News Nation Logo

सिंघु बॉर्डर हत्याकांड: अमित मालवीय बोले, अगर लखीमपुर की मॉब लिंचिंग को राकेश टिकैत जायज न ठहराते तो ऐसा न होता  

सिंघु बॉर्डर पर आंदोलनकारी किसानों के मंच के पास ही बैरिकेडिंग पर शव मिलने के बाद से राजनीति गर्मा गई है. इस हत्या के लिए भाजपा ने किसान नेता राकेश टिकैत को जिम्मेदार ठहराया है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 15 Oct 2021, 02:59:23 PM
rakesh

सिंघु बॉर्डर हत्याकांड पर बोले अमित मालवीय (Photo Credit: न्यूज़ नेशन)

highlights

  • सिंघु बॉर्डर पर किसानों के मंच के पास ही बैरिकेडिंग पर शव मिलने के बाद से राजनीति हुई तेज
  • भाजपा के आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय ने राकेश टिकैत पर निशाना साधा

नई दिल्ली:

सिंघु बॉर्डर पर आंदोलनकारी किसानों के मंच के पास ही बैरिकेडिंग पर शव मिलने के बाद से राजनीति गर्मा गई है. इस हत्या के लिए भाजपा ने किसान नेता राकेश टिकैत को जिम्मेदार ठहराया है. इस शव को लेकर भाजपा के आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय ने कहा 'अगर राकेश टिकैत ने योगेंद्र यादव के बगल में बैठकर लखीमपुर में हुई मॉब लिंचिंग को जायज नहीं ठहराया होता तो, वह चुप रहते तो कुंडली में आज शख्स की हत्या नहीं होती. किसानों के नाम पर आंदोलन में हो रही अराजकता का पर्दाफाश होना चाहिए.' 

अमित मालवीय ने कहा, 'बलात्कार, हत्या, वेश्यावृत्ति, हिंसा और अराजकता... किसान आंदोलन के नाम पर यह सब हुआ है। अब हरियाणा के कुंडली बॉर्डर पर युवक की बर्बर  हत्या। आखिर हो क्या रहा है? किसान आंदोलन के नाम पर यह अराजकता करने वाले लोग  कौन हैं जो किसानों को बदनाम कर रहे हैं?' 

ये भी पढ़ें: 7 डिफेंस कंपनियों से समर्थ राष्ट्र के संकल्पों को मिलेगी मजबूतीः पीएम मोदी

शव लटका हुआ पाया गया था

वहीं पुलिस का कहना है कि फिलहाल हत्यारों के बारे में अभी तक कुछ नहीं पता चला है। जांच के लिए पहुंचे सोनीपत के डीएसपी हंसराज का कहना है कि ' करीब सुबह 5 बजे के करीब एक शव लटका हुआ पाया गया था. उसके हाथ और पैर कटे हुए थे. यह शव किसानों के धरने प्रदर्शन से कुछ दूरी मिला। यहां किसानों का आंदोलन चल रहा है। फिलहाल इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है कि इस हत्या का जिम्मेदार कौन है.

इस मामले को लेकर उन्होंने कहा कि अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इस घटना को लेकर एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। इसकी जांच जारी है। गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के दौरान भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की भी मौत हो गई थी। इसे लेकर राकेश टिकैत ने कहा था कि यह क्रिया की प्रतिक्रिया के कारण हुआ था.

First Published : 15 Oct 2021, 02:55:36 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.