News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की

लगने जा रहा है आखरी सूर्य ग्रहण, जानें क्यों नही देगा भारत में दिखाई

साल 2021 का आखिरी और दूसरा सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर 2021, शनिवार को होने वाला है. हिंदू पंचांग मुताबिक 4 दिसंबर को कृष्ण पक्ष की अमावस्या भी है.

News Nation Bureau | Edited By : Nandini Shukla | Updated on: 21 Nov 2021, 03:14:45 PM
ghgfg

लगने जा रहा है आखरी सूर्य ग्रहण (Photo Credit: identity magazine)

New Delhi:

चंद्र ग्रहण जहां 19 नवंबर को लग चुका है और इसके ठीक 15 दिन बाद इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है. जो 4 दिसंबर को लगेगा. सूर्य ग्रहण का वैज्ञानिक महत्व भी है. इससे शुभ-अशुभ घटना भी आंकी जाती है. इसलिए मान्यता के अनुसार कोई भी शुभ काम पूजा पाठ की मनाही होती है. मान्यताओं की मानें तो सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य ग्रसित हो जाते हैं. यही वजह है कि सूर्य ग्रहण के दौरान कोई शुभ कार्यों को करने से मना किया जाता है. गौरतलब है कि साल 2021 का आखिरी और दूसरा सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर 2021, शनिवार को होने वाला है. हिंदू पंचांग मुताबिक 4 दिसंबर को कृष्ण पक्ष की अमावस्या भी है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा क्योंकि ये उपछाया ग्रहण होगा. आइये जानते हैं ग्रहण का समय और क्यों मान्य नहीं होगा सूतक. 

यह भी पढे़ं- आर्थिक तंगी का कर रहे हैं सामना, तो पहनें ये 5 तरह के रतन

चार घंटे तक रहेगा सूर्य ग्रहण

सूर्य ग्रहण सुबह 10 बजकर 59 मिनट पर शुरू हो जाएगा, जो लगभग 4 घंटे बाद दोपहर 03 बजकर 07 मिनट पर पूरा होगा.

भारत में नहीं दिखाई देगा सूर्य ग्रहण

चार दिसंबर को लगने जा रहे सूर्य ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं होगा, क्योंकि ये उपछाया ग्रहण होगा. साल का आखिरी सूर्य ग्रहण अंटार्कटिका,  दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका में दिखाई पड़ेगा. इसे यह भारत में नहीं दिखाई देगा. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो पूर्ण ग्रहण पर ही सूतक काल मान्य होता है. आंशिक या उपछाया पर ये नियम नहीं लागू होंगे. 

यह भी पढे़ं- घर में इन जगहों पर रखें तुलसी का पौधा, बिगड़े काम होंगे पूरे 

मान्य नहीं सूतक

आपको बता दें कि सूर्य ग्रहण से 12 घंटे पहले सूतक काल शुरू हो जाता है. इस दौरान मंदिरों के कपाट बंद कर दिए जाते हैं. कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता. पर 4 दिसंबर को लगने वाले सूर्य ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं होगा. क्योंकि यह ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा. यह ग्रहण उपछाया होगा. पूर्ण होने पर ही सूतक काल को माना जाएगा. 

यह भी पढे़ं- Astrology : भूलकर भी न रखें पर्स में ये 5 चीज़ें, वरना होगा पछतावा

First Published : 21 Nov 2021, 03:14:45 PM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.