News Nation Logo
Banner

मुंगेर कांड को लेकर शिवसेना का BJP पर निशाना, पूछा- चुप क्यों हैं खोखले हिंदुत्ववादी

मुंगेर कांड को लेकर सियासत शुरू हो गई है. शिवसेना ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर यह घटना पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में हुई होती तो अब तक राष्ट्रपति शासन की मांग जरूर की जाती.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 30 Oct 2020, 11:28:48 AM
Sanjay Raut

संजय राउत (Photo Credit: फाइल फोटो)

मुंबई:

बिहार के मुंगेर में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुए गोलीकांड को लेकर शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर निशाना साधा है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में कहा कि जो हमारा है वह अच्छा है, जो दूसरों का है वह खराब है, फिलहाल भारतीय जनता पार्टी की ओर से इसी प्रकार का व्यवहार शुरू से है.

यह भी पढ़ेंः नीतीश का बड़ा दांव, बोले-आबादी के हिसाब से हो रिजर्वेशन 

सामना के बहाने शिवसेना ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार, उत्तर प्रदेश और हरियाणा राज्यों में जो कुछ हो रहा है, उसे देखते हुए वहां कानून का राज बचा है क्या? ऐसा सवाल किया जा सकता है, लेकिन ये राज्य भाजपा शासित होने के कारण वहां पर सब कुछ ठीक-ठाक है. शिवसेना ने कहा कि बीजेपी को लहता है कि गड़बड़ सिर्फ महाराष्ट्र, पंजाब, पश्चिम बंगाल और राजस्थान में ही है. 

शिवसेना ने कहा कि मुंगेर जिले में दुर्गा विसर्जन के दौरान पुलिस ने गोलीबारी की. मूर्ति का जबरन विसर्जन करवा दिया गया. गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 15 लोग घायल हो गए. शिवसेना ने कहा कि पुलिसवालों का यह कृत्य जनरल डायर को भी लजाने वाला था, इस प्रकार का आक्रोश शुरू है. विसर्जन यात्रा में यह उत्पात मचा और पुलिसवालों ने सीधे गोलियां चला दीं.

यह भी पढ़ेंः Bihar Election Live: चिराग पासवान बोले- मुंगेर की घटना के लिए नीतीश जिम्मेदार

महाराष्ट्र में होता तो...  
शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि मामला अगर  पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में हुई होती तो अब तक राष्ट्रपति शासन की मांग जरूर की जाती. शिवसेना ने कहा कि पुलिस की गोलीबारी की घटना पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में हुई होती तो ‘घंटा बजाओ’ छाप खोखले हिंदुत्ववादियों ने अबतक नंगा नाच शुरू कर दिया होता. दुर्गा पूजा में गोलीबारी को एक प्रकार से हिंदुत्व पर हमला बताकर बवाल मचाया गया होता. पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र में कानून व्यवस्था समाप्त होने का आरोप लगाकर वहां तत्काल प्रभाव से राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की जाती. 

First Published : 30 Oct 2020, 11:15:19 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो