News Nation Logo
Banner

महिलाओं की ढाल और अपनों को चौकन्ना करेगा स्मार्ट चाकू

चाकू में एक बहुत छोटा बटन लगा है जो रेडियो फ्रिक्वेंसी के जरिये मोइबाल फोन के संपर्क में रहता है और मुसीबत के समय इस बटन को दबाते ही मोबाइल में सेट किए गए नंबर पर कॉल लोकेशन के साथ चली जाती है.

IANS | Updated on: 14 Oct 2020, 07:23:57 AM
Smart knife

स्मार्ट चाकू (Photo Credit: IANS)

वाराणसी:

महिलाओं के साथ आए दिन छेड़खानी और दुष्कर्म जैसी घटनाओं को देखते हुए वाराणसी के अशोका इंस्टिीट्यूट ऑफ कंप्यूटर साइंस की 2 छात्राओं ने एक स्मार्ट चाकू बनाया है. यह चाकू न केवल मौके पर आपको सुरक्षा प्रदान करने वाला हथियार साबित होगा, बल्कि अपनों को कॉल करके चौकन्ना भी करेगा. शालिनी और दीक्षा ने मिलकर यह स्मार्ट चाकू बनाया है. शालिनी और दीक्षा ने बताया कि यह चाकू कोई आम चाकू नहीं है. इसमें एक सिम कार्ड लगाया जाता है, जिससे मुसीबत में फंसी महिला अपराधियों से अपनी आत्म रक्षा कर सकेंगी. जैसे ही महिला चाकू को निकालेंगी आपके द्वारा फीड किये हुए 3 नंबरों पर लोकेशन के साथ कॉल चली जायेगी.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली दंगों में अदालत ने ताहिर हुसैन पर आरोपों का संज्ञान लिया

यह डिवाइस रेडियो फ्रिक्वेंसी और ब्लूटूथ पे काम करता है. चाकू में एक बहुत छोटा बटन लगा है जो रेडियो फ्रिक्वेंसी के जरिये मोइबाल फोन के संपर्क में रहता है और मुसीबत के समय इस बटन को दबाते ही मोबाइल में सेट किए गए नंबर पर कॉल लोकेशन के साथ चली जाती है. जब तक परिवार के सदस्य और पुलिस मदद के लिए पहुंचेंगे तब तक उस दरम्यान महिला चाकू से अपनी आत्मरक्षा भी कर सकेंगी. स्टील से बने इस चाकू का वजन तकरीबन 70 ग्राम है. इसे बनाने में 1 महीने का समय लगा है और 1500 रुपए का खर्च आया है.

भी पढ़ेंः महबूबा मुफ्ती को किया गया रिहा, पिछले साल 4 अगस्त से थी नजरबंद

इसे छात्राओं ने अपने विभाग के श्याम चौरसिया के निर्देशन में बनाया है. छात्राएं बताती हैं कि इस समय महिलाओं के सुरक्षा से जुड़ी तमाम चीजें बन रही हैं लेकिन ये चाकू इस मायने में खास है कि यह एक सुरक्षा प्रदान करने वाला हथियार भी है. अभी इसे प्रोटोटाइप बनाया गया है. अशोका इंस्टीट्यूट वाराणसी रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेल के इंचार्ज श्याम चौरसिया ने बताया कि स्मार्ट चाकू के माध्यम से न सिर्फ मनचलों को डराया जा सकता है, बल्कि आसपास के लोगों का ध्यान आकर्षित करते हुए पुलिस को भी बुलाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र के राज्यपाल की टिप्पणी धर्मनिरपेक्षता के संवैधानिक सिद्धांत के खिलाफ: कांग्रेस

उन्होंने बताया कि इसमें बड़े आकार वाले ज्वेलरी के अंदर चाकू फिट किया गया है जो लोगों को ध्यान आकर्षित करेगा. बेटियों की सुरक्षा के नजरिए से इसको ब्लूटूथ से जोड़ा गया है जो लोकेशन के साथ मुसीबत में फंसी बेटियों की रक्षा कर सकेगा.

First Published : 14 Oct 2020, 07:23:57 AM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो