News Nation Logo

BREAKING

Banner

कोरोना से बचने के लिए अपनाया ऐसा खतरनाक तरीका, जैसे-तैसे बची जान

ल्यूक आमतौर पर प्रतिदिन 1-2 लीटर पानी पीता था, लेकिन कोरोना से बचने के लिए उसने पानी की मात्रा को बढ़ाकर 4-5 लीटर प्रतिदिन कर दिया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 30 Dec 2020, 03:48:40 PM
corona

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

जल ही जीवन है, ये कहावत हम बचपन से सुनते आ रहे हैं. जीवन के लिए पानी सबसे आवश्यक तत्वों में से एक है, जिसके पानी जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है. इतना ही नहीं, कई छोटी-मोटी बीमारियां तो पानी की पर्याप्त मात्रा पीने से भी ठीक हो जाती हैं. हालांकि, बाकी चीजों की तरह पानी का भी अत्यधिक सेवन जान के लिए खतरा बन सकता है.

इसी सिलसिले में इंग्लैंड के ब्रिस्टल शहर से एक बेहद ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां जरूरत से ज्यादा पानी पीने की वजह से एक 34 साल के सिविल सर्वेंट की हालत इतनी खराब हो गई कि उसे आईसीयू में भर्ती करना पड़ गया. शख्स का नाम ल्यूक विलियमसन बताया जा रहा है, जो कोरोना वायरस से बचने के लिए जरूरत से ज्यादा पानी पीने लगा था.

ये भी पढ़ें- संदिग्ध हालात में हुई महिला की मौत, पति ने चूहों पर लगाए गंभीर आरोप

खबरों के मुताबिक ल्यूक आमतौर पर प्रतिदिन 1-2 लीटर पानी पिया करता था, लेकिन कोरोना को देखते हुए उसने पानी की मात्रा को बढ़ाकर 4-5 लीटर प्रतिदिन कर दिया. अत्यधिक पानी पीने की वजह से ल्यूक के शरीर में सॉल्ट लेवल खतरनाक तरीके से नीचे आ गया, नतीजन वह एक दिन बाथरूम में चक्कर खाकर नीचे गिर गया.

इस पूरे मामले में ल्यूक की पत्नी ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से उन्हें किसी पड़ोसी से भी मदद नहीं मिली और एम्बुलेंस भी कॉल करने के 45 मिनट बाद पहुंची. इस दौरान ल्यूक काफी देर तक बेहोश पड़ा रहा. ल्यूक की पत्नी ने बताया कि वह काफी डर गई थी क्योंकि उसके शरीर में किसी भी तरह की कोई हलचल नहीं हो रही थी.

ये भी पढ़ें- बिहार की महिला सरपंच के घर पड़ा छापा, बरामद हुई ऐसी चीजें.. शर्म से झुक जाएंगी आंखें

हालांकि, अस्पताल पहुंचने के बाद डॉक्टरों ने ल्यूक को काफी अच्छे से ट्रीट किया जिसकी वजह से वह अब ठीक है. डॉक्टरों ने बताया कि अत्यधिक पानी पीने की वजह से ल्यूक की बॉडी में मौजूद सॉल्ट लेवल काफी कम हो गया था. ल्यूक को 2-3 दिनों तक आईसीयू में वेंटिलेटर पर रहना पड़ा. फिलहाल, ल्यूक खतरे से बाहर है और अपने स्वास्थ्य पर ध्यान रख रहा है.

First Published : 30 Dec 2020, 03:48:40 PM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.