंने इस पर दुख जताते हुए इसके लिए ट्वीट कर 'आरआईपी' भी लिखा. स्पेसएक्स के मुताबिक, एसएन10 को टेक्सास के बोला चिका से लॉन्च किया गया था. इसे प्रक्षेपित किए जाने का मकसद कम्प्यूटर द्वारा नियंत्रित रॉकेट के चार वायुगतिकीय फ्लैप्स की गतिविधि पर नजर रखना था क्योंकि इससे पहले कंपनी द्वारा बनाए गए रॉकेट एएसएन8 और एसएन9 में लैंड करने के दौरान ही विस्फोट हो गया था.

यह भी पढ़ें: अंतरिक्ष में खुलने जा रहा है होटल, जानिए कौन-कौन सी सुविधाएं मिलेंगी

स्टारशिप मंगलग्रह पर इंसानी बस्ती बसाने की एक महत्वाकांक्षी योजना है. कंपनी सही डिजाइन का पता लगाने के लिए कई अलग-अलग तरह के प्रोटोटाइप पर काम कर रही है, जो कि इंसानों को मंगल ग्रह तक आराम से पहुंचा सके.

स्टारलिंक इंटरनेट सेवा के लिए भारत के कुछ क्षेत्रों सहित दुनियाभर के कई स्थानों के लिए प्री-बुकिंग शुरू

एलन मस्क (Elon Musk) के स्वामित्व वाली स्पेसएक्स (Space X) की स्टारलिंक इंटरनेट (Starlink Internet) सेवा के लिए भारत के कुछ क्षेत्रों सहित दुनियाभर के कई स्थानों के लिए प्री-बुकिंग शुरू हो गई है. स्टारलिंक ने खुलासा किया है कि यह 2022 तक भारत में कई क्षेत्रों में कवरेज को लक्षित कर रहा है. इन क्षेत्रों के लिए प्री-बुकिंग 99 डॉलर में की जा सकती है और यह राशि रिफंडेबल होगी. स्टारलिंक ने अपनी वेबसाइट पर कहा कि उपलब्धता सीमित है. ऑर्डर पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर पूरे किए जाएंगे. भारत में जिन क्षेत्रों के लिए प्री-बुकिंग उपलब्ध है, उनमें गुजरात से इंडिया कॉलोनी आरडी, बापूनगर और अहमदाबाद शामिल हैं. इसके अलावा इंडियन कॉफी हाउस रोड, इंदौर, मध्य प्रदेश के लिए भी बुकिंग शुरू हो चुकी है.

यह भी पढ़ें: NASA ने नए मंगल रोवर में इस्तेमाल की 1998 की Apple आईमैक चिप

50 से 150 एमबीपीएस के बीच स्पीड का वादा करती है स्पेसएक्स
मस्क ने पिछले महीने कहा था कि उनकी स्टारलिंक उपग्रह-आधारित (सैटेलाइट बेस्ड) इंटरनेट सेवा की इंटरनेट गति, जिसका उद्देश्य दुनियाभर के दूरदराज के क्षेत्रों में लाखों लोगों के लिए सस्ता इंटरनेट उपलब्ध कराना है, इस वर्ष दोगुनी होकर 300 एमबीपीएस हो जाएगी. कंपनी वर्तमान में स्टारलिंक परियोजना के लिए 50 से 150 एमबीपीएस के बीच गति का वादा करती है, जो लगभग 12,000 उपग्रहों के नेटवर्क के माध्यम से उच्च गति इंटरनेट देने की योजना बना रही है। इसने पहले ही अपने 1,000 से अधिक स्टारलिंक उपग्रहों को कक्षा में स्थापित कर दिया है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 04 Mar 2021, 12:35:34 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.