News Nation Logo

गंजेपन का मिल गया इलाज? वैज्ञानिकों का दावा, इस दवा से फिर से उग आएंगे बाल

लोगों की बदलती लाइफस्टाइल के कारण गंजेपन की समस्या अब आम हो चुकी है. कम उम्र ही अब लोगों में गंजेपन की समस्या सामने आने लगी है. गंजेपन की समस्या ग्लोबल स्तर पर लोगों को प्रभावित करती आई है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 29 Jan 2021, 01:38:02 PM
ganjapan

गंजेपन का मिल गया इलाज? वैज्ञानिक का दावा, इस दवा से फिर से उगेंगे बाल (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

लोगों की बदलती लाइफस्टाइल के कारण गंजेपन की समस्या अब आम हो चुकी है. कम उम्र ही अब लोगों में गंजेपन की समस्या सामने आने लगी है. गंजेपन की समस्या ग्लोबल स्तर पर लोगों को प्रभावित करती आई है. हाल ही में थाइलैंड के रिसर्चर्स का दावा है कि गंजेपन का एक प्रभावी इलाज अब मौजूद है. अपने शोध में इन रिसर्चर्स ने दावा किया है कि मैंग्रोव पेड़ के अर्क के सहारे गंजेपन की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है. इस अर्क को Avicequinon C कहा जाता है और ये उन हॉर्मोन्स को रोकता है जिसके चलते बाल झड़ते हैं. 

यह भी पढ़ेंः पोषक तत्वों से भरपूर किशमिश के सिर्फ फायदे ही नहीं, नुकसान भी हैं, जानिए यहां

थाईलैंड की Chulalongkorn यूनिवर्सिटी के कुछ रिसर्चर्स ने हाल ही में एक शोध किया. इस शोध में 50 पुरुषों और महिलाओं को शामिल किया गया. शोध में सामने आया कि सभी लोग एंड्रोजेनिक एलोपिसीया से ग्रस्त थे जो बालों के झड़ने की सबसे आम समस्या है. इस ट्रीटमेंट के बाद ना केवल इन लोगों के बालों के झड़ने में कमी देखने को मिली बल्कि इन लोगों के बाल काफी मजबूत भी हुए. रिसर्च के अनुसार, ये उन लोगों के लिए भी कारगर है जो अपने बाल गंवा चुके हैं.

यह भी पढ़ेंः Skin Care Tips: घर में मौजूद इन चीजों से पाएं गुलाबी और चमकदार त्वचा

शोध से जुड़े एक प्रोफेसर ने दावा किया कि हमने लोगों के सिर के हर हिस्से की तस्वीरें ली थीं. हेयर लॉस वाले क्षेत्र के लिए माइक्रोस्कोप की मदद भी ली थी. हमने इस प्रक्रिया को 4 महीनों के लिए दोहराया था. लोगों के गंजेपन वाले एरिया को चेक किया था और सिर्फ एक महीने बाद ही बालों की मजबूती में काफी पॉजिटिव बदलाव देखने को मिले थे. इसके अलावा किसी भी व्यक्ति को इससे कोई एलर्जी नहीं हुई थी.

6 महीन में बाजार में आ सकता है प्रोडक्ट
अब इस रिसर्च पर जोर ज्यादा से ज्यादा लोगों पर ये टेस्ट करना होगा ताकि थाइलैंड का फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन इसे अप्रूव कर सके. एक प्राइवेट कंपनी ने पहले ही इस रिसर्च के पेटेंट को खरीद लिया है और ये कंपनी इसके सहारे एक हेयर लॉस प्रॉडक्ट का निर्माण कर सकती है. माना जा रहा है कि अगले 6 महीनों में ये प्रॉडक्ट मार्केट में आ सकता है. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 29 Jan 2021, 01:38:02 PM

For all the Latest Lifestyle News, Fashion News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.