News Nation Logo
Banner

भारत ने एंटी-रेडिएशन मिसाइल 'रूद्रम' का लड़ाकू विमान सुखोई-30 से सफल परीक्षण किया

इस मिसाइल की खूबी यह है कि यह किसी भी तरह के सिग्नल और रेडिएशन को पकड़ सकती है तथा उसे अपनी रडार में लाकर ये मिसाइल नष्ट कर सकती है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 09 Oct 2020, 02:40:17 PM
Sukhoi

एंटी-रेडिएशन मिसाइल 'रूद्रम' का लड़ाकू विमान सुखोई-30 से सफल परीक्षण (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने एक और बड़ी कामयाबी मिली है. भारत ने एंटी-रेडिएशन मिसाइल 'रूद्रम' का लड़ाकू विमान सुखोई-30 से सफल परीक्षण किया है. डीआरडीओ ने एंटी रेडिएशन मिसाइल 'रुद्रम' को बनाया है. मिसाइल का परीक्षण पूर्वी तट पर किया गया. देश में विकसित यह अपने आप में ऐसी पहली मिसाइल है, जिसे किसी भी ऊंचाई से दागा जा सकता है. इस मिसाइल की खूबी यह है कि यह किसी भी तरह के सिग्नल और रेडिएशन को पकड़ सकती है तथा उसे अपनी रडार में लाकर ये मिसाइल नष्ट कर सकती है.

यह भी पढ़ें: सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का सफल परीक्षण, 400 किमी के दायर में दुश्मन को कर देगी ढेर

इस मिसाइल का अभी डेवलेपमेंट ट्रायल में चल रहा है. मगर ट्रायल पूरे होने के बाद जल्दी ही इस मिसाइल को सुखोई और स्वदेशी विमान तेजस में इस्तेमाल किया जा सकेगा, जिससे इन विमानों की ताकत में और इजाफा हो जाएगा. मिसाइल 'रुद्रम' की लंबाई 5.5 मीटर है और इसका वजन 140 किलो है. यह मिसाइल काफी हद तक 'अस्त्र' मिसाइल से मिलती जुलती है.

इससे पहले भारत ने देश में विकसित 'सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड रिलीज ऑफ टॉरपीडो' (स्मार्ट) प्रणाली का सोमवार को ओडिशा अपतटीय क्षेत्र स्थित एक परीक्षण केंद्र से सफल प्रायोगिक परीक्षण किया था. 'स्मार्ट' प्रणाली पनडुब्बी विध्वंसक अभियानों के लिए हल्के वजन की टॉरपीडो प्रणाली है. आधिकारिक बयान में कहा गया कि यह परीक्षण और प्रदर्शन पनडुब्बी रोधी क्षमता स्थापित करने में काफी महत्वपूर्ण है.

यह भी पढ़ें: भारत ने किया देश में विकसित Prithvi मिसाइल का सफल परीक्षण

निशाने और ऊंचाई तक मिसाइल की उड़ान, टॉरपीडो के निकलने, गति नियंत्रक तंत्र (वीआरएम) सहित 'स्मार्ट' के सभी उद्देश्य पूरी तरह प्राप्त कर लिए गए. रडारों और तट के पास स्थित इलेक्ट्रो ऑप्टिकल प्रणालियों, 'टेलीमेट्री' स्टेशनों और पोतों पर तैनात निगरानी प्रणालियों से 'स्मार्ट' के समूचे परीक्षण पर नजर रखी गई. भारत ने ‘स्मार्ट’ के परीक्षण से पहले शनिवार को देश में विकसित एवं एक हजार किलोमीटर की दूरी तक मार करनेवाली परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम हाइपरसोनिक मिसाइल ‘शौर्य’ का सफल परीक्षण किया था. 

First Published : 09 Oct 2020, 02:40:17 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो