logo-image
लोकसभा चुनाव

Sun Transit in Taurus: आज बदली है सूर्य की चाल, अगले 30 दिनों तक जपें ये मंत्र, तेजी से होगी तरक्की 

Sun Transit in Taurus: तरक्की से सारे मार्ग अगर रुक गए हैं तो अगले 30 दिन आपके लिए किसी मौके से कम नहीं है. सूर्यदेव की बदलती चाल में अगर आप उनके सही मंत्रों का जाप करते हैं तो तरक्की मिलने में समय नहीं लगता.

Updated on: 14 May 2024, 09:25 AM

New Delhi :

Sun Transit in Taurus: सूर्य ने 14 मई 2024 को वृषभ राशि में प्रवेश कर लिया है. ज्योतिष शास्त्र में, सूर्य का राशि परिवर्तन महत्वपूर्ण माना जाता है और इसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ता है. यह कहा जाता है कि सूर्य के राशि परिवर्तन के दौरान कुछ विशेष मंत्रों का जाप करने से ग्रहों की शुभता प्राप्त होती है और जीवन में सकारात्मक बदलाव आते हैं. अगले 30 दिनों तक, जब तक सूर्य वृषभ राशि में रहेंगे, आप तब तक उनके मंत्रों का जाप कर अपने जीवन में तरक्की के मार्ग मजबूत कर सकते हैं. नौकरी नहीं मिल रही या फिर नौकरी में तरक्की नहीं हो रही, शादी से जुड़ी समस्या है या व्यापार ठप हो रहा है किसी भी तरह की उन्नति के रास्ते को खोलने के लिए आप अगले 30 दिनों तक नियमित इन मंत्रों का जाप कर सकते हैं. सूर्य देव की कृपा से आपके जीवन में हर तरह का सुख आने में देर नहीं लगेगी. 

सूर्य देव मंत्र

ॐ सूर्याय नमः 

"ॐ सूर्याय नमः" मंत्र का अर्थ है "मैं सूर्य (सूर्य देवता) को नमस्कार करता/करती हूँ." यह मंत्र सूर्य देवता को समर्पित है और इसका जाप करने से आध्यात्मिक और मानसिक स्थिति में सुधार होता है. इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति के अंतर्मन की शुद्धि होती है, उसका मन शांति प्राप्त करता है, और उसकी आत्मा का संबल बढ़ता है. सूर्य देवता के इस मंत्र का जाप करने से संयम, ध्यान, और आध्यात्मिक उत्थान में मदद मिलती है.

ॐ ह्रीं सूर्याय नमः

"ॐ ह्रीं सूर्याय नमः" मंत्र का अर्थ है "मैं सूर्य (सूर्य देवता) को 'ह्रीं' नाम से नमस्कार करता/करती हूँ." "ह्रीं" एक बीज मंत्र है जो शक्ति को प्रकट करने में मदद करता है. इस मंत्र का जाप करने से सूर्य देवता की कृपा प्राप्त होती है और व्यक्ति को ऊर्जा, सामर्थ्य, और स्वास्थ्य में सुधार होता है. "ह्रीं" बीज मंत्र को कामदेव की शक्ति का प्रतिनिधित्व करता है, जो सौंदर्य, प्रेम, और संबंधों में समृद्धि के लिए प्रयोग किया जाता है. इसलिए, "ॐ ह्रीं सूर्याय नमः" मंत्र का जाप करने से व्यक्ति के जीवन में सौंदर्य, प्रेम, और सौभाग्य की वृद्धि हो सकती है.

गायत्री मंत्र: ॐ भूर्भुवः स्वः सूर्यदेवाय नमः

"ॐ भूर्भुवः स्वः सूर्यदेवाय नमः" यह गायत्री मंत्र है, जो वैदिक संस्कृति में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है. इस मंत्र का अर्थ है "हे सूर्यदेव, आपको नमस्कार. हम धरती, आकाश, और स्वर्ग के ध्यान में हैं." गायत्री मंत्र का जाप करने से व्यक्ति के आत्मा को प्रकाशित करने में सहायता मिलती है. इस मंत्र का जाप करने से मानसिक और आध्यात्मिक शांति, ध्यान, और सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव होता है.

इन मंत्रों का जाप करने के लाभ

सूर्य देव स्वास्थ्य के देवता हैं. इन मंत्रों का जाप करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं दूर होती हैं. सूर्य ग्रह को सफलता और समृद्धि का कारक माना जाता है. इन मंत्रों का जाप करने से करियर में तरक्की होती है और धन-दौलत में वृद्धि होती है. ये आत्मविश्वास का ग्रह है. इन मंत्रों का जाप करने से आत्मविश्वास बढ़ता है और मनोबल मजबूत होता है. सूर्य देव नकारात्मक ऊर्जा को दूर करते हैं. इन मंत्रों का जाप करने से नकारात्मक विचार दूर होते हैं और मन में सकारात्मकता आती है.

इन मंत्रों का जाप कैसे करें

इन मंत्रों का जाप और सूर्य देव की उपासना करने से आपको सूर्य की शुभ ऊर्जा प्राप्त होगी और आपके जीवन में सकारात्मक बदलाव आएंगे. इन मंत्रों का जप सूर्योदय के समय स्नान करने के बाद सूर्य देव की मूर्ति के सामने 108 बार करना चाहिए. मंत्र जपते समय ध्यान केंद्रित करें और सूर्य देव से अपनी इच्छाओं को पूरा करने की प्रार्थना करें. स्वच्छ मन और विश्वास के साथ किए जाप का ही फल मिलता है. केवल मंत्र जप करने से ही फल प्राप्ति नहीं होती है. इसके साथ ही कर्म भी करना चाहिए. नकारात्मक विचारों और बुरी आदतों से दूर रहना चाहिए. दान-पुण्य करने से भी सूर्य देव प्रसन्न होते हैं. अगले 30 दिनों तक इन मंत्रों का जप करने से आपको सूर्य देव का आशीर्वाद प्राप्त होगा और आपके जीवन में सकारात्मक बदलाव आ सकते हैं. 

यह भी पढ़ें: Surya Gochar 2024: 14 मई से इन 5 राशियों को हर क्षेत्र में मिलेगी सफलता, सूर्य की कृपा से धन- संपदा में होगी वृद्धि

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)