News Nation Logo
Banner

Gayatri Jayanti 2022 Gayatri Mata Aarti: गायत्री माता की करेंगे ये आरती, मनोकामनाएं होंगी पूरी और धन की होगी प्राप्ति

गायत्री जयंती 11 जून यानी शनिवार को मनाई जाएगी. इस दिन मां गायत्री (gayatri jayanti 2022 maa gayatri) की कृपा से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. इसलिए, इस दिन भक्तों को गायत्री मंत्र के जाप (gayatri maa aarti) के साथ उनकी ये आरती जरूर करनी चाहिए.

News Nation Bureau | Edited By : Megha Jain | Updated on: 09 Jun 2022, 08:01:15 AM
Gayatri Jayanti 2022 Gayatri Maa Aarti

Gayatri Jayanti 2022 Gayatri Maa Aarti (Photo Credit: social media )

नई दिल्ली:  

हिंदू धर्म में ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी तिथि को गायत्री जयंती (gayatri jayanti 2022) मनाई जाती है. इस बार ये 11 जून यानी शनिवार को मनाई जाएगी. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार माता गायत्री (maa gayatri) का जन्म ज्येष्ठ माह में शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को हुआ था. इस दिन माता गायत्री की पूजा करने से भक्तों की सभी चाहतें पूरी होती है. मां गायत्री (gayatri jayanti 2022 maa gayatri) की कृपा से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. वे प्राण, आयु, शक्ति, धन, कीर्ति आदि देने वाली देवी है. इसलिए, इस दिन भक्तों को गायत्री मंत्र के जाप (gayatri maa aarti) के साथ उनकी ये आरती जरूर करनी चाहिए.   

यह भी पढ़े : Gayatri Jayanti 2022 Mantra Jaap, Meaning and Benefits: गायत्री जयंती के दिन इस मंत्र का करें जाप, संतान सुख होगा प्राप्त

गायत्री माता की आरती 

जयति जय गायत्री माता, जयति जय गायत्री माता ।

सत् मार्ग पर हमें चलाओ, जो है सुखदाता॥ जयति जय गायत्री…

आदि शक्ति तुम अलख निरंजन जगपालक क‌र्त्री।

दु:ख शोक, भय, क्लेश कलश दारिद्र दैन्य हत्री॥ जयति जय गायत्री…

ब्रह्म रूपिणी, प्रणात पालिन जगत धातृ अम्बे।

भव भयहारी, जन-हितकारी, सुखदा जगदम्बे॥ जयति जय गायत्री…

भय हारिणी, भवतारिणी, अनघेअज आनन्द राशि।

अविकारी, अखहरी, अविचलित, अमले, अविनाशी॥ जयति जय गायत्री…

कामधेनु सतचित आनन्द जय गंगा गीता।

सविता की शाश्वती, शक्ति तुम सावित्री सीता॥ जयति जय गायत्री…

ऋग, यजु साम, अथर्व प्रणयनी, प्रणव महामहिमे।

कुण्डलिनी सहस्त्र सुषुमन शोभा गुण गरिमे॥ जयति जय गायत्री…

स्वाहा, स्वधा, शची ब्रह्माणी राधा रुद्राणी।

जय सतरूपा, वाणी, विद्या, कमला कल्याणी॥ जयति जय गायत्री…

जननी हम हैं दीन-हीन, दु:ख-दरिद्र के घेरे।

यदपि कुटिल, कपटी कपूत तउ बालक हैं तेरे॥ जयति जय गायत्री…

स्नेहसनी करुणामय माता चरण शरण दीजै।

विलख रहे हम शिशु सुत तेरे दया दृष्टि कीजै॥ जयति जय गायत्री…

काम, क्रोध, मद, लोभ, दम्भ, दुर्भाव द्वेष हरिये।

शुद्ध बुद्धि निष्पाप हृदय मन को पवित्र करिये॥ जयति जय गायत्री…

जयति जय गायत्री माता, जयति जय गायत्री माता।

सत् मार्ग पर हमें चलाओ, जो है सुखदाता॥

First Published : 09 Jun 2022, 08:01:15 AM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.