News Nation Logo

रविशंकर पर कांग्रेस का पलटवार, कहा-बीजेपी रही है कैम्ब्रिज एनेलिटिका की क्लाइंट

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट के बाद कांग्रेस और बीजेपी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. राहुल गांधी के ट्वीट का जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि ऐसे लोग सवाल कर रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 17 Aug 2020, 12:22:44 AM
Randeep Surjewala

रणदीप सुरजेवाला। (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट के बाद कांग्रेस और बीजेपी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. राहुल गांधी के ट्वीट का जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि ऐसे लोग सवाल कर रहे हैं, जो चुनाव से पहले डेटा को हथियार बनाते हुए रंगे हाथ पकड़े गए थे. आपका कैम्ब्रिज एनालिटिका और फेसबुक से गठजोड़ पकड़ा गया था. कानून मंत्री के ट्वीट पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने निशाना साधा है.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा है कि 'ऐसा लगता है कि झूठे ट्वीट और झूठा एजेंडा ही एकमात्र रास्ता बन गया है. कांग्रेस ने तो कभी ‘कैम्ब्रिज एनेलिटिका’ की सर्विसेज हायर नहीं की पर भाजपा कैम्ब्रिज एनेलिटिका की क्लाइंट ज़रूर रही है. क़ानून और आई टी मंत्री ये बताते क्यों नही? हमारे सवालों का देश को जबाब दें.'

यह भी पढ़ें- BJP की मांग, राष्ट्रपति शासन लगाकर पश्चिम बंगाल में होना चाहिए विधानसभा चुनाव

उन्होंने आगे कहा कि क्या रविशंकर जी बताएँगे, क्या भाजपा ने कैम्ब्रिज एनेलिटिका-CA और उसकी इंडियन आर्म OBI व SCL की सेवाएँ ली? क्या मिश्न 272 + में कैम्ब्रिज ऐनालिटिका-CA और OBI का सहयोग भाजपा ने लिया? क्या भाजपा ने CA-OBI का इस्तेमाल झारखंड-हरियाणा-महाराष्ट्र-दिल्ली के चुनाव में किया?

क्या रविशंकर जी बताएँगे भाजपा के पूर्व IT हैड और भारत सरकार का सबसे बड़ा पोर्टल http://mygov.com चलाने वाले श्री अरविंद गुप्ता जी कैम्ब्रिज ऐनालिटिका की तारीफ में कसीदे क्यों गढ़ रहे थे? मोदी सरकार ने कैम्ब्रिज ऐनालिटिका-CA व OBI पर FIR दर्ज क्यों नही की?

यह भी पढ़ें- अमेरिकी अखबार की रिपोर्ट पर बोले राहुल, BJP-RSS के कंट्रोल में है Facebook-Whatsapp

अंतिम ट्वीट में सुरजेवाला ने तंज कसते हुए कहा कि 'कारण साफ़ है जब “बिल्ली दूध की रखवाली हो”, जब “सच्चाई को बंधक” बना लिया हों, जब “नफ़रत परोसना” रास्ता बन जाए, जब “झूठ-प्रपंच” सत्ता धर्म हो, तो...फिर सच, शालीनता, सहनशीलता, सहिष्णुता, सद्भाव पर षड्यंत्रकारी आक्रमण स्वाभाविक है.' आपको बता दें कि राहुल गांधी ने दी वॉलस्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट शेयर करते हुए कहा था कि फेसबुक-व्हाट्सएप बीजेपी-आरएसएस के दबाव में काम कर रहे हैं.

First Published : 16 Aug 2020, 11:21:53 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.