News Nation Logo

विश्व की सबसे बड़ी स्वच्छता प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ ने लगातार तीसरे साल मारी बाजी

छत्तीसगढ़ ने इस बार भी विश्व की सबसे बड़ी स्वच्छता प्रतियोगिता में बाजी मारी है. इस बार राज्य के 61 शहरों को भी इनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए पुरस्कृत किया जाएगा.

MOHIT RAJ DUBEY | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 14 Nov 2021, 03:09:49 PM
chhattishgarh win award

chhattishgarh win award (Photo Credit: Twitter)

highlights

  • छत्तीसगढ़ को भारत के स्वच्छतम राज्यों की श्रेणी में पुरस्कृत करेंगे राष्ट्रपति
  • 2019 एवं 2020 में भी छत्तीसगढ़ स्वच्छता के मामले में अग्रणी राज्य रहा है
  • 61 शहरों को भी इनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए पुरस्कृत किया जाएगा

रायपुर:

आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर 20 नवंबर को दिल्ली के विज्ञान भवन में आजादी का अमृत महोत्सव के मद्देनजर स्वच्छ अमृत महोत्सव में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद छत्तीसगढ़ को भारत के स्वच्छतम राज्यों की श्रेणी में पुरस्कृत करेंगे. भारत सरकार द्वारा आयोजित विश्व की सबसे बड़ी स्वच्छता प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ ने इस बार भी बाजी मारी है. इससे पहले वर्ष 2019 एवं 2020 में भी छत्तीसगढ़ स्वच्छता के मामले में अग्रणी राज्य रहा है. भारत सरकार की ओर से केंद्री मंत्री हरदीप सिंह पुरी सूबे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया को पुरस्कार दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें : यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस नेतृत्व ने कसी कमर, जानें कैसे

भारत सरकार के आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय हर साल देश के समस्त शहरों और राज्यों के मध्य स्वच्छ सर्वेक्षण का आयोजन किया जाता है.
इसमें विभिन्न मापदंडों के अंतर्गत शहरी स्वच्छता का आंकलन किया जाता है. मुख्य रूप से घर-घर से कचरा एकत्रीकरण, कचरे का वैज्ञानिक रीति से निपटान, खुले में शौच मुक्त शहर, कचरा मुक्त शहर का थर्ड पार्टी के माध्यम से आँकलन करते हुए नागरिकों के फीडबैक को भी इसमें शामिल किया जाता है. इसी आधार पर राज्यों एवं शहरों की रैंकिंग जारी कर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले राज्यों तथा शहरों को पुरस्कृत किया जाता है.

छत्तीसगढ़ को न सिर्फ़ राज्य के रूप में,  बल्कि यहां के 61 शहरों को भी इनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए पुरस्कृत किया जाएगा. छत्तीसगढ़ ऐसा राज्य होगा जिसके सबसे ज्यादा निकाय पुरस्कृत किए जाएंगे. छत्तीसगढ़ देश का ऐसा एक मात्र प्रदेश है जहां पर नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी के सिद्धांतों के अनुरूप 9000 से अधिक स्वच्छता दीदियों द्वारा घर-घर से 1600 टन गीला एवं सूखा कचरा एकत्रीकरण करते हुए वैज्ञानिक रीति से कचरे का निपटान किया जाता है. इसके अतिरिक्त, भारत सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ को देश का प्रथम ओडीएफ़ प्लस प्लस राज्य निरूपित किया गया है.

इस उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए इस सफलता का श्रेय प्रदेश की जागरूक जनता तथा यहां के कर्मवीर सफाई कर्मचारियों तथा अधिकारियों के परिश्रम को दिया है.

First Published : 14 Nov 2021, 03:09:49 PM

For all the Latest Opinion News, Opinion News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.