News Nation Logo

आज से सूर्य का मीन राशि में गोचर, जानें क्या पड़ेगा प्रभाव

सूर्य अब मीन (Pisces) राशि में गोचर करेंगे, जो कि एक जल तत्व राशि भी है. सूर्य की मीन राशि में उपस्थिति एक माह यानी 14 अप्रैल तक रहेगी.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 14 Mar 2021, 09:06:24 AM
Sun Pisces

एक महीने तक नहीं हो सकेंगे शुभ काम. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • सूर्य का राशि परिवर्तन रविवार शाम 5 बजकर 55 मिनट पर
  • सूर्य की मीन राशि में उपस्थिति एक माह यानी 14 अप्रैल तक
  • मीन संक्रांति के दिन तिल, कपड़े, और अनाज का दान करें

नई दिल्ली:

पंचांग के अनुसार सूर्य (Sun) 14 मार्च 2021 को फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को कुंभ राशि से निकलकर मीन राशि में प्रवेश करेंगे. गणना के अनुसार सूर्य का राशि परिवर्तन रविवार को शाम 05 बजकर 55 मिनट पर होगा. यानि सूर्य अब मीन (Pisces) राशि में गोचर करेंगे, जो कि एक जल तत्व राशि भी है. सूर्य की मीन राशि में उपस्थिति एक माह यानी 14 अप्रैल तक रहेगी. शास्त्रों ने गुरु की राशि मीन में सूर्य के भ्रमण को खरमास की संज्ञा दी है. इस माह में कोई भी शुभ कार्य जैसे देव प्रतिष्ठा, नूतन गृह निर्माण या नूतन गृह प्रवेश एवं विवाह जैसे मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं.

मीनमलमास 13 अप्रैल तक रहेगा
हालांकि, इससे पहले शुक्र का तारा अस्त होने से शुभ कार्य बंद है. एक महीने की अवधि को मीनमलमास कहा जाता है. इसकी अवधि 13 अप्रैल तक रहेगी, परंतु शुक्र का तारा इससे आगे तक अस्त रहेगा. अत: शुभ कार्य एक बार फिर से 20 अप्रेल के बाद शुरू होंगे. 15 मार्च को अबूझ सवा फुलेरा दोज का रहेगा. इसी माह 22 मार्च से होलाष्टक का भी प्रारंभ हो जाएगा. इस समय भी शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं. इस दिन कोई भी शुभ कार्य जैसे कि वाहन खरीदारी, वस्त्राभूषण का खरीदना, जमीन की रजिस्ट्री, किसी उद्योग का शुभारंभ आदि प्रकार के कार्य करना शुभ रहेंगे, लेकिन खरमास होने के कारण इस अबूझ मुहूर्त में भी विवाह जैसे मांगलिक कार्य करना शास्त्र सम्मत नहीं है.

यह भी पढ़ेंः कंधार विमान बंधकों की रिहाई के लिए खुद को सौंपने को तैयार थीं ममता : यशवंत सिन्हा

23 व 24 मार्च को पुष्य नक्षत्र में खरीदारी का योग
खरमास में 23 व 24 मार्च को पुष्य नक्षत्र योग बन रहा है. इस दौरान खरीद-फरोख्त की जा सकेगी, लेकिन मांगलिक काम तब भी नहीं हो सकेंगे. खरमास में पूजा-पाठ, कथा व सत्संग के कार्यक्रम किए जा सकेंगे. इसके बाद सूर्य के मेष राशि में प्रवेश कर जाने पर 22 अप्रैल से विवाह मुहूर्त आरंभ हो जाएंगे.

मीन संक्रांति का महत्व
सूर्य के मीन राशि में प्रवेश करने को मीन संक्रांति कहा जाता है. इस राशि में सूर्य देव 14 अप्रैल तक स्थित रहेंगे. मीन संक्रांति का प्रकृति की दृष्टि से भी खास महत्व है. इस दौरान उपासना, ध्यान और योग करना लाभकारी माना जाता है. मान्यता है कि इस दिन भगवान सूर्य की उपासना करने और अर्घ्य देने से नकारात्मकता दूर होती है. मीन संक्रांति के दिन तिल, कपड़े, और अनाज का दान करना चाहिए. इसके अलावा इस दिन गाय को चारा खिलाना भी शुभ माना जाता है.  

मीन संक्रांति का 12 राशियों पर असर
मेष
मेष राशि के लिए सूर्य का परिवर्तन 12वें घर में हो रहा है. विद्यार्थियों के लिए समय काफी अच्छा रहने के आसार हैं. हालांकि ऐच्छिक परिणाम हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत भी करनी होगी. वर्तमान नौकरी से असंतुष्ट जातकों को नए और बेहतर अवसर उपलब्ध हो सकते हैं, लेकिन प्यार के मामले में तकारार बढ़ने के भी आसार हैं. सलाह है कि अपने साथी की भावनाओं को आहत न करें न ही उनके साथ किसी भी प्रकार की बहसबाजी में पड़ें.

वृष
राशि से ग्यारहवें स्थान में सूर्य का परिवर्तन अच्छा रहने के आसार हैं. संपत्ति खरीदने का विचार भी बना सकते हैं. यदि किसी परियोजना में निवेश करना चाहते हैं तो उसके लिए भी समय काफी शुभ है. यदि लंबे समय से दोस्तों के साथ मस्ती नहीं की है, तो यह समय दोस्तों के साथ अच्छा समय व्यतीत करने के लिहाज से भी काफी बेहतर कहा जा सकता है.

मिथुन
मिथुन जातकों के लिए सूर्य का परिवर्तन 10वें भाव में हो रहा है. यह परिवर्तन व्यावसायिक दृष्टि से काफी अच्छा है. विशेषकर फाइन आर्ट के क्षेत्र से जुड़े जातकों के लिए तो बहुत ही भाग्यशाली कहा जा सकता है. आपकों इस समय अपनी कला में महारत के साथ प्रसिद्धि भी प्राप्त हो सकती है. अभिनय व संचार क्षेत्र में काम करने वाले मिथुन जातकों के लिए भी समय शुभ रहने के आसार हैं.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में कोरोना की लहर, 24 घंटे में आए 400 से ज्यादा नए केस

कर्क
सूर्य आपकी राशि से 9वें घर में प्रवेश कर रहा है जो कि पिता के लिए अच्छा रहेगा. यदि पिछले कुछ समय से आपके पिता अस्वस्थ हैं, तो उनका स्वास्थ्य सूर्य के प्रभाव से बेहतर होगा. इस समय रूझान धार्मिक कार्यों की ओर अग्रसर होने की संभावना है. चूंकि सूर्य क्रूर ग्रह माने जाते हैं अत: यह समय यह छोटे भाई-बहनों के लिए शुभ नहीं कहा जा सकता. हो सकता है उनके साथ आपका मनमुटाव हो या उन्हें किसी अन्य परेशानी का सामना करना पड़े.

सिंह
राशि स्वामी आपकी राशि से परिवर्तित होकर अष्टम भाव में आ जाएंगे. अत: इस समय आपको या आपके किसी करीबी को स्वास्थ्यगत परेशानियों से दो चार होना पड़ सकता है. आंख व हड्डियों संबंधी रोगों से विशेष रूप से सावधान रहने की जरूरत है. जरा सा भी लक्षण दिखाई दे चिकित्सक से परामर्श लेने में किसी तरह की लापरवाही न बरतें. इस समय आर्थिक रूप से भी आपके खर्चों में बढ़ोतरी हो सकती है इसलिए अपनी जेब का भी ध्यान रखें और सोच-समझकर आवश्यक वस्तुओं पर ही खर्च करें.

कन्या
सातवां स्थान दांपत्य जीवन को प्रभावित करता है, यह विवाह का स्थान माना जाता है. सूर्य परिवर्तित होकर राशि से सप्तम भाव में ही आ रहे हैं इसलिए इस समय अपने संबंधों को लेकर थोड़ी सतर्कता बरतें. जीवन साथी के साथ किसी तरह वाद-विवाद न करें और न ही किसी भी तरह उनकी भावनाओं को आहत होने दें. हालांकि सुदूर क्षेत्र में व्यवसाय करने वालों को इस समय लाभ प्राप्त हो सकते हैं. कुल मिलाकर सूर्य का यह परिवर्तन व्यक्तिगत जीवन में नकारात्मक तो व्यावसायिक जीवन में सकारात्मक परिणाम देने वाला रहेगा.

तुला
ज्योतिषाचार्य कहना है कि राशि से सूर्य का परिवर्तन छठे घर में हो रहा है, जिसका राशि पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने के आसार हैं. खर्चों पर नियंत्रण करने का प्रयास करें. स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें. बुखार, सिरदर्द, आंख सबंधी संक्रामक रोग का शिकार बन सकते हैं. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने के लिए अपने खान-पान संबंधी आदतों में सुधार कर सकते हैं. यदि न्यायालय में कोई मामला विचाराधीन है तो पलड़ा भारी हो सकता है.

वृश्चिक
राशि से पंचम स्थान पर सूर्य का आना बहुत ही भाग्यशाली कहा जा सकता है. कामकाजी जीवन भी काफी अच्छा रहने के आसार हैं. समय रहते लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं. सार्वजनिक क्षेत्र में कार्यरत जातकों के लिये बहुत ही शुभ समय है. संतान पक्ष की ओर से भी आपको शुभ समाचार मिल सकता है. वृश्चिक राशि के बालक इस समय में काफी ऊर्जावान और उत्साही रहेंगें. आत्मविश्वास भी सूर्य के प्रभाव से चरम पर रहने के आसार हैं.

धनु
लंबे समय से यदि अपने परिवार को समय नहीं दे पाए हैं, तो परिजनों के साथ एक बेहतर समय व्यतीत करने को मिल सकता है. चतुर्थ भाव में सूर्य का दाखिल होना इसी का संकेत हैं. सरकारी नौकरी करने वाले जातकों के लिए भी यह समय काफी अच्छा नज़र आ रहा है. अपना घर बनाने का सपना यदि संजो रखा है तो प्रयास सफल हो सकते हैं. वाहन आदि की खरीददारी करना चाहते हैं, तो उसके लिए भी समय शुभ है. कुल मिलाकर हर क्षेत्र में आप अपने आत्मबल से सफलता प्राप्त कर सकते हैं.

मकर
मकर जातकों के लिए राशि से तीसरे स्थान पर सूर्य आएंगे जो शुभ संकेत नहीं है. भाई-बहनों के स्वास्थ्य के प्रति चिंतित हो सकते हैं या फिर उनका गलत संगत में पड़ना और आपकी बातों को नजरंदाज करना भी अखर सकता है. पिता के स्वास्थ्य को लेकर भी परेशान हो सकते हैं. दूसरों की देखभाल करते-करते स्वयं कब बीमार होंगे हो सकता आपको इसका पता भी न चले इसलिए अपनी सेहत के प्रति भी सचेत रहें. छोटी-मोटी यात्रा के योग भी आपके लिए बनेंगें. कुल मिलाकर सूर्य का यह परिवर्तन आपके जीवन में परेशानियां लाने वाला रह सकता है ,लेकिन परेशान न हों यह दौर लंबे समय तक नहीं रहेगा.

कुंभ
अपनी राशि दूसरे घर में सूर्य का परिवर्तन हो रहा है. सूर्य चूंकि क्रूर ग्रह माने जाते हैं. दूसरे भाव में यह आपकी वाणी को प्रभावित कर सकते हैं. इस समय आप अनावश्यक वाद-विवाद में पड़ सकते हैं, जिसका असर आपके संबंधों पर भी नकारात्मक रूप से पड़ सकता है. आपकी बातें आपके साथी की भावनाओं को ठेस पंहुचा सकती हैं. कुल मिलाकर इस समय आपको अपनी वाणी को नियंत्रण करने की आवश्यकता है.

मीन
कुंभ से परिवर्तित होकर ही राशि में सूर्य का प्रवेश हो रहा है. सूर्य का आना स्वास्थ्य व संबंधों में तो परेशानी खड़ी करेगा ही साथ ही आपके व्यवसाय में भी इसके नकारात्मक प्रभाव पड़ने की संभावनाएं हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 14 Mar 2021, 09:04:25 AM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.