News Nation Logo
Banner

पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है विशालकाय एस्टेरॉयड, आज की रात है कई दुर्लभ संयोग

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सितंबर में आम चलन से हटकर ज्यादा उल्कापात होने की आशंका जताई जा रही है. वहीं दूसरी ओर शुक्र ग्रह सर्वाधिक चमक नव अर्द्धचंद्र के सबसे ज्यादा पास पहुंचकर बिखेरने जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 09 Sep 2021, 09:04:51 AM
Space Latest News

Space Latest News (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • एक बहुत बड़ा एस्टेरॉयड पृथ्वी की कक्षा में चांद से बेहद कम दूरी पर आने वाला है
  • शुक्र ग्रह सर्वाधिक चमक नव अर्द्धचंद्र के सबसे ज्यादा पास पहुंचकर बिखेरने जा रहा है

नई दिल्ली :

Space Latest News: आज यानी गुरुवार (9 सितंबर 2021) की रात में अंतरिक्ष में अनोखी घटनाएं एक साथ घटित होने वाली हैं. सैकड़ों वर्षों में भी यह संयोग नहीं बन पाता है. दरअसल, एक बहुत बड़ा एस्टेरॉयड (Asteroid) पृथ्वी की कक्षा में चांद (Asteroid Close To Earth) से बेहद कम दूरी पर आने वाला है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सितंबर में आम चलन से हटकर ज्यादा उल्कापात (Meteoroid) होने की आशंका जताई जा रही है. वहीं दूसरी ओर शुक्र ग्रह सर्वाधिक चमक नव अर्द्धचंद्र के सबसे ज्यादा पास पहुंचकर बिखेरने जा रहा है. इन तीनों ही घटनाओं से आज की रात बेहद दुर्लभ बनने जा रही है. 

यह भी पढ़ें: फायरफ्लाइ का पहला रॉकेट प्रक्षेपण इंजन बंद हो जाने के कारण विफल रहा

68400 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है एस्टेरॉयड
बता दें कि एस्टेरॉयड पृथ्वी के पास आते ही रहते हैं. हालांकि इनकी दूरी सामान्तया पृथ्वी और चांद के बीच की दूरी से दस गुना तक या फिर इससे भी ज्यादा ही होती है. क्या आपने कभी ऐसा सुना है कि कोई एस्टेरॉयड चंद्रमा की जितनी दूरी तक आया हुआ है? नहीं ना लेकिन आज रात यह होने जा रहा है. आरजे 53 नाम का 774 मीटर आकार का बहुत विशाल क्षुद्रग्रह 68400 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी से सिर्फ 3 लाख 66 हजार किमी की दूरी पर या 3 लाख 84 हजार किलोमीटर दूर स्थित चंद्रमा से कम दूरी तक पृथ्वी के करीब आ जाएगा. आपको बता दें कि खगोलीय दूरियों को चंद्र इकाई, सौर इकाई या प्रकाश वर्ष जैसी इकाइयों में मापा जाता है. ऐसे में यह दूरी काफी कम है या फिर कहें कि यह एस्टेरॉयड धरती के बेहद करीब से होकर गुजर जाएगा. 

यह भी पढ़ें: चीन ने मंगल मिशन के लिए प्रोटोटाइप ड्रोन को किया विकसित

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) ने इस एस्टेरॉयड को इसकी बेहद तेज रफ्तार, विशाल आकार और पृथवी से बेहद करीब होने की वजह से खतरनाक श्रेणी में रखा हुआ है. आपको बता दें सितंबर के महीने में आमतौर पर उल्कापात नहीं होता है. हालांकि इस साल इन दिनों में परसीड उल्कापात हो रहा है और यह परसियस तारा समूह की दिशा से आ रहा है. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक आज की रात यानी 9 सितंबर की रात में चंद्रमा और शुक्र कोणीय रूप से एक दूसरे के सबसे नजदीक होंगे. वहीं शुक्र के क्रेसेंट मून (नव अर्द्धचंद्र)  के ज्यादा पास होने से खूबसूरत नजारे दिखाई देने वाले हैं. इसके अलावा शुक्र ग्रह भी आज रात सबसे ज्यादा चमकीला दिखाई पड़ने वाला है.

First Published : 09 Sep 2021, 09:03:43 AM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.