News Nation Logo
Banner

ब्रिटेन पर हवाई प्रतिबंध बढ़ाया गया, 7 जनवरी तक फ्लाइट नहीं

ब्रिटेन में मिले ज्यादा खतरनाक कोरोना स्ट्रेन से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है. ऐसे में ब्रिटेन जाने और आने वाली फ्लाइट्स पर 7 जनवरी 2021 तक प्रतिबंध बढ़ा दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 30 Dec 2020, 11:53:44 AM
Britain Flights Banned

ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन से जुड़े 20 मामले मिले भारत में भी. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

बुधवार सुबह आए कोरोना संक्रमण के नए आंकड़ों से पता चला है कि देश में ब्रिटेन में मिले ज्यादा खतरनाक कोरोना स्ट्रेन से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है. 13 नए मरीज किस प्रदेश से हैं यह अभी साफ नहीं हो सका है. इसे देखते हुए केंद्र सरकार ने ब्रिटेन जाने और आने वाली फ्लाइट्स पर 7 जनवरी 2021 तक प्रतिबंध बढ़ा दिया है. पहले ब्रिटेन पर उड़ानों का अस्थायी प्रतिबंध 31 दिसंबर की रात तक ही था. केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने यह जानकारी दी.

पहले 31 दिसंबर रात तक था प्रतिबंध
एक आधिकारिक बयान में हरदीप सिंह पुरी ने कहा, 'ब्रिटेन में मौजूदा स्थिति को देखते हुए भारत सरकार ने फैसला किया है कि ब्रिटेन से भारत आने वाली सभी उड़ानें अस्थायी रूप से 7 जनवरी 2021 रात 11:59 बजे तक निलंबित रहेंगी. ये निलंबन 22 दिसंबर को रात 11.59 बजे शुरू हुआ था.' इससे पहले पुरी ने कहा कि ब्रिटेन से भारत आने वाले सभी यात्रियों का आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जाएगा और उन्हें 7 दिनों के क्वॉरंटीन में अनिवार्य रूप से रहना होगा. उन्होंने आगे कहा कि अस्थायी निलंबन की तारीख की समीक्षा की जाएगी.

यह भी पढ़ेंः किसान आंदोलन में शामिल हुए पाक परस्त संदिग्ध, इंटेलिजेंस सतर्क

नया कोरोना स्ट्रेन स्वस्थ कोशिकाओं पर करता है हमला
यूनाइटेड किंगडम से लौटे 20 यात्रियों में अबतक कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पाया गया है. इससे पहले बीते दिन भी देश के अलग-अलग हिस्सों से 6 ऐसे ही मामले सामने आए थे. कोलकाता में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का मामला आया है. यूके से लौटे एक व्यक्ति में स्ट्रेन के लक्षण मिले हैं, जिसे अब क्वारनटीन कर दिया गया है. जीनोम स्किवेंसिंग के बाद स्ट्रेन का पता लगा, शख्स पिछले हफ्ते ही ब्रिटेन से वापस आया था. विशेषज्ञों के मुताबिक, कोरोना का नया स्ट्रेन काफी तेजी से दुनियाभर में फैल रहा है. कहा जा रहा है कि इस नए प्रकार ने वायरस को बढ़ाने वाले प्रोटीन में बदलाव कर लिया है, जिसके जरिए यह शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं पर आसानी से हमला कर देता है. इसके तेजी से फैलने का कारण यही है. 

यह भी पढ़ेंः  यूपी बोर्ड के प्री बोर्ड एग्जाम 15 जनवरी से होंगे, जानें कब है अंतिम तिथि

ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के दो नए वैरिएंट्स
सरकार ने एक बयान में बताया कि अब तक ब्रिटेन से लौटे 1423 लोगों को ट्रेस किया जा चुका है. 17 लोगों की तलाश की जा रही है. ब्रिटेन से लौटे 1406 लोगों का टेस्ट किया गया, इनमें 12 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इन सभी के संपर्क में आए 6364 लोगों में से भी 12 संक्रमित हुए हैं. सभी के सैंम्पल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए हैदराबाद भेजे गए हैं. ब्रिटेन में अब तक कोरोना वायरस के ज्यादा खतरनाक दो वैरिएंट मिल चुके हैं. पहला वैरिएंट मिला इसके बाद ही भारत सरकार ने 21 दिसंबर को ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स पर रोक लगा दी थी. उधर, दक्षिण अफ्रीका में भी कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन मिला है. यह ब्रिटेन वाले नए स्ट्रेन से अलग है.

First Published : 30 Dec 2020, 11:35:24 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.