News Nation Logo

महज 1,160 रुपये के लिए आपके SMS तक पहुंच सकते हैं हैकर्स

मदरबोर्ड की रिपोर्ट में कहा गया है कि एसएमएस पुनर्निर्देशन सेवाएं प्रदान करने वाली कंपनियों पर अदृश्य साइबर हमला कथित तौर पर दूरसंचार कंपनियों के वर्कर्स के साथ मिलकर किया जा रहा है.

IANS | Updated on: 17 Mar 2021, 07:44:34 AM
हैकर्स (Hackers)

हैकर्स (Hackers) (Photo Credit: IANS)

highlights

  • अदृश्य साइबर हमला कथित तौर पर दूरसंचार कंपनियों के वर्कर्स के साथ मिलकर किया जा रहा है: मदरबोर्ड रिपोर्ट
  • हमलावर न केवल आने वाले टेक्स्ट संदेशों को बाधित करने में सक्षम हैं, बल्कि वे इसका जवाब भी दे सकते हैं

नई दिल्ली :

टेक्स्ट-मैसेजिंग मैनेजमेंट सर्विस का दुरुपयोग हो रहा है, जो स्मार्टफोन यूजर्स (Smartphone Users) को एक नई गोपनीयता और सुरक्षा जोखिम में डाल सकता है. अब महज 1,160 रुपये (लगभग 16 डॉलर) के लिए टेक्स्ट-मैसेजिंग प्रबंधन सेवाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है और यह यूजर्स से हैकर्स (Hackers) को टेक्स्ट मैसेज को पुनर्निर्देशित करने के साथ साइबर अपराधियों को दो-फैक्टर कोड्स/लॉगिन एसएमएस तक पहुंच प्रदान करता है. मदरबोर्ड की रिपोर्ट में कहा गया है कि एसएमएस पुनर्निर्देशन सेवाएं प्रदान करने वाली कंपनियों पर अदृश्य साइबर हमला कथित तौर पर दूरसंचार कंपनियों के वर्कर्स के साथ मिलकर किया जा रहा है. रिपोर्ट में सोमवार देर रात कहा गया कि हमले की विधि या तरीका ऐसा रहा, जिसे पहले रिपोर्ट नहीं किया गया है या विस्तार से नहीं देखा गया है, साइबर क्राइम के लिए निहितार्थ हैं, जहां अपराधी अक्सर उन्हें परेशान करने के लिए, उनके बैंक खाते से निकासी कर ली जाती है.

यह भी पढ़ें: भारत मे पहली बार हाइड्रोजन से बिजली बनाने का अविष्कार, जानें कहा हुआ

इन सेवाओं का उपयोग करते हुए, हमलावर न केवल आने वाले टेक्स्ट संदेशों को बाधित करने में सक्षम हैं, बल्कि वे इसका जवाब भी दे सकते हैं. अमेरिकी सीनेटर रॉन विडेन ने एक बयान में इस तरह के खतरे को लेकर चिंता जाहिर की है. उन्होंने माना कि इस तरह के हमले को लेकर सुरक्षा के मामले में भारी खतरा लाजिमी है. एसएमएस सेवाओं के दोहन के लिए कई अन्य तरीके हैं और उनमें से सिम स्वैपिंग एक है, लेकिन सिम स्वैपिंग के साथ, यह पता लगाना आसान है कि आप पर हमला हो रहा है, क्योंकि आपका डिवाइस सेलुलर नेटवर्क से पूरी तरह से डिस्कनेक्ट हो जाएगा.

हालांकि, एसएमएस पुनर्निर्देशन के साथ, आप साइबर हमले को बहुत बाद में नोटिस कर पाते हैं और उस समय तक हैकर्स आपके खाते और व्यक्तिगत-वित्तीय डेटा में सेंधमारी करने में सक्षम होते हैं. रिपोर्ट में हिदायत देते हुए कहा गया है कि गूगल प्रमाणक एप का उपयोग करना ही बेहतर है.

यह भी पढ़ें: वैज्ञानिकों ने गतिशील सुपरमैसिव ब्लैक होल (Supermassive Black Hole) की खोज की

ट्विटर पर ऑथेन्टिकेशन मेथड के रूप में सुरक्षा कुंजी का हो सकेगा इस्तेमाल

ट्विटर ने इस बात का ऐलान किया है कि लोग जल्द ही सुरक्षा कुंजी या सिक्योरिटी कीज का इस्तेमाल कर पाएंगे, लेकिन सिर्फ प्रमाणीकरण विधि के रूप में. माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ने कहा है कि अब सिर्फ एक नहीं कई सुरक्षा कुंजियों का उपयोग किया जा सकेगा. फिलहाल साइन इन करने के लिए ट्विटर यूजर्स एक सिक्योरिटी कुंजी का इस्तेमाल कर सकते हैं और दूसरे टू-फैक्टर ऑथेन्टिकेशन मेथड के रूप में ऑथेन्टिकेटर ऐप या एसएमएस कोड की जरूरत होती है. कंपनी ने सोमवार को देर रात एक ट्वीट कर कहा कि कई सुरक्षा कुंजियों के लिए अपने अकाउंट को सुरक्षित रखें. अब आप मोबाइल और वेब दोनों पर एक सुरक्षा कुंजी के मुकाबले कई का उपयोग कर लॉग इन कर सकते हैं. सिक्योरिटी या सुरक्षा कुंजी, फिजिकल कीज होते हैं, जिन्हें यूएसबी या ब्लूटूथ की मदद से कनेक्ट किया जाता है. इन्हें ऑनलाइन सोशल मीडिया अकाउंट्स को प्रोटेक्ट करने के लिए अधिक सुरक्षित तरीके से बनाया गया है. दो-कारक प्रमाणीकरण ट्विटर खाते के लिए सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 17 Mar 2021, 07:44:34 AM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.