News Nation Logo

Pixxel ने पहले हाइपरस्पेक्ट्रल सैटेलाइट को लॉन्च करने के लिए जुटाए 53 करोड़ रुपये

बेंगलुरू में स्थित Pixxel कंपनी ने यह भी कहा कि इसकी पहली हाइपरस्पेक्ट्रल सैटेलाइट अगले कुछ महीनों के भीतर लॉन्च होगी. कंपनी की योजना 22 दिसंबर तक अंतरिक्ष में कुल 30 उपग्रहों को भेजने की है.

IANS | Updated on: 19 Mar 2021, 07:26:16 AM
Satellite

Satellite (Photo Credit: IANS )

highlights

  • कंपनी ने कहा कि पहली हाइपरस्पेक्ट्रल सैटेलाइट अगले कुछ महीनों के भीतर लॉन्च होगी
  • पिक्सल (Pixxel) की योजना 22 दिसंबर तक अंतरिक्ष में कुल 30 उपग्रहों को भेजने की है

बेंगलुरू :

भारतीय अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी स्टार्टअप कंपनी पिक्सल (Pixxel) ने ओम्नीवोर और टेकस्टार्स से करीब 53 करोड़ रुपये एकत्रित करने का ऐलान किया है. अब लाइटस्पीड वेंचर्स, ब्लूम वेंचर्स, ग्रो एक्स, रयान जॉनसन सहित अन्य निवेशकों की सूची में ये भी शामिल हो गए हैं. बेंगलुरू में स्थित इस कंपनी ने यह भी कहा कि इसकी पहली हाइपरस्पेक्ट्रल सैटेलाइट अगले कुछ महीनों के भीतर लॉन्च होगी. कंपनी की योजना 22 दिसंबर तक अंतरिक्ष में कुल 30 उपग्रहों को भेजने की है. पिक्सल के सीईओ अवस अहमद ने कहा कि यह नई फंडिंग दुनिया के सबसे आधुनिक हाइपरस्पेक्ट्रल स्मॉल-सैटेलाइट के माध्यम से धरती के लिए एक हेल्थ मॉनिटर तैयार करने में हमें सक्षम बनाती है. इसकी मदद से हम धरती की कुछ बेहद ही बेहतरीन और बारीक तस्वीरें लेने में सक्षम हो सकेंगे.

यह भी पढ़ें: मंगल ग्रह की पपड़ी में खनिजों के बीच फंसा हुआ है पर्याप्त पानी

आम मल्टीस्पेक्ट्रल उपग्रहों की तुलना में पिक्सल की हाइपरस्पेक्ट्रल अर्थ-इमेजिंग उपग्रह पृथ्वी से परावर्तित रोशनी को अवशोषित कर 50 गुना कहीं अधिक जानकारी सिर्फ लाल, हरे और नीले रंग में ही नहीं बल्कि और बारीकी से भेजेगी. इससे आगे चलकर कृषि, उर्जा और पर्यावरण संरक्षण से संबंधित कठिन मुद्दों को बेहतर ढंग से समझा जा सकेगा और इन्हें सुलझाने के उपाय किए जा सकेंगे.

डेल ने डेटा डीकोड में मदद के लिए 17 अगली पीढ़ी के सर्वर लॉन्च किए

डेल टेक्नोलॉजीज ने 17 अगली पीढ़ी (नेक्स्ट जनरेशन) के सर्वर के साथ अपने पॉवरएज सर्वर पोर्टफोलियो को रिफ्रेश करने की घोषणा की, जो कंपनियों को कहीं से भी डेटा का विश्लेषण करने और कार्रवाई करने में मदद करेगा. कंपनी ने एक बयान में कहा कि डेल-ईएमसी पावरएज सर्वर और सिस्टम प्रबंधन औसतन 85 प्रतिशत समय की बचत प्रदान कर सकते हैं और स्वचालन के दर्जनों चरणों को समाप्त कर सकते हैं. दूरस्थ कार्य संस्कृति (रिमोट वर्किं ग कल्चर) के कारण डेटा की मात्रा में भारी वृद्धि हुई है, जो संगठनों के लिए एक सतत चुनौती के तौर पर उभरी है.

यह भी पढ़ें: अमेरिका में Apple Maps बताएगा कोविड टीकाकरण की लोकेशन

डेल टेक्नोलॉजीज इंडिया में इन्फ्रास्ट्रक्च र सॉल्यूशंस ग्रुप के सीनियर डायरेक्टर और जीएम मनीष गुप्ता ने कहा, "यह समाधान संगठनों को एक विविध पोर्टफोलियो प्रदान करेगा, जो उन्हें कंप्यूटिंग शक्ति को अपने डेटा के करीब लाने, तेज गति से गहन विश्लेषण करने और जरूरत पड़ने पर इसकी डिजिटल परिवर्तन यात्रा को सशक्त बनाने की अनुमति देगा. एआई-ऑप्टिमाइज्ड पावरएज सर्वर में अब पीसीआई जनरेशन 4.0 की सुविधा दी गई है. डेल टेक्नोलॉजीज इंडिया में चैनल्स के उपाध्यक्ष जीएम अनिल सेठी ने कहा, "डेल ईएमसी पॉवरएज सर्वर पोर्टफोलियो के लॉन्च के साथ, न केवल हम एज में आईटी की मांगों की फिर से कल्पना कर रहे हैं, बल्कि उभरती प्रौद्योगिकियों की मदद से अपने ग्राहकों को सशक्त बना रहे हैं, ताकि वे अपने लक्ष्यों को अधिक तेज गति से प्राप्त कर सकें.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 19 Mar 2021, 07:26:16 AM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.