News Nation Logo

दिल्ली के जंतर मंतर पर 14 मार्च को आरक्षण के खिलाफ होगा आंदोलन

केंद्र सरकार की अन्यायकारी आरक्षण नीति एवं खुले वर्ग के साथ भेदभाव के सन्दर्भ में कार्य कर रहे देशभर के 35 संघठनों ने मिलकर "समानता व योग्यता महासंघ" अर्थात  फेडरेशन फॉर इक्वॅलिटी एंड मेरिट (फेम) की स्थापना की है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 13 Mar 2021, 09:32:10 PM
There will be protest against reservation in Delhi

दिल्ली के जंतर मंतर पर 14 मार्च से आरक्षण के खिलाफ होगा आंदोलन (Photo Credit: @FEMNational)

highlights

  • फेडरेशन फॉर इक्वालिटी एंड मेरिट की ओर से दिल्ली में होगा आंदोलन.
  • दिल्ली में आरक्षण के खिलाफ अबतक का सबसे बड़ा आंदोलन होगा.
  • फेडरेशन के पदाधिकारियों ने सामाजिक न्याय मंत्री गहलोत को ज्ञापन दिया.
         

नई दिल्ली:

फेडरेशन फॉर इक्वालिटी एंड मेरिट की ओर से दिल्ली में आरक्षण के खिलाफ अबतक का सबसे बड़ा आंदोलन होने जा रहा है. फेडरेशन के पदाधिकारियों ने सामाजिक न्याय मंत्री गहलोत को ज्ञापन दिया. केंद्र सरकार की अन्यायकारी आरक्षण नीति एवं खुले वर्ग के साथ भेदभाव के सन्दर्भ में कार्य कर रहे देशभर के 35 संघठनों ने मिलकर "समानता व योग्यता महासंघ" अर्थात  फेडरेशन फॉर इक्वॅलिटी एंड मेरिट (फेम) की स्थापना की है. FEM की ओर से आगामी 14 मार्च को दिल्ली के जंतर मंतर पर सामान्य श्रेणी के साथ भेदभाव और अन्याय करने वाली नीतियां समाप्त करने हेतु विशाल धरना आंदोलन का आयोजन किया गया है.

यह भी पढ़ें : पहले चाचा-भतीजा के बीच बंटती थीं नौकरियां, अब मेरिट ही आधार : योगी

महासंघ की सामान्य वर्ग के सन्दर्भ की प्रमुख मांगे शासन को पूरी करनी चाहिए एवं सर्वत्र समानता लाए जाने की महासंघ की मांग है. सामान्य/अनारक्षित वर्ग के लिए केंद्रीय बजट में सवा लाख करोड़ रुपये का प्रावधान करे, केंद्र एवं राज्य में खुला सामान्य वर्ग आयोग की स्थापना करे, संविधान के अनुच्छेद 29 और 30 के अल्पसंख्यकों के लिए किये गये प्रावधान सभी समाज के लिये लागू हों. स्कॉलरशिप में अनारक्षित वर्ग को समानता मिले. 

यह भी पढ़ें : कंधार विमान बंधकों की रिहाई के लिए खुद को सौंपने को तैयार थीं ममता : यशवंत सिन्हा

आयु, कट ऑफ अंकों और प्रयासों की संख्या सभी वर्गों को एक समान हो. एट्रोसिटी कानून समाप्त होने तक गिरफ़्तारी बिना जांच न की जाये . साथ ही जमानत की धारा जोड़ें, सामान्य वर्ग को इस कानून के दमन और उत्पीड़न से संरक्षण मिले, हॉस्टल सुविधा में समानता मिले, सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिया गया 2006 का  पदोन्नति में आरक्षण का निर्णय तुरंत अबिलम्ब लागू हो. साथ ही कई मांगे इस धरना आंदोलन द्वारा सरकार के समक्ष प्रस्तुत की गईं हैं. 

यह भी पढ़ें : सीएम ममता बनर्जी 15 मार्च से व्हीलचेयर पर चुनाव अभियान शुरू करेंगी

इस दौरान महासंघ के शिष्टमंडल ने इस सन्दर्भ में केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत से मुलाकात करके उन्हें महासंघ की मांगो का निवेदन सौंपा. साथ ही सांसद विवेक ठाकुर,  विनय सहस्रबुद्धे सांसद राज्यसभा महाराष्ट्र, नीरज शेखर सांसद राज्यसभा वलिया वीरेंद्र सिंह सांसद लोकसभा वलिया उत्तर प्रदेश, बीजेपी उत्तराखंड प्रभारी श्याम जाजू को FEM की मांगो के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

जातीय असमानता और जाति आधारित भेदभाव ख़त्म करने हेतु सभी न्यायप्रिय नागरिकों ने दिल्ली के जंतर मंतर पर 14 मार्च को सुबह 11 बजे से आयोजित इस धरना आंदोलन में बड़ी संख्या में सहभागी होने का आवाह्नन महासंघ के संस्थापक सदस्य संतोषकुमार राय दिल्ली, वेंकटरमण कृष्णमूर्ती बंगलोर, ॲड श्रीरंग चौधरी, नांदेड डॉ उत्पला मुलावकर, अकोला महाराष्ट्र, त्रिभुवन शर्मा बरेली,सुरेंद्र मालखेडी नरवाणा, राणा ठाकुर दिल्ली, कल्पना श्रीवास्तव, उत्तर प्रदेश ने किया है.

 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 13 Mar 2021, 09:22:38 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.