News Nation Logo
Banner

बिहार में नीतीश NDA का चेहरा रहें या नहीं, हम BJP के साथ रहेंगे : चिराग पासवान

मुख्यमंत्री के प्रवासी श्रमिकों के संकट से निपटने के तरीके से नाखुश होने के बावजूद एलजेपी (LJP) प्रमुख चिराग पासवान (Chirag paswan) ने शुक्रवार को कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी चाहे नीतीश कुमार (Nitish kumar) को राजग (NDA) का चेहरा बनाए .

Bhasha | Updated on: 06 Jun 2020, 11:32:02 AM
chirag paswan

चिराग पासवान (Photo Credit: फाइल फोटो)

दिल्ली:

मुख्यमंत्री के प्रवासी श्रमिकों के संकट से निपटने के तरीके से नाखुश होने के बावजूद एलजेपी (LJP) प्रमुख चिराग पासवान (Chirag paswan) ने शुक्रवार को कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी चाहे नीतीश कुमार (Nitish kumar) को राजग (NDA) का चेहरा बनाए या किसी और राह पर चले' वह भगवा दल के साथ ही रहेंगे. बीजेपीने बिहार में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की ओर से जद (यू) प्रमुख नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार करीब एक साल पहले ही घोषित किया था' लेकिन गठबंधन के कुछ नेताओं ने उनके नेतृत्व को लेकर आपत्ति दर्ज करायी है.

पासवान ने ‘पीटीआई-भाषा’ को दिए गए साक्षात्कार में नेतृत्व में बदलाव के लिए सीधे-सीधे कुछ नहीं कहा लेकिन यह जरुर कहा कि बीजेपी चाहे जिस ओर जाए' एलजेपी उसके साथ रहेगी. चिराग पासवान ने कहा' 'चेहरा कौन होगा' गठबंधन का नेता कौन होगा' यह सब गठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी तय करेगी. बीजेपी चाहे जो निर्णय ले' एलजेपी हमेशा उसके साथ है. यदि वह नीतीश कुमार जी के साथ चलना चाहते हैं' हम उनके साथ हैं' अगर उनका मन बदल जाता है.... चाहे जो भी फैसला बीजेपीले' हम भगवा दल का साथ देंगे.'

चिराग पासवान ने प्रवासियों के संकट से निपटने को लेकर नीतीश सरकार पर उठाए सवाल

एलजेपी प्रमुख की टिप्पणी इस वक्त इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि ऐसा माना जा रहा था कि तत्कालीन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit shah) द्वारा 2019 मे नीतीश को राजग का चेहरा बनाने की घोषणा किए जाने के साथ ही बिहार विधानसभा चुनाव में राजग (NDA) के नेतृत्व का मुद्दा हल हो गया था. राज्य में चुनाव अक्टूबर-नवंबर में होने वाले हैं. शाह ने लोकसभा चुनावों के लिए बिहार में राजग सहयोगियों को साथ लाने के प्रयास के दौरान यह घोषणा की थी. कोविड-19 (Covid19) को फैलने से रोकने के लिए लागू राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान प्रवासियों के संकट से निपटने के बिहार सरकार के तरीकों के बारे में सवाल करने पर जमुई से लोकसभा सदस्य पासवान ने कहा कि उसमें बेहतरी की गुंजाइश थी.

चिराग पासवान ने योगी आदित्यनाथ की तारीफ की

इस संबंध में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की प्रशंसा करते हुए पासवान ने कहा' 'यदि बिहार सरकार पहले ही प्रवासियों को वापस लाने का उपाय करती तो हम ज्योति कुमारी जैसी घटनाओं से बच सकते थे. घर लौट रहे कई प्रवासी मजदूरों की मौत से भी बचा जा सकता था.' किशोरी ज्योति कुमारी अपने पिता को साथ लेकर करीब 1'100 किलोमीटर साइकिल चलाकर हरियाणा के गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा पहुंची.

इसे भी पढ़ें: पर्यावरण दिवस 2020 : हर व्यक्ति को साल में एक बार पेड़ जरूर लगाना चाहिए- पीपल बाबा

नीतीश लॉकडाउन का पालन करने के ज्यादा इच्छुक थे

पासवान ने कहा' 'प्रवासी संकट गहराने पर उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया था कि वे देश के विभिन्न हिस्सों' खास तौर से कोटा में फंसे अपने लोगों को वापस लाने के लिए तत्काल कदम उठाएं.' मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया था' लेकिन वह लॉकडाउन का पालन करने के ज्यादा इच्छुक थे जबकि उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्य अपने लोगों को वापस लाने में जुट गए थे.

मैं नहीं कहूंगा कि मैं दुखी या नाराज हूं. लेकिन बेहतरी की गुंजाइश तो हमेशा रहती है

एलजेपी अध्यक्ष ने कहा' 'मैं नहीं कहूंगा कि मैं दुखी या नाराज हूं. लेकिन बेहतरी की गुंजाइश तो हमेशा रहती है. मुझे ऐसा लगता है कि हम बेहतर कर सकते थे. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जिस तरह शुरुआत से ही अपने लोगों को वापस लाने में जुट गए थे' यह उदाहरण है.' पासवान ने केन्द्र की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि उनके प्रयासों में रत्ती भर भी चूक नहीं है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन संबंधी दिशा-निर्देशों के समन्वयन की जिम्मेदारी केन्द्रीय गृह मंत्रालय की थी और इस दौरान गृह मंत्री शाह हमेशा उपलब्ध रहे' उन्होंने प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिए ट्रेनें और बसें चलाने का फैसला लिया.

 15 साल से मुख्यमंत्री पर विश्वास किया है, लेकिन पूरा नहीं हुआ

पासवान ने कहा कि इस फैसले से एक दिन पहले उन्होंने गृह मंत्री से इस संबंध में अनुरोध किया था. यह पूछने पर कि अन्य राज्यों से लौटे बिहार के लोगों में क्या गुस्सा है' तो पासवान ने कहा कि पिछले कुछ सप्ताह में उनके साथ जो हुआ है' उसके बाद ऐसा होना स्वभाविक है. यह रेखांकित करते हुए कि नीतीश कुमार को सुशासन और इससे पहले आयी आपदाओं से निपटने के लिए जाना जाता है' उन्होंने कहा' 'हमें (राजग) को विनम्रता से यह स्वीकार करना होगा. जब आपको किसी से बहुत अपेक्षाएं हो' ऐसे में अपेक्षाएं पूरी नहीं होने पर आपको गुस्सा आता है. उन्होंने 15 साल से मुख्यमंत्री पर विश्वास किया है.'

और पढ़ें: रविशंकर प्रसाद ने कहा- राहुल की बातें तो उनके मुख्यमंत्री नहीं मानते हैं...वो क्या बोलेंगे

 बिहार में भारी बहुमत से राजग सत्ता में लौटेगी

लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी ) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने साथ ही कहा कि बिहार में भारी बहुमत से राजग सत्ता में लौटेगी और राजद नीत विपक्षी गठबंधन चुनौती देने की स्थिति में नहीं है. यह रेखांकित करते हुए कि 2019 के लोकसभा चुनाव में गठबंधन ने राज्य की 40 में से 39 सीटों पर जीत हासिल की थी' चिराग पासवान ने दावा किया कि बिहार विधानसभा चुनाव में राजग को 242 में से 225 से ज्यादा सीटें मिलेंगी. राज्य में भाजपा' जद (यू) और एलजेपी राजग का हिस्सा हैं और चुनाव में उसे राजद गठबंधन' कांग्रेस और कुछ छोटे दलों से चुनौती मिलेगी. 

First Published : 05 Jun 2020, 09:50:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो