News Nation Logo

मीटू के तहत आरोप लगाए जाने के बाद सुशांत सो नहीं पाता था : कुशल जावेरी

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) उस दौरान रात-रात भर जगे रहते थे, जब उन पर अक्टूबर 2018 में मीटू मूवमेंट के तहत यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था.

IANS | Updated on: 06 Aug 2020, 11:06:49 PM
sushant singh rajput

सुशांत सिंह राजपूत। (Photo Credit: फाइल फोटो)

मुंबई:

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) उस दौरान रात-रात भर जगे रहते थे, जब उन पर अक्टूबर 2018 में मीटू मूवमेंट के तहत यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था. गुरुवार को मशहूर धारावाहिक 'पवित्र रिश्ता' के निर्देशकों में से एक कुशल जावेरी ने इंस्टाग्राम पर उस दौरान दिवंगत अभिनेता की मानसिक स्थिति का खुलासा किया.

यह भी पढ़ें- असिस्टेंट ने बताया, कैसे रिया के आने के बाद डिप्रेशन में रहने लगे थे सुशांत

अपने पोस्ट में उन्होंने लिखा, "मैं जुलाई 2018 से फरवरी 2019 तक सुशांत के साथ रहा. 2018 के अक्टूबर में हैशटैगमीटू मूवमेंट के दौरान मैंने उन्हें सबसे अधिक बिखरा हुआ पाया. इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में उन्हें बिना किसी ठोस सबूत के निशाना बनाया जा रहा था. हमने संजना संघी से संपर्क करने की पूरी कोशिश की लेकिन शायद वह उस वक्त अमेरिका में थीं और किसी भी प्रकार की टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं थीं (अजीब संयोग की बात है). सुशांत को पता था कि उन्हें किसके द्वारा फंसाया जा रहा है, लेकिन सबूत न होने की वजह से वह कॉल नहीं कर सके. मुझे याद है कि सुशांत चार रात तक सो नहीं पाए थे. उन्हें इन आरोपों पर बात करने के लिए संजना का इंतजार रहता था. अंत में उसने 5वें दिन संजना से सारी बातें साफ कर दीं और यह एक बड़ी लड़ाई के बाद मिली जीत की तरह लग रहा था."

यह भी पढ़ें- सुशांत सिंह राजपूत केस : CBI ने रिया चक्रवर्ती के साथ कई लोगों पर दर्ज की FIR

कुशल ने आगे यह भी कहा कि उन्होंने इस बात को इसलिए उठाया, ताकि उन लोगों का पदार्फाश किया जा सके जो सुशांत के मामले में दोषी हैं. कहीं ये वही लोग तो नहीं है, जिनके बारे में सुशांत उस वक्त सोच रहे थे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 06 Aug 2020, 11:06:49 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.