News Nation Logo
29 अक्टूबर से पीएम मोदी का इटली दौरा जेल में डालने वाला आज जेल में जाने से डरने लगा: नवाब मलिक जो फर्जीवाड़ा किया गया है, वो खुल खुलकर सामने आने लगा है: नवाब मलिक पंजाब में AAP की सरकार बनी, तो प्रदेश में किसी किसान को नहीं करने देंगे खुदकुशी: अरविंद केजरीवाल शाहरुख खान की 'मन्नत' पूरी, आर्यन को बेल; अब मन्नत में मनेगी दीपावली आर्यन खान समेत तीनों आरोपियों के विदेश जाने पर रोक भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

राम भक्तों की 2 लाख ईंटों का होगा अयोध्या मंदिर में इस्तेमाल

प्लिंथ के निर्माण के लिए कर्नाटक-तमिलनाडु सीमा पर जंगली कोल्लेगल क्षेत्र में खदानों से काले ग्रेनाइट पत्थरों को भेजा जा रहा है. मिर्जापुर से मूर्तिकला पत्थर और राजस्थान के बंसी पहाड़पुर से गुलाबी संगमरमर भी लाया जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 23 Sep 2021, 01:15:55 PM
Ram Mandir

भक्तों की भावनाओं को भी समाहित करेगा भव्य राम मंदिर. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • ईंटों पर भगवान राम का नाम लिखा
  • करोड़ों भारतीयों की आस्था का प्रमाण
  • अब राफ्ट के निर्माण का काम हुआ शुरू

अयोध्या:

राम भक्तों द्वारा दी गई और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) द्वारा तीन दशक लंबे मंदिर आंदोलन के दौरान देश भर से जमा की गई 2 लाख से अधिक ईंटों का इस्तेमाल अब राम जन्मभूमि स्थल पर भव्य मंदिर का निर्माण के लिए किया जाएगा. मंदिर ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा  के मुताबिक 1989 के 'शिलान्यास' के दौरान कारसेवकों द्वारा राम जन्मभूमि पर एक लाख पत्थर रखे गए थे. कम से कम 2 लाख पुरानी कार्यशाला में रह गए हैं, जिन्हें अब निर्माण स्थल पर स्थानांतरित कर दिया जाएगा. ईंटों पर भगवान राम का नाम लिखा है और यह करोड़ों भारतीयों की आस्था का प्रमाण है.

नींव के बाद दूसरे चरण का निर्माण काम शुरू
इस बीच राम मंदिर की नींव के पूरा होने के बाद राम जन्मभूमि स्थल पर निर्माण का दूसरा चरण शुरू हो गया है. पहली बार प्लिंथ के निर्माण के लिए कर्नाटक-तमिलनाडु सीमा पर जंगली कोल्लेगल क्षेत्र में खदानों से काले ग्रेनाइट पत्थरों को भेजा जा रहा है. मिर्जापुर से मूर्तिकला पत्थर और राजस्थान के बंसी पहाड़पुर से गुलाबी संगमरमर भी लाया जा रहा है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक श्री रामजन्मभूमि मंदिर की नींव के निर्माण का काम सोमवार को पूरा हो चुका है. अब इस पर कृत्रिम चट्टाननुमा नींव पर राफ्ट के मजबूत फाउंडेशन का निर्माण जल्द ही शुरू होगा.

यह भी पढ़ेंः नरेंद्र गिरिः जमीन पर मिला शव, चल रहा था पंखा, सामने आया नया वीडियो 

50 दिन में बनेगी राफ्ट
चर्चा है कि मंदिर आंदोलन के शिलापूजन कार्यक्रम के दौरान देश-विदेश में पूजित लाखों की संख्या में राम शिलाओं को नींव का हिस्सा बनाने पर विचार विमर्श हो रहा है. कारण यही है कि इससे मंदिर निर्माण के आंदोलन से जुड़े लाखों राम भक्तों की भावनाओं को समाहित किया जा सकेगा. मंदिर ट्रस्ट के कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्त के मुताबिक लकड़ी के सांचे बनाकर राफ्ट की ढ़लाई होगी, जो नींव के प्लेटफॉर्म पर बनने वाले मुख्य मंदिर को बेहद मजबूती प्रदान करेगी. राफ्ट के फाउंडेशन की मोटाई डेढ़ मीटर की होगी जिसे पूरा करने में करीब 50 दिन लगने का अनुमान है.

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान एयरफोर्स का काल Su-30MKI, फिर गरजेगा कश्मीर में

10 नंबर तक राफ्ट का काम होगा पूरा
जानकार बताते हैं कि राफ्ट का काम 10 नवंबर तक पूरा हो जाएगा. उसी के बाद मिर्जापुर के पत्थरों से प्लिंथ का काम शुरू होगा. मंदिर की पत्थरों से बनी प्लिंथ करीब 16फीट ऊंची होगी. प्लिंथ के ऊपर मुख्य मंदिर का निर्माण राजस्थान के बंशी पहाड़पुर के तराश कर रखे पत्थरों से शुरू हो जाएगा. एक अनुमान है कि मंदिर का निर्माण जिस तरह से तेजी से हो रहा है उससे दिसंबर 2023 में मंदिर के ग्राउंड फ्लोर में रामलला गर्भगृह में विराजमान हो जाएंगे. श्रद्धालु उनके दर्शन करने लगेंगे. 

First Published : 23 Sep 2021, 12:54:03 PM

For all the Latest Religion News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.