News Nation Logo

BREAKING

PSLV रॉकेट के सबसे लंबे अभियानों में से एक की उल्टी गिनती शुरू

2021 में भारत का यह पहला अंतरिक्ष अभियान पीएसएलवी रॉकेट के लिए काफी लंबा होगा क्योंकि इसके उड़ान की समय सीमा 1 घंटा, 55 मिनट और 7 सेकेंड की होगी.

IANS/News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 27 Feb 2021, 12:43:17 PM
PSLV Satellite

काउंटडाउन की शुरुआत सुबह 8.54 से हो चुकी है. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • पीएसएलवी-सी51 पीएसएलवी का 53वां मिशन
  • उड़ान की समय सीमा 1 घंटा, 55 मिनट 7 सेकेंड
  • काउंटडाउन की शुरुआत शनिवार से सुबह 8.54 से

श्री हरिकोटा:

भारत के ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (PSLV) द्वारा रविवार को सुबह 19 उपग्रह अंतरिक्ष में भेजे जाएंगे. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी सूचना देते हुए कहा कि शनिवार सुबह 8.54 बजे से इसके लॉन्च होने की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है. भारतीय रॉकेट पीएसएलवी-सी51 को रविवार सुबह 10.24 मिनट पर आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर (एसडीएससी) से एक लांच पैड के सहारे रवाना किया जाएगा. इस रॉकेट में 637 किलो के ब्राजीलियाई उपग्रह अमेजोनिया-1 सहित 18 अन्य सैटेलाइट्स भी अंतरिक्ष में भेजे जा रहे हैं. इनमें से 13 अमेरिका से हैं.

रविवार को प्रक्षेपण, काउंट डाउन शनिवार से शुरू
ईसरो के अध्यक्ष के सिवान ने बताया, 'कल सुबह 10.24 मिनट पर रॉकेट के लांच होने के काउंटडाउन की शुरुआत सुबह 8.54 से हो चुकी है.' साल 2021 में भारत का यह पहला अंतरिक्ष अभियान पीएसएलवी रॉकेट के लिए काफी लंबा होगा क्योंकि इसके उड़ान की समय सीमा 1 घंटा, 55 मिनट और 7 सेकेंड की होगी. अगर रविवार सुबह रॉकेट की लांच ठीकठाक से हो जाती है, तो भारत की तरफ से लांच किए गए विदेश सैटेलाइट की कुल संख्या 342 हो जाएगी.

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस में बगावत, 'उत्तर-दक्षिण' बयान पर जी-23 का धमाका जम्मू में संभव!

सबसे लंबी दूरी तय करेगा पीएसएलवी का रॉकेट
ईसरो ने कहा कि अमेजोनिया-1 उपग्रह की मदद से अमेजन क्षेत्र में वनों की कटाई और ब्राजील में कृषि क्षेत्र से संबंधित अलग-अलग विश्लेषणों के लिए यूजर्स को रिमोट सेंसिंग डेटा प्रदान कर मौजूदा संरचना को और भी मजबूत बनाने का काम किया जाएगा. 18 अन्य सैटेलाइट्स में से चार इन-स्पेस से हैं. इनमें से तीन भारतीय शैक्षणिक संस्थानों के संघ यूनिटीसैट्स से हैं, जिनमें श्रीपेरंबदुर में स्थित जेप्पिआर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, नागपुर में स्थित जीएच रायसोनी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग और कोयंबटूर में स्थित श्री शक्ति इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी शामिल हैं. एक का निर्माण सतीश धवन सैटेलाइट स्पेस किड्ज इंडिया द्वारा किया गया है और 14 एनएसआईएल से हैं.

यह भी पढ़ेंः मुकेश अंबानी विस्फोटक केस में मिला स्कॉर्पियो लाने वाले का सुराग

  • कुछ महत्वपूर्ण बातें
    पीएसएलवी-सी51 पीएसएलवी का 53वां मिशन है
  • इस रॉकेट के जरिए ब्राजील के अमेजोनिया-1 उपग्रह के साथ 18 अन्य उपग्रह भी अंतरिक्ष में भेजे जाएंगे
  • रॉकेट को प्रक्षेपित करने का समय 28 फरवरी सुबह 10 बजकर 24 मिनट है जो मौसम की स्थिति पर निर्भर करता है
  • उल्टी गिनती शनिवार को सुबह आठ बजकर 54 मिनट पर शुरू हो गई
  • पीएसएलवी  सी51/अमेजोनिया-1 इसरो की वाणिज्य इकाई एनएसआईएल का पहला समर्पित वाणिज्यिक मिशन है
  • अमेजोनिया-1 अमेज़न क्षेत्र में वनों की कटाई की निगरानी और ब्राजील के क्षेत्र में विविध कृषि के विश्लेषण के लिए उपयोगकर्ताओं को दूरस्थ संवेदी आंकड़े मुहैया कराएगा

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 27 Feb 2021, 12:40:49 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो