News Nation Logo
Banner

जान बचाने के लिए बनाई जा रही वैक्सीन, जान लेने के लिए बन रही ऐसी चीजें

कोरोना काल में सिर्फ देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में दो चीजों का व्यापार आसमान की ऊंचाइयों तक जा पहुंचा था, जिसमें मास्क और सैनिटाइजर के नाम शामिल हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 08 Jan 2021, 08:03:41 AM
corona

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

भारत सहित दुनिया के तमाम देशों में कोरोना वायरस का कहर जारी है. कोरोनावायरस के खिलाफ जारी जंग में भारत की तैयारी बाकी देशों के मुकाबले काफी शानदार चल रही है. इसी कड़ी में भारत ने कोविड-19 को खत्म करने की दिशा में दो देसी वैक्सीन तैयार कर ली है. पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट के कोविशील्ड और हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक के कोवैक्सीन को सरकार ने मंजूरी दे दी है.

ये भी पढ़ें- 5 साल की बच्ची ने 4.17 मिनट में 150 देशों के झंडे पहचाना, जानें कहां की है प्रेशा

देशभर में होने वाले वैक्सीनेशन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए सभी राज्यों में शुक्रवार को एक बार फिर ड्राई रन का आयोजन किया जा रहा है. कोरोना काल में सिर्फ देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में दो चीजों का व्यापार आसमान की ऊंचाइयों तक जा पहुंचा था, जिसमें मास्क और सैनिटाइजर के नाम शामिल हैं. हालांकि, देश में कोरोना के मौजूदा प्रभाव को देखते हुए सैनिटाइजर की डिमांड में गिरावट आ गई है.

इसी बीच केरल के कोच्चि से एक बेहद ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. केरल के कोच्चि में पुलिस ने एक आवासीय परिसर में चल रही नकली सैनिटाइजर निर्माण इकाई का भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने गुरुवार को इस मामले की जानकारी दी. हालांकि, यूनिट का मालिक हाशिम फरार है.

ये भी पढ़ें- डिलीवरी के 10 दिन बाद भी हो रहा था दर्द, अल्ट्रासाउंड में दिखी ऐसी चीज..पैरों तले खिसक गई जमीन

पुलिस ने कहा, "लॉकडाउन अवधि के बाद से नेदुंबसेरी में नकली सैनिटाइटर रैकेट का काम चल रहा था और नकली उत्पादों को ब्रांडेड उत्पादों की आड़ में बेचा जा रहा था. यहां लगभग 1,000 लीटर नकली सैनिटाइजर का निर्माण किया गया था." पुलिस सूत्रों ने कहा कि वे हाशिम और उसके गुर्गों की तलाश में हैं, जो इस मामले में शामिल हैं. नकली सैनिटाइजर न सिर्फ हमारे हाथों के लिए बल्कि हमारे स्वास्थ्य के लिए भी काफी खराब है. इतना ही नहीं, नकली सैनिटाइजर की वजह से हालात बिगड़ने पर किसी की जान भी जा सकती है.

बताते चलें कि मौजूदा समय में केरल कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है. केरल में रोजाना 5 से 6 हजार कोविड के नए मामले सामने आ रहे हैं. इसके अलावा यहां रोजाना करीब 30 लोग मारे भी जा रहे हैं. केरल में एक्टिव केसों की संख्या 65 हजार से भी ऊपर पहुंच चुकी है. केरल के मौजूदा हालातों को देखते हुए ही 'इंसानियत के दुश्मन' एक्टिव हो गए हैं.

First Published : 08 Jan 2021, 08:00:58 AM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.