logo-image
लोकसभा चुनाव

Chandra Grahan 2023 : अगर कुंडली में चंद्रमा की स्थिति को करना चाहते हैं मजबूत, तो चंद्र ग्रहण के दिन करें ये उपाय

दिनांक 05 मई को साल का पहला चंद्र लगने वाला है.

Updated on: 25 Apr 2023, 01:46 PM

नई दिल्ली :

Chandra Grahan 2023 : दिनांक 05 मई को साल का पहला चंद्र लगने वाला है. ऐसी मान्यता है कि चंद्र ग्रहण का सबसे बुरा असर उस व्यक्ति पर पड़ता है, जिनकी कुंडली में चंद्रमा की स्थिति कमजोर होती है. अब ऐसे में चंद्र ग्रहण के दिन एक कवच का पाठ करने के बारे में बताया गया है, जिसे करने से कुंडली में मौजूद चंद्रमा की स्थिति मजबूत हो जाएगी और आपको राहु के दुष्प्रभाव से भी छुटकारा मिलेगा. तो ऐसे में आइए आज हम आपको अपने इस लेख में चंद्र ग्रहण के बारे में बताएंगे, साथ ही कौन से कवच का पाठ करना शुभ माना जाता है. जिससे आपकी कुंडली में चंद्रमा की स्थिति मजबूत हो जाएगी. 

ये भी पढ़ें - Chandra Grahan 2023 : जानें कब लगने वाला है साल का पहला चंद्र ग्रहण, यहां है पूरी जानकारी

चंद्रमा कवच का पाठ करें
श्रीचंद्रकवचस्तोत्रमंत्रस्य गौतम ऋषिः । अनुष्टुप् छंदः। चंद्रो देवता। चन्द्रप्रीत्यर्थं जपे विनियोगः । 
समं चतुर्भुजं वन्दे केयूरमुकुटोज्ज्वलम् । वासुदेवस्य नयनं शंकरस्य च भूषणम् ॥ १ ॥
एवं ध्यात्वा जपेन्नित्यं शशिनः कवचं शुभम् । शशी पातु शिरोदेशं भालं पातु कलानिधिः ॥ २ ॥
चक्षुषी चन्द्रमाः पातु श्रुती पातु निशापतिः । प्राणं क्षपाकरः पातु मुखं कुमुदबांधवः ॥ ३ ॥
पातु कण्ठं च मे सोमः स्कंधौ जैवा तृकस्तथा । करौ सुधाकरः पातु वक्षः पातु निशाकरः ॥ ४ ॥
हृदयं पातु मे चंद्रो नाभिं शंकरभूषणः । मध्यं पातु सुरश्रेष्ठः कटिं पातु सुधाकरः ॥ ५ ॥
ऊरू तारापतिः पातु मृगांको जानुनी सदा अब्धिजः पातु मे जंघे पातु पादौ विधुः सदा ॥ ६ ॥
सर्वाण्यन्यानि चांगानि पातु चन्द्रोSखिलं वपुः । एतद्धि कवचं दिव्यं भुक्ति मुक्ति प्रदायकम् ॥
यः पठेच्छरुणुयाद्वापि सर्वत्र विजयी भवेत् ॥ ७ ॥ ॥ इति श्रीब्रह्मयामले चंद्रकवचं संपूर्णम् ॥

चंद्र कवच का करें पाठ, होगा ये लाभ 
1. चंद्र कवच का पाठ करने से कुंडली में मौजूद चंद्रमा की स्थिति मजबूत हो जाएगी और आपको उसका अनुकूल प्रभाव भी देखने को मिलेगा. 
2. चंद्र कवच का पाठ करने से चंद्रमा स्थिर होते हैं, जिसका मन चंचल होता है, उसका मन शांत हो जाता है. 
3. चंद्र कवच का पाठ करने से चंद्र दोष से मुक्ति मिलती है और राहु के दुष्प्रभाव से भी मुक्ति मिल जाती है. 
4. इस कवच का पाठ करने से चंद्र ग्रहण का बुरा असर व्यक्ति पर नहीं पड़ता है, साथ ही आपकजे घर लक्ष्मी का भी वास होता है. 
5. चंद्र कवच का पाठ करने से भय, क्रोध, घबराहट और परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है. 
6. खराब चंद्र होने के कारण व्यक्ति पर कई प्रकार की समस्याएं आती हैं, इसलिए चंद्र कवच का पाठ अवश्य करें. 
7. चंद्र कवच का पाठ करने से कार्यक्षेत्र में व्यक्ति को सफलता मिलती है.