News Nation Logo
Banner

सोशल मीडिया में ट्विटर की दादागिरी, कारोबार भारत में कानून अमेरिका का?

केंद्रीय आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद (Union Minister Ravishankar Prasad) का ट्विटर से विवाद जारी है. इस बीच रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ट्विटर जानबूझकर आईटी के नियमों का पालन नहीं कर रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 25 Jun 2021, 07:02:35 PM
Ravishankar Prasad

रविशंकर प्रसाद (Photo Credit: फाइल)

highlights

नयी दिल्ली:

केंद्रीय आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद (Union Minister Ravishankar Prasad) का ट्विटर से विवाद जारी है. इस बीच रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ट्विटर जानबूझकर आईटी के नियमों का पालन नहीं कर रहा है. केंद्रीय मंत्री का कहना है कि ट्विटर ने अमेरिकी कानून का हवाला देते हुए उनके सोशल मीडिया अकाउंट को ब्लाक कर दिया था. ऐसे में सोशल साइट वेबसाइटों में ट्विटर की दादागिरी बढ़ रही है. कोई भी कंपनी व्यापार भारत में करे और उस पर कानून अमेरिका के लागू हों ये नहीं चल पाएगा. कानून और आईटी मंत्री ने कहा कि भारत अपनी डिजिटल संप्रभुता से समझौता नहीं करेगा. प्रसाद ने कहा कि 26 मई से प्रभाव में आए इंटरमेडियरी गाइडलाइन का ट्विटर ने पालन नहीं किया है. बाद में Twitter ने उनका अकाउंट अनलॉक कर दिया.

यह भी पढ़ेंःउत्तर प्रदेश की कैबिनेट बैठक में इन 12 प्रस्तावों पर लगी मुहर

इसके पहले माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने शुक्रवार को आईटी मंत्री रवि शंकर प्रसाद का ट्विटर अकाउंट एक घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया जिसके बाद मामला बढ़ गया. जानकारी के अनुसार ट्विटर ने यह कदम अमेरिकी कानून का हवाला देते हुए उठाया है. हालांकि ट्विटर ने चेतावनी देने के बाद रविशंकर का अकाउंट फिर से बहाल कर दिया है. वहीं, आईटी मंत्री ने कहा कि यह कार्रवाई स्वतंत्र विचारों का उल्लंघन है. उन्होंने कहा कि नियमों के पालन में कोई समझोता नहीं होगी. ट्विटर को सभी आईटी नियमों का पालन करना होगा. उन्होंने कहा कि माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट को केवल अपना एजेंडा चलाने में रूची है.

यह भी पढ़ेंःजब आप चुनावी रैली कर रहे थे तब मैं ऑक्सीजन का इंतजाम कर रहा थाः केजरीवाल

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मीडिया से बातचीत में बताया कि कोई भी सोशल मीडिया वेबसाइट्स चाहे जो भी कुछ कर लें उन्हें देश का आईटी मानना ही पड़ेगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस बात को लेकर कोई ढिलाई नहीं बरती जाएगी और न ही इस पर कोई समझौता किया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि, ट्विटर द्वारा केंद्रीय मंत्री के अकाउंट पर की गई ये कार्रवाई बताती है कि ये प्लेटफॉर्म लोगों के बोलने की आजादी के साथ नहीं है बल्कि वो अपना एजेंडा चलाने में दिलचस्पी रखता है. आई टी मिनिस्टर ने  बताया कि ट्विटर की ये कार्रवाई देश के नए आईटी नियमों के खिलाफ है. ट्विटर ने मेरा अकाउंट ब्लॉक करने से पहले मुझे कोई वॉर्निंग नहीं दी और ना ही कोई मैसेज भेजा.

First Published : 25 Jun 2021, 05:10:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो