logo-image
लोकसभा चुनाव

आकाशगंगा में सेंधमारी करते हुए पकड़े गए एलियंस, वैज्ञानिकों ने लगाए चोरी के गंभीर आरोप!

क्या सच में हमारी आकाश गंगा में एलियंस घुस रहे हैं, जो अपने आप में हैरान करने वाली बात है. एलियंस के इस दावे के पीछे क्या है सच्चाई?

Updated on: 24 May 2024, 10:02 AM

नई दिल्ली:

पृथ्वी पर मनुष्य का जीवन इसलिए आसान है क्योंकि यहां पानी, ऑक्सीजन और सूर्य की किरणें समान रूप से उपलब्ध हैं. धरती पर किसी भी इंसान या जानवरों के लिए ये सभी महत्वपूर्ण स्रोत हैं. इनमें सूर्य आग के गोले की तरह आता है और उसकी किरणें सामान्यतः पृथ्वी पर पड़ती हैं. यह इंसानों के लिए महत्वपूर्ण है. अब, जैसे सूर्य ऊर्जा उत्सर्जित करता है, आकाशगंगा के लाखों तारे भी ऐसा ही करते हैं. हालांकि हम उनकी ऊर्जा का उपयोग करने में सक्षम नहीं हैं क्योंकि हम अभी तक इतने विकसित नहीं हुए हैं कि उनकी ऊर्जा का उपयोग कर सकें, लेकिन अगर हम आपसे कहें कि एलियंस इंसानों से बहुत आगे हैं, तो क्या आप इस पर विश्वास करेंगे?

क्या सच में एलियंस चुरा रहे हैं पावर?

क्योंकि दावा किया गया है कि एलियंस तारों से ऊर्जा निकाल रहे हैं. वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि एलियंस ने आकाशगंगा में एंट्री मार दी है. वे सभी आकाशगंगा से पावर चुरा रहे हैं. वैज्ञानिकों ने लंबे समय से मिल्की वे आकाशगंगा में एक एलियन पावर प्लांट की खोज करने का दावा किया है. न्यूरल नेटवर्क एल्गोरिदम की मदद से आकाशगंगा में लाखों तारों का सर्वेक्षण किया गया है, जिसमें 60 तारे ऐसे पाए गए हैं जो एक बड़े एलियन पावर प्लांट से घिरे हुए हैं.

ये भी पढ़ें- चंद्रमा की सतह पर दिखा अजीबोगरीब यान, NASA के दफ्तर में मचा हड़कंप

दावे करने वाले ये रिपोर्ट्स 

खगोलशास्त्रियों ने सात तारों की पहचान की है. जिसमें रहस्यमयी ऊर्जा का पता चला है. ये सातों तारे आकाश में हमारे सूर्य से 60 प्रतिशत अधिक निकट हैं. इनसे निकलने वाले तापमान से पता चलता है कि इसकी ऊर्जा कहीं जा रही है. रॉयल एस्ट्रोनॉमिकल सोसायटी की मासिक पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन में शोधकर्ता ने यह दावा किया है.

ये भी पढ़ें- रात में पेड़ से निकलता है लाइट...लोग कहते हैं भुतहा, है थोड़ी अजीबोगरीब कहानी

50 लाख तारों को बनाई है लिस्ट

डेली मेल की रिपोर्ट में बताया गया है कि करीब 50 लाख सितारों से आए डेटा को मिलाकर संभावित रहस्यमयी इलाकों की एक लिस्ट बनाई गई है. इस दौरान उन्होंने आंशिक रूप से एक विशाल एलियन संरचना देखी, जो अत्यधिक अवरक्त विकिरण उत्सर्जित कर सकती है.