News Nation Logo

नेजल वैक्सीन का ट्रायल शुरू, भारत बायोटक को काफी उम्मीद

भारत बायोटेक ने नेजल वैक्सीन का ट्रायल हैदराबाद में 10 वालंटियर के साथ शुरू कर दिया है. पहले चरण में 175 लोगों पर यह ट्रायल किया जाएगा. जिसके जरिए नाक में वैक्सीन डाली जाएगी.

Written By : राहुल डबास | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 11 Mar 2021, 10:17:35 AM
Nasal Vaccine

नेजल वैक्सीन का ट्रायल शुरू, भारत बायोटक को काफी उम्मीद (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • भारत बायोटेक ने हैदराबाद में शुरू किया नेजल वैक्सीन का ट्रायल
  • पहले चरण में 175 लोगों को दी जाएगी वैक्सीन की डोज
  • महाराष्ट्र में कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़ने लगे, जलगांव में जनता कर्फ्यू

नई दिल्ली:

भारत बायोटेक ने नेजल वैक्सीन का ट्रायल हैदराबाद में 10 वालंटियर के साथ शुरू कर दिया है. पहले चरण में 175 लोगों पर यह ट्रायल किया जाएगा. जिसके जरिए नाक में वैक्सीन डाली जाएगी. आईसीएमआर की मानें तो इसके दो बड़े लाभ हैं. पहला कोरोना का संक्रमण नाक और मुंह के जरिए फैलता है, ऐसे में सीधे नाक में वैक्सीन डालकर त्वरित और इफेक्टिव तरीके से वैक्सीन दी जा सकती है और दूसरा इंजेक्शन लगाने की वजह से कई बार दर्द, अकड़न समेत टीकाकरण के कुछ साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं, अब वह भी नहीं होंगे. भारत बायोटेक को इस वैक्सीन से काफी उम्मीदें हैं. 

सुपर स्पाइडर इवेंट की वजह से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले
आईसीएमआर की संक्रामक महामारी विभाग के प्रमुख डॉ सिमरन पांडा ने कहा कि दिल्ली, मुंबई, महाराष्ट्र, पंजाब कर्नाटक समेत बड़े शहरों और बड़े राज्यों में फिर से कोरोना के मामले तेज गति से बढ़ रहे हैं. इसके पीछे आईसीएमआर के कम्युनिकेबल डिजीज डायरेक्टर का मानना है कि लोगों ने कोविड-19 एप्रोप्रियेट बिहेवियर रखना छोड़ दिया है. इतनी तेज गति से बढ़ रहे आंकड़ों के पीछे सिर्फ सुपर स्पाइडर नहीं बल्कि सुपर स्प्लेंडर इवेंट है. यानी अब पिक्चर हॉल से लेकर बाजारों तक, रेलवे स्टेशन से लेकर राजनीतिक रैलियों तक लोगों की भीड़ बढ़ेगी तो संक्रमण तेज गति से फैलेगा, भले ही वह पुराना संक्रमण हो या फिर म्यूटेशन स्ट्रेन.

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में कोरोना के नए मामलों में बड़ा उछाल, मुंबई में अक्टूबर के बाद सबसे ज्यादा केस

कोरोना के मामले एक बार फिर देशभर में बढ़ने लगे हैं. महाराष्ट्र में बुधवार को कोरोना के नए मामलों में बड़ा उछाल सामने आया है. बुधवार को महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 13,659 केस सामने आए हैं वहीं मुंबई में 1,539 केस सामने आए हैं. मुंबई में पांच महीने बाद कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं. 8 मार्च को कोरोना के 1361 मामले सामने आए जो 28 अक्टूबर के बाद सबसे अधिक थे. बता दें पिछले पांच महीनों में ये मुंबई के अब तक के सबसे ज्यादा केस हैं. मुंबई में 8 मार्च को 1361 मामले दर्ज किए गए थे जो कि 28 अक्टूबर के बाद से सबसे अधिक थे. वहीं मंगलवार को मुंबई में 1,012 केस दर्ज किए गए थे जबकि सोमवार को नए मामलों की संख्या 1,014 थी.

यह भी पढ़ेंः महाशिवरात्रि पर आज हरिद्वार कुंभ का पहला शाही स्नान, हर की पौड़ी पर श्रद्धालुओं का हुजूम

जलगांव में आज से नाइट कर्फ्यू
मुंबई में कोरोना के इतने अधिक केस ऐसे समय सामने आए हैं जबकि प्रशासन पाबंदियों के फैसले को लेकर विचार विमर्श में लगा है. जलगांव में 11 से 15 मार्च तक जनता कर्फ्यू लगाया गया है. महाराष्ट्र में बढ़ते मामलों के चलते कई जिलों में पहले ही लॉकडाउन लगा दिया गया है. पुणे, ठाणे, अमरावती में जहां लॉकडाउन लगाया गया है तो वहीं औरंगाबाद, जलगांव समेत कई अन्य जिलों में नाइट कर्फ्यू, जनता कर्फ्यू जैसी तमाम पाबंदियां लगाई जा रही हैं. वहीं सीएम उद्धव ठाकरे ने बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों को सोचने का समय दिया है और कहा है कि अगर वह लॉकडाउन से बचना चाहते हैं तो जरूरी नियमों का पालन करें.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 11 Mar 2021, 10:17:35 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.