News Nation Logo

Sita Mata Aarti: सीता माता की करेंगे ये आरती, धन की नहीं होगी हानि और मनोकामनाएं जल्दी होंगी पूरी

News Nation Bureau | Edited By : Megha Jain | Updated on: 30 Mar 2022, 09:50:44 AM
sita mata aarti

sita mata aarti (Photo Credit: social media)

नई दिल्ली:  

इस साल राम नवमी (ram navami 2022) 10 अप्रैल को मनाई जाएगी. अब, जिस दिन श्री राम को याद किया जाता है. तो, ऐसा तो हो नहीं सकता कि साता मां को याद न किया जाए. तो, बता दें कि सीता माता को जानकी के नाम से भी पुकारा जाता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हमारे देश में हर साल फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मां (aarti sita mata ki) जानकी जयंती बड़ी ही धूम-धाम से मनाई जाती है. इसमें उनकी विशेष पूजा-अर्चना की जाती है.

यह भी पढ़े : Shani Sade Sati Upay: शनिदेव हो जाएंगे प्रसन्न और महादशा का नहीं पड़ेगा कोई प्रभाव, करें बस ये छोटा-सा काम

मान्यताओं के अनुसार जिस घर में मां जानकी की विशेष पूजा अर्चना की जाती है उस घर में धन की कभी (sita mata ji ki aarti) भी हानि नहीं होती है. मान्यता ये भी है कि जो व्यक्ति मां जानकी की पूजा अर्चना भक्ति भाव से करता है. मां जानकी उसकी सभी मनोकामनाएं बहुत ही जल्दी पूरी करती हैं. लेकिन, मां की पूजा तब तक अधूरी है जब तक उनकी आरती न की जाए. तो, अगर आप भी मां जानकी से आशीर्वाद पाना चाहते है, तो उनकी ये विशेष आरती (sita maa aarti 2022) जरूर करें.  

यह भी पढ़े : Ganesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर अगर करते हैं चांद के दर्शन, इस वजह से लग जाता है कलंक

सीता माता की आरती (sita mata aarti)

आरती श्रीजनक-दुलारी की। सीताजी रघुबर-प्यारी की।। 
जगत-जननि जगकी विस्तारिणि, नित्य सत्य साकेत विहारिणि।
परम दयामयि दीनोद्धारिणि, मैया भक्तन-हितकारी की।।
आरती श्रीजनक-दुलारी की।

सतीशिरोमणि पति-हित-कारिणि, पति-सेवा-हित-वन-वन-चारिणि।
पति-हित पति-वियोग-स्वीकारिणि, त्याग-धर्म-मूरति-धारी की।।
आरती श्रीजनक-दुलारी की।।

विमल-कीर्ति सब लोकन छाई, नाम लेत पावन मति आई।
सुमिरत कटत कष्ट दुखदायी, शरणागत-जन-भय-हारी की।।
आरती श्रीजनक-दुलारी की। सीताजी रघुबर-प्यारी की।।

First Published : 30 Mar 2022, 09:49:55 AM

For all the Latest Religion News, Aarti News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.